Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पैर धोकर सोएं, कम काटेंगे मच्छर

मच्छरों के काटने से होने वाली बीमारियों के कारण हर साल 10 लाख लोगों की मौत हो जाती है।

पैर धोकर सोएं, कम काटेंगे मच्छर
नई दिल्ली. मच्छरों के काटने से होने वाली बीमारियों के कारण हर साल 10 लाख लोगों की मौत हो जाती है। बारिश के मौसम में डेंगू और मलेरिया के मामले बढ़ जाते हैं। ऐसे में कुछ उपायों के जरिए मच्छरों के खतरे को काफी हद तक कम किया जा सकता है।
लंबे और मोटे लोगों को अधिक काटते हैं
मादा मच्छर के काटने से अधिकतर बीमारियां होती हैं। एक शोध के मुताबिक मच्छर शरीर की गर्मी और उसकी गतिविधियों से अधिक आकर्षित होते हैं। उनके पंख एंटीना का काम करते हैं। यह इंसान के शरीर से हवा में निकलने वाले रसायनों को आसानी से पहचान लेते हैं। इसके अलावा इंसान की सांस में निकलने वाली कार्बन-डाईऑक्साइड गैस भी उन्हें काटने के लिए आकर्षित करती है। अगर व्यक्ति अधिक लंबा और मोटा है तो उसे खून के संचार के लिए अधिक ऊर्जा की जरूरत होती है। इससे आराम करते वक्त अधिक कार्बन-डाईऑक्साइड निकलती है और मच्छर ऐसे लोगों के प्रति अधिक आकर्षित होते हैं।
गहरे रंग के कपड़ों से रहें दूर
काले या अधिक गहरे रंग के कपड़े पहनकर सोने पर भी मच्छर अधिक आकर्षित होते हैं। गहरे रंग के कपड़े गर्मी को ज्यादा सोखते हैं। इसके अलावा मच्छरों को दूर रखने के लिए कमरे में क्वाइल जलाने से असरदार शरीर या कपड़ों पर मच्छर से बचाव करने वाली दवा अधिक असरदार साबित होती है।
शाम को खुले अंगूठे वाली चप्पल न पहनें
जापान और फ्रांस के वैज्ञानिकों के एक शोध के मुताबिक शाम के समय मच्छर सबसे अधिक सक्रिय होते हैं। ऐसे में ठंडे पानी से पैर धोकर और बंद अंगूठे की चप्पल पहनकर मच्छरों को खुद से दूर रखा जा सकता है। साल 2011 में अफ्रीका के मच्छरों के ऊपर हुए एक शोध में पता लगा था कि जिन लोगों की त्वचा पर अधिक बैक्टीरिया होते हैं। मच्छर उन्हें अधिक काटते हैं।
बीयर पीने वाले लोगों को भी मच्छर अपना निशाना बनाते हैं
इतना ही नहीं बीयर पीने वाले लोगों को भी मच्छर अपना निशाना अधिक बनाते हैं। बीयर पीने के बाद शरीर का तापमान बढ़ जाता है और इंसान के शरीर से पसीना निकलने लगता है। गर्म शरीर और पसीना मच्छर को सामान्य व्यक्ति के मुकाबले अधिक आकर्षित करता है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top