Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Coronavirus: जयपुर के डॉक्टरों ने ढूंढ लिया कोरोना वायरस का इलाज

Coronavirus: जहां एक तरफ कोरोना वायरस थमने का नाम नहीं ले रहा है। लगातार लोग इसकी चपेट में आ रहे हैं। वहीं एक खुशी की खबर आई है कि जयपुर के सवाई मान सिंह (एसएमएस) अस्पताल के डॉक्टर की टीम ने कोरोना वायरस का इलाज ढूंढ लिया है। जिससे कई मरीज ठीक किए जा चुके हैं।

Coronavirus: कोरोना की अब होगी हार, जयपुर के इस डॉक्टर ने ढूंढ लिया वायरस का इलाज
X
कोरोना वायरस से मौत की अफवाह उड़ाई (प्रतीकात्मक)

Coronavirus: चीन से शुरू हुआ ये वायरस पूरी दुनिया में अपना कोहराम मचा रहा है। वहीं भारत में अबतक 178 लोग इस खतरनाक वायरस की चपेट में आ चुके हैं। जिसमें से 4 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं अगर पूरी दुनिया की बात करें तो करीब डेढ़ लाख से भी ज्यादा लोग इसका शिकार हो चुके हैं। इस वायरस की सबसे खतरनाक बात यह थी कि अभी तक इसका कोई भी इलाज सामने नहीं आया था। जिस वजह से इसको लेकर लोगों में काफी दहशत भी देखने को मिल रही थी। वहीं लोग अपने स्तर तक इससे बचने की हर कोशिश कर रहे हैं। इसी बीच एक खुशी की खबर सामने आई है कि जयपुर के डॉक्टर की टीम ने इसका इलाज ढूंढ लिया है।

जी हांं जयपुर के सवाई मान सिंह (एसएमएस) अस्पताल के डॉक्टर की टीम ने कोरोना वायरस का इलाज ढूंढ लिया है। जिससे कोरोना वायरस से पीड़ित तीन लोगों को ठीक किया जा चुका है। वहीं आपको बताना चाहेंगे कि डॉक्टर ने स्वाइन फ्लू, एचआईवी और मलेरिया की दवाओं से मरीजों को ठीक किया है।

सवाई मान सिंह के डॉक्टर प्रकाश केसवानी ने बताया कि मरीजों को 200mg और 50 mg रिटोनाविर की डोज को दिन में दो बार दी। यह एंटीवायरल ड्रग्स है जो HIV के ट्रीटमेंट में इस्तेमाल की जाती है। इसके साथ ही ओस्लेटामिविर (Osletamivir) दवाई दी गई जो स्वाइन फ्लू के ट्रीटमेंट में इस्तेमाल की जाती है। वहीं क्लोरीकीन (Chlotoquine) मलेरिया की दवा देकर कोराना वायरस के मरीजों को ठीक किया गया।

भले ही डॉक्टर ने कोरोना वायरस का इलाज ढूंढ लिया है, फिर भी इससे बचने के लिए खुद का ख्याल रखना बहुत जरूरी है। इसके साथ ही हम आपको कुछ जरूरी बातें बताने जा रहे हैं जिसका ध्यान रखना बहुत जरूरी है।

कोरोना वायरस से ऐसे करें बचाव

बाहर जाने से पहले मास्क जरूर पहनें।

आंख, नाक और मुंह को बार बार न छुएं।

हाथ मिलाने से बचें। समय समय पर हाथ धोते रहें।

हाथ कम से कम 20 से 30 सेकेण्ड तक धोएं।

पब्लिक ट्रांसपोर्ट के इस्तेमाल से बचें।

कपड़ों को नियमित रूप से डेटॉल से धोएं।

फोन को हर दो घंटे में सेनिटाइजर से साफ करते रहें।

छींकने और खांसते समय मुंह को हाथ या रुमाल से ढकें।

संक्रमित लोगों से दूरी बना कर रखें।




Shagufta Khanam

Shagufta Khanam

Jr. Sub Editor


Next Story