logo
Breaking

पनीर खाना पसंद है तो हो जाएं सावधान!

पनीर में हाई क्वालिटी का फैट मौजूद होता है जो कोलेस्टेरॉल को बढ़ाता है।

पनीर खाना पसंद है तो हो जाएं सावधान!
नई दिल्ली. आमतौर पर कुछ स्पेशल बनाने के बात होती है तो मांसाहारियों के लिए नॉन वेज के कई ऑप्शन रहते हैं लेकिन वहीं शाकाहारियों के पास स्पेशल बनाने के लिए पनीर मात्र सहारा होता है। पनीर खाना सेहत के लिए फायदेमंद तो हैं लेकिन पनीर खाना आपके लिए नुकसानदायक भी साबित हो सकता है। पनीर में हाई क्वालिटी का फैट मौजूद होता है जो कोलेस्टेरॉल को बढ़ाता है। और यही वजह है कि कोलेस्टेरॉल का बढ़ना आपके दिल के लिए खतरा पैदा कर सकता है।
दरअसल, रिसर्चर्स ने पनीर, दूध, मक्खन, मांस और चॉकलेट पसंद करने वालों को सतर्क होने की सलाह दी है। रिसर्चर्स का कहना है कि इस तरह के पदार्थों में सैचरेटेड फैट एसिड होता है। जिससे दिल की बीमारी होने का खतरा अधिक होता है। शोधकर्ताओं का कहना है कि अगर दिल की बीमारी से बचना है तो पनीर, मक्खन,मांस जैसे पदार्थों की जगह अनाज, कार्बोहाइड्रेट या प्रोटीन जैसे पदार्थों का सेवन करना चाहिए।
एनबीटी हॉर्वर्ड टी.एच.चान स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ में डॉक्टरेट के स्टूडेंट जेंग जांग का कहना है कि बैलेंस्ड डाइट की सिफारिशों में सैचरेटेड फैट को अनसैचरेटेड फैट या खड़े अनाज से बदले जाने की बात होनी चाहिए। इससे हार्ट-नर्व से संबंधित बीमारियों को आसानी से रोका जा सकता है। चलिए आपको बताते हैं कि सैचरेटेड फैट और अनसैचरेटेड फैट किसे कहते हैं।
बता दें कि कोई भी फैट, जो कमरे के तापमान पर भी जमा रहता है, वह सैचरेटेड फैट होता है। वहीं अनसैचरेटेड फैट कमरे के तापमान में तरल रहता है और अगर इसका इस्तेमाल संतुलित मात्रा में किया जाए तो ये दिल के लिए अच्छा होता है। आपको यह जानना जरूरी है कि सेहतमंद रहने के लिए जितनी कैलोरी हम लेते हैं, उसका 25 से 35 फीसदी या उससे कम हिस्सा ही फैट का होना चाहिए। इसके अलावा सैचरेटेड फैट कुल कैलोरी का 7% से कम होना चाहिए।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top