Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

April Fool : जानें हंसने के फायदे, जिएंगे 101 साल तक

पहली अप्रैल यानि मूर्ख दिवस कुछ ही दिनों में आने वाला है। ऐसे में हंसने-मुस्कुराने, खुलकर ठहाके लगाने से हमारी लाइफ में हैप्पीनेस बनी रहती है। साथ ही इसका हमारी हेल्थ पर भी पॉजिटिव इंपेक्ट पड़ता है, यह बात कई शोधों से भी साबित हुई है। जानिए, हंसना-मुस्कुराना, ठहाके लगाना किस तरह हमारी हेल्थ के लिए अच्छा है।

April Fool : जानें हंसने के फायदे, जिएंगे 101 साल तक

Laughing Benefits : अप्रैल महीने की पहली तारीख को पूरी दुनिया में अप्रैल फूल डे यानि मूर्ख दिवस मनाया जाता है। दुनिया भर में ऐसे कई शोध हो चुके हैं, जिनके नतीजों में पाया गया है कि हंसी-ठहाके लगाने, मजाक करने वाले और जिंदादिल स्वभाव वाले लोगों की सेहत गंभीर, उदास और अवसादग्रस्त रहने वाले लोगों की तुलना में ज्यादा अच्छी रहती है। इतना ही नहीं खुश रहने वाले लोग दीर्घायु होते हैं और अपनी पर्सनल, प्रोफेशनल लाइफ में सफल भी होते हैं। यानी हंसने के एक नहीं कई फायदे हैं।

लॉफ्टर थेरेपी क्या है?

बेस्टसेलर बुक ‘लॉफ्टर थेरेपी- हाउ टू लॉफ अबाउट एवरीथिंग इन योर लाइफ दैट इस नॉट रियली फनी’ की लेखिका एनेटगुडहर्ट कहती हैं, ‘हंसी एक तरह के प्यूरीफिकेशन की प्रक्रिया है, जो फीलिंग्स की केमिस्ट्री को बैलेंस करती है। यह हीलिंग के लिए बहुत अहम हो सकती है।’ उनकी इस थ्योरी की, हंसी के फायदों पर किए गए कई शोधों से पुष्टि हो चुकी है।

हार्ट रहता है हेल्दी

हार्ट स्पेशलिस्ट डॉ. माइकल मिलर ने अपनी किताब ‘हील योर हार्ट’ में लिखा है कि हर रोज 10-15 मिनट खुलकर हंसने से हार्ट हेल्दी रहता है और धमनियों में ब्लॉकेज या उनके संकरे होने का जोखिम घटता है। डॉ. मिलर ने लिखा है कि जब उन्होंने अपने सहयोगियों के साथ 20 लोगों पर इसे व्यावहारिक रूप में आजमाकर देखा तो सही पाया। इन लोगों को स्ट्रेस देने वाली एक फिल्म की क्लिपिंग दिखाई गई तो उनकी ब्लड वेसल्स 50 फीसदी तक सिकुड़ गई, जबकि मजेदार और हंसाने वाली फिल्म की क्लिपिंग देखने के दौरान ब्लड वेसल्स 22 फीसदी अधिक चौड़ी हो गई थीं। डॉ. माइकल मिलर का मानना है कि 15 मिनट की हंसी का उतना ही वेस्कुलर इफेक्ट है, जितना 15-30 मिनट जिम में बिताने या स्टेटिन की टेबलेट लेने का है।

बढ़ती है इम्यूनिटी

सेहत वैज्ञानियों का मानना है कि हंसने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। दिन में हंसने से रात को नींद अच्छी आती है। हंसी इम्यून सेल्स की संख्या और इंफेक्शन से लड़ने वाले एंटीबॉडीज में भी इजाफा करती है। इन सबसे सेहत सुधरती है।

आती है अच्छी नींद

जो लोग दिन में बहुत मेहनत करते हैं या फिर जमकर खूब हंसी-मजाक करते हैं, उन्हें रात को अच्छी नींद आती है। हंसने से शरीर में मेलाटोनिन नाम का केमिकल प्रोड्यूस होता है, जो अच्छी नींद में सहायक होता है।

शुगर कंट्रोल में हेल्पफुल

जापान की सुकुबा यूनिवर्सिटी द्वारा किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि रोजाना हंसने वाले टाइप 2 डायबिटीज से पीड़ित लोगों में भोजन के बाद वाला शुगर लेवल कम हो सकता है। वैज्ञानिकों का अनुमान है कि हंसी का न्यूरोएंडोक्राइन सिस्टम पर प्रभाव पड़ता है। यही सिस्टम ग्लूकोज के लेवल को रेगुलेट करता है।

स्ट्रेस से राहत

कई शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययनों में पाया है कि हंसने से तनाव में राहत मिलती है। हंसने से हमारे शरीर में कार्टिसोल और एपिनेफ्रिन जैसे स्ट्रेस हार्मोंस का लेवल कम होता है। साथ ही इससे हैप्पी हार्मोंस जैसे सेरोटोनिन और ऑक्सीटोसिन भी रिलीज होते हैं, जिससे हमारा मूड ठीक हो जाता है।

होती है मसल्स एक्सरसाइज

एक शोध के नतीजे बताते हैं कि घंटे भर ठहाके मारकर हंसना 30 मिनट के जिम और वेट लिफ्टिंग जितना कारगर हो सकता है। इसके अलावा खुलकर हंसने से हार्ट बीट तेज होती है और शरीर के सभी अंगों तक रक्त का संचार अधिक होता है। वहीं हंसने से पेट की मांस-पेशियों की हल्की-फुल्की एक्सरसाइज भी हो जाती है।

कैलोरी बर्न होती है

लाफ्टर एक तरह की फिजिकल एक्सरसाइज भी है। हंसने से हार्ट रेट बढ़ने के साथ-साथ मेटाबॉलिज्म भी इंप्रूव होता है। हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार अगर आप डाइटिंग कर रहे हैं और वेट कंट्रोल का प्रोग्राम बना रहे हैं तो ठहाके मारकर हंसना भी अपनी रुटीन में जरूर शामिल करें, इससे आपको नतीजे जल्दी मिलेंगे।

बने रहते हैं यंग

नियमित रूप से खुलकर हंसने और जमकर ठहाके लगाने वालों में असमय उम्रदराज दिखने की समस्या नहीं होती और उनके चेहरे पर जल्दी झुर्रियां नहीं पड़ती हैं। इसकी वजह यह है कि हंसने से चेहरे की 15 मांस-पेशियां एक साथ काम करती हैं, जिससे ब्लड सर्कुलेशन बढ़ जाता है और साथ ही चेहरे की एक्सरसाइज भी हो जाती है। ऐसा होने से चेहरे की स्किन में कसावट बनी रहती है।

ब्रीदिंग रहती दुरुस्त

हेल्थ एक्सपर्ट्स ने पाया है कि जोर-जोर से हंसने पर हमारे फेफड़ों से काफी हवा बाहर आ जाती है और ताजा हवा प्रवेश करने के लिए स्पेस बनता है। जाहिर है कि हंसने का फायदा डीप ब्रीदिंग जैसा ही मिलता है।

Next Story
Top