Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जानें क्या होता है बूस्टर डोज, ओमीक्रॉन से बचने में ऐसे करेगी मदद

ओमीक्रॉन से बचने के लिए बूस्टर काफी हद तक मददगार हो सकता है। आइए जानते हैं कि बूस्टर डोज (Booster Dose for Omicron) क्या है और इसे कौन लगवा सकते हैं।

जानें क्या होता है बूस्टर डोज, ओमीक्रॉन से बचने में ऐसे करेगी मदद
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

दुनिया के लिए ओमीक्रॉन (Omicron) खतरा बनकर उभर रहा है। इससे बचने के लिए कई देशों के वैज्ञानिक रिसर्च कर रहे हैं, हालांकि अभी तक कोरोना के इस वेरिएंट के बारे में कोई स्पष्ट जानकारी नहीं मिल सकी है, लेकिन यह साफ हो चुका है कि यह डेल्टा वेरिएंट (Delta Variant) से काफी खतरनाक है और कई गुना तेजी से अपने पैर पसार रहा है। कहा जा रहा है कि ओमीक्रॉन से बचने के लिए बूस्टर डोज काफी हद तक मददगार हो सकता है। आइए जानते हैं कि बूस्टर डोज (Booster Dose for Omicron) क्या है और कौन लगवा सकता है।

क्या है बूस्टर डोज

विशेषज्ञ बताते हैं कि बूस्टर डोज से बॉडी की इम्यूनिटी पावर को बढ़ाया जा सकता है, यह वेरिएंट के संक्रमण से लड़ने में संक्षम है। कहा जा रहा है कि बूस्टर डोज उसी कोविड 19 वैक्सीन की हो सकती है, जिसका आपने वैक्सीनेशन कराया है। जैसे अगर आपने कोविशील्ड वैक्सीन लगवाई है तो आपको इसका ही बूस्टर लगेगा। वहीं जिसने कोवैक्सीन लगवाई है, उन्हें कोवैक्सीन बूस्टर लगेगा।

कौन ले सकता है बूस्टर डोज

खबरों की मानें तो बूस्टर डोज उन लोगों को दिया जाएगा जो वैक्सीन के दोनों टीके लगवा चुके हैं या जिनके शरीर में एंटीबॉडीज न बन रही हो। इसके साथ ही उन बुजुर्ग लोगों को दी जाएगी, जो कई अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रसित है।

10 जनवरी से लगेगी बूस्टर डोज

भारत में अगले साल 10 जनवरी से बूस्टर डोज लगाना शुरू कर दिया है। पहले चरण में हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को बूस्टर डोज दी जाएगी। इसकी घोषणा पीएम मोदी ने शनिवार की रात की है।


Next Story