Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शर्म और झिझक को दूर करने के कामयाब 6 टिप्स

कुछ महिलाएं अपोजिट जेंडर को देखकर झिझकती हैं।

शर्म और झिझक को दूर करने के कामयाब 6 टिप्स
X

बहुत ज्यादा शरमाना या झिझकना कई बार हमारी इमेज को खराब कर देता है। अगर यह स्वभाव हमारी सफलता और संबंधों में रोड़ा बन जाए, तो खुद को बदलने की जरूरत है। जानिए, कैसे दूर करें अपनी झिझक और शरमाने की आदत।

शर्म या हया को नारी के लिए आभूषण के समान बताया गया है। लेकिन यह आभूषण परिस्थिति के मुताबिक ही शोभा देता है। अगर आप जरूरत से ज्यादा शरमाएंगी या झिझक आपके अंदर होगी, तो इससे आपका व्यक्तित्व प्रभावित होगा। आपकी सफलता के रास्ते मुश्किलों से भर जाएंगे।

कई सामाजिक अवसरों पर भी देखा गया है कि कुछ महिलाएं अपोजिट जेंडर को देखकर झिझकती हैं, बात नहीं कर पाती हैं। खुद को एक कोने में समेट लेती हैं। इस तरह का व्यवहार उन्हें सोशल नहीं होने देता है। इसलिए जरूरी है उतना ही शरमाएं जितना जरूरी हो। अगर बहुत झिझक आपके अंदर है, तो खुद में बदलाव लाएं।

कारण को पहचानें

अपनी शर्म की वजह को पहचानने की कोशिश करें। उन परिस्थितियों को पहचानें, जिसमें आप संकोच में पड़ जाती हैं। अपनी कमजोरी का कारण जानने पर उसे दूर करने में आपको आसानी होगी।

ताकत को समझें

शर्म से उबरने के लिए अपनी खूबियों को पहचानें। हम सब में कुछ खास गुण होते हैं। उन खूबियों पर फोकस करें, जिनमें आप अच्छी हैं। इससे आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा और आप को खुद के ऊपर लादे गए भय से मुक्ति मिलेगी।

अपोजिट जेंडर से बातचीत

जब कोई अजनबी पुरुष पार्टी में आपके पास आता है और आप नहीं समझ पाती हैं कि क्या करें। आपकी जुबान ही नहीं खुलती है। ऐसे में झिझकने की बजाय हाय-हैलो कहें। आप हल्के से मुस्कुराते हुए उनका परिचय पूछें। अजनबियों से ज्यादा गपशप लड़ाना ठीक नहीं। लेकिन संवादहीनता भी रुखेपन या अकड़पन की निशानी है।

समझिए बॉडी लैंग्वेज

आपको लगता है कि बॉडी लैंग्वेज को समझना विशेषज्ञों का काम है। लेकिन यकीन मानिए यह इतना कठिन काम भी नहीं है। आप गौर करना शुरू कर दें, तो जल्दी ही आपको हाव-भाव समझ में आने लग जाएंगे। फिर आप उसके मुताबिक ही सामने वाले से बिहेव कर सकती हैं।

अच्छी ड्रेसिंग सेंस

अपना आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए सबसे जरूरी है, ड्रेसअप में परफेक्ट दिखना। इसके लिए अच्छे और आरामदायक ड्रेस पहनें, जिनमें आप खुद को सहज महसूस कर सकें। वक्त के मुताबिक एक्सेसरीज का उपयोग करें। यकीन मानिए आप अच्छी दिखेंगी और खुद के बारे में अच्छा महसूस करेंगी, तो आपको संकोच या शर्म से उबरने में आसानी होगी।

अपना फ्रेंड सर्किल बनाएं

आस-पड़ोस की महिलाओं, सहकर्मियों का फ्रेंड सर्किल बनाएं। उनके साथ गपशप करें। शॉपिंग, बॉलीवुड, फैशन, खेल, राजनीति, बच्चों से जुड़ी विभिन्न विषयों पर बातचीत करें। इससे न सिर्फ आपकी जानकारी का दायरा बढ़ेगा बल्कि हिचक भी दूर होगी। किसी से बातचीत शुरू करने के लिए आप इस उलझन में नहीं पड़ेंगी कि क्या बात करूं।

इस तरह आप अपनी झिझक और शर्म को दूर कर पाएंगी और एक कॉन्फिडेंट पर्सनालिटी हासिल कर पाएंगी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story