Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

रोज का इतना सा काम आपको पूरे साल रखेगा फिट

महिलाओं पर घर के कामों के साथ ही पूरे परिवार की सेहत के ध्यान रखने का भी दायित्व होता है। लेकिन यह सब आप तभी अच्छी तरह कर पाएंगी, जब स्वयं हेल्दी और फिट रहेंगी।

रोज का इतना सा काम आपको पूरे साल रखेगा फिट

महिलाओं पर घर के कामों के साथ ही पूरे परिवार की सेहत के ध्यान रखने का भी दायित्व होता है। लेकिन यह सब आप तभी अच्छी तरह कर पाएंगी, जब स्वयं हेल्दी और फिट रहेंगी।

ऐसे में न्यूट्रीशस डाइट के साथ ही रेग्युलर एक्सरसाइज को भी अपने रुटीन में शामिल करना होगा। इसके लिए श्री बालाजी एक्शन मेडिकल इंस्टिट्यूट, दिल्ली के इंटरनल मेडिसिन के सीनियर कंसल्टेंट डॉ. अरविंद अग्रवाल और सीनियर फिजियोथेरेपिस्ट डॉ. विज्जू थॉमस पूरी जानकारी दे रहे हैं।

ऐसे रखें खुद को फिट

आज की इस भागदौड़ भरी जिंदगी में खुद को शारीरिक तौर पर फिट रखना बहुत मुश्किल हो गया है। लेकिन फिजिकली फिट रहना जरूरी है क्योंकि ऐसा ना करने पर आप, घर हो या बाहर, अपने किसी काम को अच्छे से नहीं कर पाएंगी। इसलिए इस नए साल में आपको खुद को फिट रखने के लिए अच्छी डाइट, लाइफस्टाइल के साथ ही रेग्युलर एक्सरसाइज करने का भी वादा अपने आप से करना होगा।

ना बरतें ये लापरवाही

हालांकि हममें से कई लोग हर साल के शुरू में फिट रहने के लिए खुद से कई वायदे करते हैं, फिटनेस रेजॉल्यूशन भी लेते हैं। लेकिन अकसर उनमें नाकाम हो जाते हैं। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि हम फिट रहने के लिए सही दिशा में मेहनत नहीं करते हैं।

खासकर महिलाएं पूरी फैमिली की केयर करने में बिजी रहने की वजह से अपनी फिटनेस पर ध्यान नहीं दे पाती हैं। साल की शुरुआत में एक्सरसाइज, योग को कुछ दिन रेगुलर करती हैं, फिर समय की कमी की वजह से आगे फॉलो ही नहीं कर पाती हैं। इससे फिटनेस पर बुरा असर पड़ता है।

ये हैं यूजफुल एक्सरसाइज

अगर आप यह सोचकर परेशान हो रही हैं कि फिट रहने के लिए कई तरह की एक्सरसाइज करनी पड़ेंगी, उन्हें कैसे सीखेंगे और रोज टाइम कैसे निकालेंगे तो ऐसा बिल्कुल नहीं है।

आप रेग्युलर एक्सरसाइज में वॉकिंग, रनिंग जैसी ईजी एक्टिविटीज शामिल कर सकती हैं। इनके लिए स्पेशल ट्रेनिंग की जरूरत नहीं पड़ती है। अगर ऐरोबिक्स या कार्डियोवैस्कुलर एक्सरसाइज जैसे ब्रिस्क वॉकिंग, जॉगिंग, स्विमिंग और साइक्लिंगको अपना सकती हैं, इससे भी आपको बहुत फायदा मिलेगा।

डेली आधा घंटा करके भी आपको काफी लाभ मिलेगा। इस तरह की एक्सरसाइज हृदय, फेफड़ों को काफी लाभ पहुंचाती हैं। साथ ही स्पाइन को भी मजबूत करती हैं। ये सारी युजफुल एक्सरसाइज मोटापा कम करने में भी मददगार होती हैं, इम्यूनिटी को भी बढ़ाती हैं।

अगर आपको जिमिंग का शौक है और पर्याप्त समय है तो जिम ज्वाइन कर सकती हैं। वहां ट्रेनर से आपको जिम एक्सारसाइज करने के सही दिशानिर्देश भी मिलेंगे।

इसके अलावा फिट रहने के लिए उन एक्टिविटीज को अपने शेड्यूल का हिस्सा बनाएं, जिसे करने में आपको मजा आता हो। कहने का मतलब यह है कि आप अपनी रुचि के अनुसार स्विमिंग क्लासेस, स्पोर्ट्स क्लब ज्वाइन कर सकती हैं। इस तरह की एक्टिविटीज आपको फिट रखने में मदद करती हैं।

इन बातों का रखें ध्यान

  • एक्सरसाइज की शुरुआत हमेशा हल्की-फुल्की वॉर्मअप एक्सरसाइज से ही करें।
  • हमेशा एक तरह की एक्सरसाइज न करें। समय-समय पर अपनी बॉडी के मुताबिक एक्सरसाइज बदलती रहें।
  • ओवर एक्सरसाइज भी न करें। इससे आपकी मसल्स को चोट लग सकती हैं, जो स्वास्थ्य के लिए सही नहीं है।
  • अगर आपके शरीर के किसी हिस्से में दर्द है या अंदरूनी चोट है, तो भी एक्सरसाइज न करें।

मेडिटेशन भी है जरूरी

  • फिजिकल फिट रहने के साथ मेंटल फिटनेस भी जरूरी है।
  • नए साल पर आप अपनी मेंटल फिटनेस के लिए रेग्युलर मेडिटेशन करने का भी रेजॉल्यूशन जरूर करें।
  • मेडिटेशन करने के लिए पार्क, गार्डन वाला ग्रीन एरिया परफेक्ट रहता है।
  • अगर आप घर में मेडिटेशन कर रही हैं, तो ऐसे कमरे का चुनाव करें, जहां ज्यादा शोरगुल न हो।
  • इससे आप पूरी तरह एकाग्र हो सकेंगी।
  • रोजाना मेडिटेशन करने से तनाव का स्तर कम होगा।
  • इसके अलावा याद्दाश्त तेज होती है, सिरदर्द जैसी समस्या से छुटकारा मिलेगा।
Next Story
Share it
Top