logo
Breaking

इस वजह से 1 जुलाई को मनाया जाता है Doctor''s Day, जानें कैसे हुई शुरूआत

नेशनल डॉक्टर्स डे (राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस) को 1 जुलाई, 2018 को मनाया जाएगा। डॉक्टर्स डे हर साल 1 जुलाई को सेलिब्रेट किया जाता है। डॉक्टर्स की उपलब्धियों और चिकित्सा के क्षेत्र में नए आयाम हासिल करने वाले डॉक्टर्स के सम्मान के लिए हर साल भारत में डॉक्टर्स डे सेलिब्रेट किया जाता है।

इस वजह से 1 जुलाई को मनाया जाता है Doctor

National Doctors Day 2018

नेशनल डॉक्टर्स डे (राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस) को 1 जुलाई, 2018 को मनाया जाएगा। डॉक्टर्स डे हर साल 1 जुलाई को सेलिब्रेट किया जाता है। डॉक्टर्स की उपलब्धियों और चिकित्सा के क्षेत्र में नए आयाम हासिल करने वाले डॉक्टर्स के सम्मान के लिए हर साल भारत में डॉक्टर्स डे सेलिब्रेट किया जाता है।

इतना ही नहीं मेडिकल स्टूडेंट्स को प्रेरित करने के लिए स्कूल और कॉलेजों में मेडिकल से जुड़े प्रोग्राम भी ऑर्गेनाइज कराए जाते हैं।

भारत में डॉक्टर्स डे 1 जुलाई को मनाया जाता है, लेकिन बाकी देशों में यह दिन अलग-अलग तारीख पर सेलिब्रेट किया जाता है।

यह भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के हर महीने के हिसाब से जानें कैसे होता है शिशु का विकास

डॉक्टर्स डे की शुरुआत कैसे हुई

डॉक्टर्स डे की शुरुआत दुनिया में सबसे पहले अमेरिका के जॉर्जिया से हुई थी। 30 मार्च 1933 में फिजिशियन यानि डॉक्टरों के सम्मान के लिए ये दिन निश्चय करने का आइडिया यूडोरा ब्राउन एलमंड ने दिया था। बता दें कि यूडोरा ब्राउन एलमंड, डॉ. चार्ल्स बी एलमंड की पत्नी थीं।

इसके बाद 30 मार्च 1958 में यूएस के हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव्स ने यूडोरा ब्राउन एलमंड के आइडिया को अपना लिया। उसके बाद भारत में डॉक्टर्स डे के लिए 1 जुलाई का दिन निश्चित किया गया।

यह भी पढ़ें: डिलीवरी के बाद ज्यादा ब्लीडिंग के कारण अब नहीं होगी महिला की मौत, ये दवा बचाएगी जान

1 जुलाई को क्यों मनाया जाता है डॉक्टर्स डे

भारत में 1 जुलाई को डॉक्टर्स डे इसलिए मनाया जाता है क्योंकि इस दिन भारत के प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ. बिधान चंद्र रॉय का जन्म हुआ था। डॉ. बिधान चंद्र रॉय देश के सर्वोच्च भारत रत्न से सम्मानित किया था। वह पश्चिम बंगाल के दूसरे मुख्यमंत्री के रूप में भी जाने जाते हैं।

Share it
Top