logo
Breaking

नवरात्रि के व्रत में भी रहना है हेल्दी और फिट, तो ये डाइट प्लान करें फॉलो

नवरात्र के अवसर पर बहुत से लोग व्रत रखते हैं। इस दौरान कई तरह के फलाहार और सात्विक भोजन किया जाता है। लेकिन अगर खान-पान में लापरवाही बरती जाए तो आपको परेशानी महसूस हो सकती है या आपकी तबियत बिगड़ सकती है। इसलिए अपनी डाइट को लेकर आपको अलर्ट रहना होगा।

नवरात्रि के व्रत में भी रहना है हेल्दी और फिट, तो ये डाइट प्लान करें फॉलो

नवरात्र के अवसर पर बहुत से लोग व्रत रखते हैं। इस दौरान कई तरह के फलाहार और सात्विक भोजन किया जाता है। लेकिन अगर खान-पान में लापरवाही बरती जाए तो आपको परेशानी महसूस हो सकती है या आपकी तबियत बिगड़ सकती है। इसलिए अपनी डाइट को लेकर आपको अलर्ट रहना होगा।

नवरात्र में बहुत से लोग पूरी श्रद्धा के साथ व्रत रखते हैं, लेकिन इस दौरान जो कुछ भी हम खाते हैं उसका भी बहुत महत्व होता है। व्रत के दौरान अगर सही तरीके से आहार न लिया जाए तो इससे कई तरह की परेशानियां जैसे थकान, शारीरिक कमजोरी, पेट दर्द, एसिडिटी जैसी समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। इनसे बचने के लिए आप कुछ बातों का ध्यान रखें।

इनसे करें तौबा

नवरात्र के व्रत में लोग सबसे ज्यादा आलू खाना पसंद करते हैं। इसके अतिरिक्त व्रत खाए जा सकने वाले चिप्स, नमकीन या मार्केट में खासतौर से व्रत के लिए मिलने वाली सामग्री को खाते हैं। इन सभी में सामान्य कार्बोहाइडेट पाया जाता है।

जब आप इनका सेवन करते हैं तो सिंपल कार्बोहाइडेट कुछ ही देर में पच जाता है, जिससे ना सिर्फ आपको बार-बार भूख लगती है, बल्कि कैलोरी काउंट आवश्यकता से अधिक लेने के कारण वजन भी बढ़ जाता है।

सिंपल कार्बोहाइडेट के अलावा फ्राइड फूड और अधिक तले हुए आहार लेने से बचें। यह भी सेहत के लिहाज से उचित नहीं होता। कुछ लोग इस दौरान काफी मीठे का सेवन करते हैं, जो हेल्थ पर बुरा असर डालता है। अगर आप मीठा खा भी रहे हैं तो चीनी को गुड़ या शहद से रिप्लेस कर लें।

पाचन को दें राहत

नवरात्र के व्रत का सिर्फ आध्यात्मिक महत्व ही नहीं है, बल्कि यह शारीरिक रूप से भी लाभदायक है। व्रत का वास्तविक अर्थ होता है कि आप अपनी दिनचर्या से अपनी बॉडी को रिलैक्स दें ताकि वह डिटॉक्स हो सके।

अगर आप व्रत के दौरान हैवी या फ्राइड फूड्स खाते हैं तो इसका विपरीत असर बॉडी पर पड़ता है। इसलिए जितना हो सके, हल्का खाने का प्रयास करें और थोड़ी-थोड़ी देर में न खाएं। कुछ देर पाचन तंत्र को आराम भी करने दें।

पानी की अधिकता

व्रत के दौरान खुद को हाइड्रेट रखना बेहद आवश्यक है। इसलिए जितना ज्यादा हो सके, आप पानी का सेवन करें। इससे आपकी बॉडी के सभी विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। वैसे आप पानी के अतिरिक्त अन्य पेय पदार्थ जैसे नारियल पानी, छाछ, लस्सी आदि का भी सेवन कर सकते हैं।

वहीं कुछ लोग इस दौरान चाय और कॉफी अधिक मात्रा में पीते हैं, लेकिन आप खाली पेट इसका सेवन हरगिज न करें। पूरे दिन में इन्हें एक या दो कप से ज्यादा न पिएं।

ऐसा हो आहार

व्रत के दौरान आप ऐसी डाइट लें, जो पोषक तत्वों से युक्त हो जैसे नारियल पानी, डेयरी प्रोडक्ट्स (जैसे दूध, दही, पनीर), नट्स और फल। बेहतर होगा कि आप फलों को जूस के रूप में ना लें, बल्कि इन्हें यूं ही खाएं।

इससे फल में मौजूद फाइबर बाहर नहीं निकलेगा और इससे लंबे समय तक पेट भरे होने का अहसास होगा। इस तरह फलों को खाने से बार-बार फूड क्रेविंग नहीं होती है।

डाइट चार्ट

सुबह-एक गिलास दूध, 50 ग्राम रोस्टेड नट्स जैसे बादाम, मखाने, चिलगोजा और अखरोट।

ग्यारह बजे- एक गिलास लस्सी या नारियल पानी।

दोपहर दो बजे- एक बड़ा कटोरा खीरा, रायता या फ्रूट रायता।

शाम पांच बजे- फ्रूट चाट या मिक्स चाट।

रात्रि आठ बजे- पनीर की चाट या पनीर की सब्जी।

Share it
Top