Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जानें कोरोना वैक्सीन भारत के किन शहरों में लगेगी पहले

कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर तरह तरह की खबरें सामने आ रही हैं। हाल ही में खबर आई थी कि भारत के सीरम इंस्टिट्यूट में ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा बनाई गई वैक्सीन का प्रोडक्शन किया जाएगा। अमेरिका की फर्मा कंपनी आस्ट्राजेनेका ने सीरम इंस्टिट्यूट से की साझेदारी हुई है।

कोरोना वायरस हर रोज एक नया भयानक रूप लेता जा रहा है। प्रतिदिन बढ़ते इसे आंकड़ें लोगों को भयभीत कर रहे हैं। वहीं जितनी तेजी से कोरोना लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है। उतनी ही तेजी से साइंटिस्ट और डॉक्टर इसके इलाज के लिए वैक्सीन बनाने में लगे हुए हैं। वहीं कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर तरह तरह की खबरें सामने आ रही हैं। हाल ही में खबर आई थी कि भारत के सीरम इंस्टिट्यूट में ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा बनाई गई वैक्सीन का प्रोडक्शन किया जाएगा। अमेरिका की फर्मा कंपनी आस्ट्राजेनेका ने सीरम इंस्टिट्यूट से की साझेदारी हुई है।

2 से 3 करोड़ वैक्सीन्स बनाने में लग गया है

मिली जानकारी के मुताबिक सीरम इंस्टिट्यूट से आस्ट्राजेनेका ने अगस्त के आखिरी वीक तक 1 करोड़ वैक्सीन बनाने की बात कही थी। जिसके बाद सीरम इंस्टिट्यूट ने हालातों को देखते हुए इसेअगस्त के लास्ट वीक तक 2 से 3 करोड़ वैक्सीन्स बनाने में लग गया है।

वैक्सीन का नाम ChAdOx1 nCoV-19 है

इस वैक्सीन का नाम ChAdOx1 nCoV-19 है। देश में इस वैक्सीन को कोविडशील्ड (covid shield)का नाम दिया है। आपको बता दें कि अभी इस वैक्सीन का अमेरीका में रहने वालों पर ही ह्यूमन ट्रायल हुआ है। इसलिए अभी यह कह पाना मुश्किल है कि यह इतना असरदार भारत के लोगों के लिए भी होगा या नहीं। इसके लिए यहां के लोगों पर भी इसका ट्रायल होना बहुत जरूरी है। जिसके लिए भारत के औषध महानियंत्रक (डीसीजीआई) से परमीशन मांगी हैं।

Also Read: कोरोना वैक्सीन बनी तो सबसे पहले किसको मिलेगी, किसका होगा इसपर पहला हक

अगस्त तक यह कोरोना वैक्सीन लगाई जा सकती है

बताया जा रहा है कि भारत में यह वैक्सीन मुंबई और पूणे में रहने वाले लोगों को लग सकती है। कहा जा रहा है कि दूसरे-तीसरे वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल के समय पुणे और मुंबई में रहनेवाले 4 से 5 हजार लोगों को अगस्त तक यह कोरोना वैक्सीन लगाई जा सकती है।

Shagufta Khanam

Shagufta Khanam

Jr. Sub Editor


Next Story
Top