Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बाइक से 40 दिन में गोवा से बैंकॉक का शानदार सफर

मुझे अकेले राइड करना बेहद पसंद है, क्योंकि यही वह रास्ता है जिससे लाइफ को इंजॉय किया जा सकता है।

बाइक से 40 दिन में गोवा से बैंकॉक का शानदार सफर
X
नई दिल्ली. गोवा के 40 वर्षीय बिजनेसमेन, कार्ल कोएल्हो ने दो साल पहले एक हार्ले डेविडसन खरीदा था। जिससे वह पूरे देश में घूम सकें और एक रिकॉर्ड बना सकें। इन्होंने साल 2016 के जनवरी महीने में पूरे देश में घूमने की तैयारी की। साथ ही कार्ल ने म्यानमार से होकर गोवा से बैंकॉक जाने की योजना बनाई।
1. आपको उड़ने की जरूरत नहीं है अगर बाइक चलानी आती है तो
कार्ल कोएल्हो ने बताया कि अपने जीवन में मैंने बहुत सारी उड़ाने भरी हैं। मेरे लिए राइडिंग एक जुनून है। मुझे अकेले राइड करना बेहद पसंद है, क्योंकि यही वह रास्ता है जिससे लाइफ को इंजॉय किया जा सकता है। अपने बाइक के बारे में बताते हुए कार्ल कहते हैं कि उनकी बाइक में 1600 सीसी का इंजन लगा है, जो लगभग 90% मेरे राइड के अकॉर्डिंग है। इसलिए मैने हार्ले डेविडसन को अपनी इस एडवेंचर राइड के लिए चुना।
2. ऐसे शुरु किया अपना यह सफर
कार्ल अपने इस सफऱ की शुरुआत के बारे में बताते हैं कि वो सबसे पहले गोवा से अहमदनगर की ओर गए। इसके बाद इंदौर और वाराणसी गये। वहां से वह सिक्किम के लिए निकले, फिर भारत और म्यांमार के बॉर्डर से पहले वे नागालैंड की ओर असम और मणिपुर से होते हुए गुजरे। कार्ल का कहना है कि जितना आपको यह सुनने में आसाना लग रहा है वास्तव में इतना आसान था नहीं। इन्होंने यह भी कहा कि कई जगहों पर तो सड़कें लगभग न के बराबर थी, फिर भी मैंने इस राइड को बहुत जल्दी पूरा करने में कामयाब रहा। यह राइड मेरे और मेरी बाइक के लिए एक चुनौती साबित हुई। हालांकि एक ट्रक ड्राइवर ने मुझसे पूछा कि मैं वहां क्या कर रहा था। उन्होंने कहा कि इस रास्ते किसी को बाइक पर घूमते कभी नहीं देखा। असम पहुंचने के बाद मेरी बाईक का पेट्रोल खत्म हो गया था। कार्ल ने अपनी बाईक के लिए पेट्रोल पंप पर मौजूद व्यक्ति से थोड़ा पेट्रोल देने के लिए निवेदन किया।
3. जब आपके पास मदद के लिए कोई न हो, भारतीय सेना है न
कार्ल का कहना है कि जो इंसान अकेले टूर पर गया हो उसके लिए सेना की मौजूदगी ही काफी है। कार्ल ने यह भी कहा कि जब सेना ने मुझे रोका और मेरे तरफ गन तान दी तब मैं थोड़ा घबरा गया था। उसके बाद उन्होने मुझे हेलमेट उतारने को कहा। लेकिन जब मैंने कहा कि मैं एक रिकॉर्ड बनाने के लिए बैंकॉक जा रहा हूं तब उन्होंने मेरी बहुत मदद की। वे काफी हेल्पफुल थे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story