Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

गर्भावास्था में इन फलों का रस पीना है लाभदायक

गर्भावास्था में महिलाओं के शरीर में पौषक तत्वों की कमी होने से बचाने के लिए अक्सर उन्हें ताजे और मौसमी फलों का सेवन करने की सलाह दी जाती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि फलों के साथ कुछ खास फलों का जूस पीने से शिशु की विकास तेजी से होता है। ऐसे में आइए जानते हैं गर्भावास्था के लिए सुपरफूड कहे जाने वाले फलों के रस के बारे में...

गर्भावास्था में इन फलों का रस पीना है लाभदायक

गर्भावास्था में महिलाओं का अन्य दिनों की तुलना में ज्यादा ख्याल रखा जाता है, क्योंकि उनके सेहत के साथ गर्भ में पल रहे शिशु पर उसका सीधा असर पड़ता है। ऐसे में शिशु और मां के लिए डॉक्टर्स हमेशा मौसमी फलों के साथ कुछ जरुरी जूस पीने की सलाह देते हैं। आज हम आपको ऐसे ही फलों के रस के बारे में बता रहे हैं।

गर्भावास्था में इन फलों के रस का करें सेवन :




गर्भावास्था में नियमित रुप से संतरे या मौसमी का सेवन करने से शरीर में विटामिन सी की पूर्ति होती है। जिससे इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। त्वचा में निखार आता है और शिशु के विकास में तेजी आती है।




गर्भावास्था के दौरान अगर गर्भवती महिलाएं रोजाना सेब का जूस पीती हैं, तो इससे उन्हें सेब में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट तत्वों के अलावा विटामिन और मिनरल्स मिलते हैं। जो शरीर को इंफेक्शन से बचातें हैं, साथ ही पाचन तंत्र को सुचारु रुप से चलाने में मदद करता है।




3. नियमित रुप से पालक और गाजर के जूस का सेवन करने से गर्भावास्था में गर्भवती महिलाओं में होने वाली रक्त की कमी को आसानी से पूरा किया जा सकता है। आप चाहें, तो इस जूस में आंवला, चुकंदर और अदरक आदि को मिलाकर जूस को हेल्दी बना सकते हैं।




4. आपने अक्सर अंगूर खाने के फायदे में पढ़ा और सुना होगा, लेकिन अंगूर के जूस का सेवन करना भी गर्भवती महिलाओं के साथ उसके शिशु को सेहतमंद बनाने में मदद करता है। क्योंकि अंगूर में विटामिन, शर्करा, मैग्नीशियम जैसे पौषक तत्व पाएं जाते हैं। आप अंगूर के जूस में पानी या किसी और फल के रस के साथ मिक्स करके भी पी सकती हैं।




5. गर्भावास्था में अनार के जूस का रोजाना सेवन करने से गर्भवती महिला के शरीर को कैल्शियम, फॉस्‍फोरस, पोटेशियम, आयरन, फोलिक एसिड, नियासिन, थियामिन, फोलेट्स, राइबोफ्लाविन, विटामिन ई और ओमेगा 5 पॉलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड जैसे पौषक तत्व मिलते हैं। साथ ही गर्भावास्था के दौरान शरीर की कोशिकाओं के पुनर्जन्‍म और विकास के लिए बेहद लाभदायक साबित होता है।

Next Story
Top