logo

जानें कैसे पार्टनर के छुए बिना ही प्रेग्नेंट हो सकती हैं आप, ये हैं कुछ खास टिप्स

भारतीय पुराणों में कई एेसे ही किस्से कहानियों का उल्लेख मिलता है। जैसे कुंती पुत्र कर्ण का मंत्र शक्ति के जरिए जन्म लेना या गांधारी के एक साथ 100 पुत्रों का जन्म होना। आइए आपको बताते हैं ऐसे ही कुछ उपाय...

जानें कैसे पार्टनर के छुए बिना ही प्रेग्नेंट हो सकती हैं आप, ये हैं कुछ खास टिप्स

हम सभी जानते हैं कि किसी भी महिला को प्रेग्नेंट होने के लिए सबसे पहले अपने जीवनसाथी के साथ संबंध बनाने पड़ते हैं। लेकिन अगर हम कहें कि ऐसा जरूरी नहीं है तो आप हैरान हो जाएगें। लेकिन ये सच है।

भारतीय पुराणों में इसी तरह के ही कई किस्से कहानियों का उल्लेख मिलता है। जैसे कुंती पुत्र कर्ण का मंत्र शक्ति के जरिए जन्म लेना या गांधारी के एक साथ 100 पुत्रों का जन्म होना।

वर्तमान में हमारी मेडिकल साइंस ने भी इतनी तरक्की कर ली है जिससे कोई भी महिला बिना संबंध बनाये प्रेग्नेंट हो सकती है। आइए आपको बताते हैं ऐसे ही कुछ उपाय...
1. विट्रो फट्रीलाइजेशन - इस तकनीक के जरिए मेडिकल साइंस के डॉक्टर्स किसी भी महिला के गर्भाशय में कृत्रिम तरीकों से पुरुष के शुक्राणु को डाल देते हैं। जिसके कुछ ही दिनों बाद ये शुक्राणु महिला के अंडे से मिलकर भ्रूण का रूप लेने लगते हैं और महिला स्वयं को प्रेग्नेंट महसूस करने लगती है।
इस तकनीक के जरिए ये जानना बेहद आसान हो जाता है कि डॉक्टर ने महिला के गर्भाशय में उच्च गुणवत्ता के पुरुष शुक्राणु को धारण करवाया है जिससे मां एक स्वस्थ बच्चे को जन्म देती हैं। आज के समय में बहुत सारी महिलाएं इस तकनीक को अपना रही हैं।

2. स्प्लैश प्रेग्नेंसी - इस तरीके से भी महिला अपने जीवनसाथी से संबंध बनाए बिना ही प्रेग्नेंट हो सकती है। क्योंकि मेडिकल साइंस के डॉक्टर्स इस तरीके में पुरूष शुक्राणुओं को एक सिरिंज के जरिए महिला के गर्भाशय में डाल देते हैं। जिससे महिला प्रेग्नेंट हो जाती है। ये काफी सहज और सरल तरीका माना जाता है। इस तरीके को अधिकांश वो महिलाएं अपनाती हैं जिनके जीवनसाथी कारणवश नपुंसक हो जाते हैं। इससे महिला को गर्भाधान करने में कोई समस्या नहीं आती हैं। साथ ही, जन्म लेने वाला बच्चा भी स्वस्थ होता है।
3. टेस्ट ट्यूब बेबी - मेडिकल साइंस और आज के दौर में सबसे ज्यादा प्रयोग किये जाने वाले इस तरीके में भी महिलायें बिना संबंध बनाए हुए ही प्रेग्नेंट हो सकती हैं। इस तरीके में डॉक्टर्स लैब में एक ट्यूब में पुरुष शक्राणु और महिला के अंडों को मिलाकर तैयार किया जाता है और एक सप्ताह बाद इसे महिला के गर्भाशय में डाल देते हैं। जिससे महिला प्रेग्नेंट हो जाती है।
डॉक्टर्स इस तरीके को सबसे सुरक्षित मानते हैं क्योंकि इसमें किसी भी तरह के संक्रमण या बीमारी होने का कोई खतरा नहीं रहता है। यह तकनीक उन महिलाओं के लिए वरदान साबित हुई है जो किसी कारणवश प्रेग्नेंट नहीं हो सकती हैं।

Latest

View All

वायरल

View All

गैलरी

View All
Share it
Top