logo
Breaking

बिना दवाइयों के इन तरीकों से दूर करें पुराने से पुराना जोड़ों का दर्द

बदलती लाइफस्टाइल और दिनभर की थकान के कारण अक्सर लोगों को सिर और जोड़ों की समस्या का सामना करना पड़ता है। जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द होने के कई कारण हो सकते हैं।

बिना दवाइयों के इन तरीकों से दूर करें पुराने से पुराना जोड़ों का दर्द

बदलती लाइफस्टाइल और दिनभर की थकान के कारण अक्सर लोगों को सिर और जोड़ों की समस्या का सामना करना पड़ता है। जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द होने के कई कारण हो सकते हैं।

जोड़ों पर यूरिक एसिड जमा होने से, कमजोरी या फिर आनुवंशिक कारणों की वजह से भी जोड़ों में दर्द की समस्या पैदा होती है। इसके अलावा मोटापा और बढ़ती उम्र भी जोड़ों के दर्द का कारण बनते हैं। जोड़ों के दर्द को दूर करने के लिए आप इन तरीकों को अपना सकते हैं-

व्यायाम

जोड़ों के दर्द से छुटकारा पाने के लिए व्यायाम बहुत जरूरी है। व्यायाम करने से शारीरिक रूप से सक्रियता मिलती है। साथ ही हड्डियों और जोड़ों की मजबूती के लिए एक्सरसाइज बहुत फायदेमंद होती है। एक्सरसाइज करने से ओस्टियोपोरोसिस और आर्थराइटिस जैसी खतरनाक बीमारियों को रोकने में मदद मिलती है।

हेल्दी डाइट

व्यायाम के साथ हेल्दी और पोषक तत्वों से भरपूर चीजों का सेवन करना बहुत जरूरी है। सही तरह का खाना खाने से जोड़ों के दर्द को कम किया जा सकता है। इसके अलावा अचानक होने वाले ज्वाइंट पेन से बचने के लिए कोंड्रोटिन और ग्लूकोसेमिन जैसे सप्लीमेंट्स का भी सेवन करना सही रहता है। यह सप्लीमेंट्स जोड़ों के बीच नमी बनाए रखने के लिए मददगार होते हैं।

न हो दबाव

जोड़ों पर अधिक समय तक दबाव पड़ने या ज्यादा विकृत अवस्था में रखने से भी जोड़ों में दर्द होता है। ऐसा करने से बचने की कोशिश करनी चाहिए।

वजन

मोटापे के कारण भी जोड़ों में दर्द की समस्या होती है। ऐसे में बहुत जरूरी है कि जोड़ों के दर्द से बचने के लिए वजन कंट्रोल किया जाए।

तनाव

कुछ रिसर्च में इस बात का खुलासा हुआ है कि ज्यादा तनाव लेने के कारण भी जोड़ों में दर्द की समस्या होती है। ऐसे में कोशिश करें कि ज्यादा टेंशन न लें। तनाव से बचने के लिए मेडिटेशन, थेरेपी, योगा आदि तरीका अपना सकते हैं।

Share it
Top