logo
Breaking

शादी के बाद इसलिए मोटी हो जाती हैं महिलाएं, जानिए कारण, लक्षण और उपचार

अगर आप शादी के बाद वेट बढ़ने से परेशान हैं तो आप अकेली नहीं हैं, कई महिलाएं ऐसी शिकायत करती हैं। इसके कई कारण हो सकते हैं। ऐसे में जीवनशैली में परिवर्तन और कुछ दूसरे जरूरी उपाय करके वेट कंट्रोल किया जा सकता है।

शादी के बाद इसलिए मोटी हो जाती हैं महिलाएं, जानिए कारण, लक्षण और उपचार
अगर आप शादी के बाद वेट बढ़ने से परेशान हैं तो आप अकेली नहीं हैं, कई महिलाएं ऐसी शिकायत करती हैं। इसके कई कारण हो सकते हैं। ऐसे में जीवनशैली में परिवर्तन और कुछ दूसरे जरूरी उपाय करके वेट कंट्रोल किया जा सकता है। आमतौर पर मान लिया जाता है कि शादी के बाद महिलाओं का वेट बढ़ता ही है। लेकिन यह सच नहीं है। अगर कुछ बातों का ध्यान रखा जाए तो वेट कंट्रोल किया जा सकता है।
वेट बढ़ने के कारण
हेल्थ जर्नल ‘दी ओबेसिटी’ के अनुसार, शादी के बाद पांच वर्षों में 82 प्रतिशत दंपतियों का 5-10 किलो वजन बढ़ जाता है, महिलाओं के साथ ये समस्या अधिक होती है। कई लोगों का मानना है कि शादी के बाद होने वाले हार्मोन परिवर्तन के कारण वजन बढ़ता है, लेकिन यही एकमात्र कारण नहीं है। कई और कारण हैं, जो महिलाओं का वजन बढ़ने के लिए जिम्मेदार हैं।
शारीरिक-मानसिक बदलाव
डॉक्टर्स के अनुसार, जब कोई महिला शारीरिक-भावनात्मक संबंधों में प्रवेश करती है तो उसका शरीर और मस्तिष्क कई तरह के बदलावों से गुजरता है। कई महिलाओं में ये बदलाव, शरीर में वसा की परतों के रूप में बाहरी रूप से दिखाई देने लगते हैं।
हार्मोन परिवर्तन
विवाह के बाद शरीर में कई हार्मोन संबंधी परिवर्तन होते हैं। कमर के घेरे का आकार कुछ इंच बढ़ जाता है। इसके साथ ही भूख भी बढ़ जाती है, इन सबका असर ओवर वेट के रूप में सामने आता है।
प्रायोरिटीज बदल जाना
अकसर लड़कियां शादी के पहले अपने लुक को लेकर काफी सतर्क रहती हैं, वो शादी के बाद लापरवाह हो जाती हैं, क्योंकि उनकी प्रायोरिटीज बदल जाती हैं। उनकी दिनचर्या अपने पति और परिवार के दूसरे सदस्यों के अनुसार चलती है और इसके कारण, उन्हें खुद के लिए समय ही नहीं मिल पाता है। वे वर्कआउट या वॉकिंग करना भी बंद कर देती हैं।
नींद की कमी
शादी के बाद, महिलाओं के सोने का समय और पैटर्न बदल जाता है। कई बार उनकी नींद पूरी नहीं हो पाती और नींद की कमी मोटापा बढ़ने का एक प्रमुख कारण है।
हैवी फूड्स
शादी के बाद अकसर पति-पत्नी वीकएंड पर बाहर खाना पसंद करते हैं। दावतों में हैवी फूड्स के कारण कैलोरी इनटेक बढ़ जाता है। अत्यधिक कैलोरी युक्त भोजन करने से उनके पेट के आस-पास फैट लेयर्स जमने लगती हैं।
बढ़ती उम्र
आजकल अधिकतर महिलाएं 30 साल के बाद शादी कर रही हैं। कई अध्ययनों में ये बात सामने आई हैं कि 30 की उम्र के बाद, हमारे शरीर का मेटाबॉलिक रेट कम हो जाता है, जिससे वजन बढ़ता है। ऐसे में जीवनशैली और खान-पान में बदलाव मोटापे को गंभीर बना देता है।
तनाव
शादी के बाद किसी दूसरे परिवार से सामंजस्य बिठाना महिलाओं के लिए सबसे कठिन काम होता है। कई बार, उनके लिए नए घर और माहौल के अनुसार खुद को ढालना काफी मुश्किल हो जाता है, इससे तनाव का स्तर बढ़ता है। तनाव के कारण उनकी नींद कम हो जाती है या उनकी डाइट बढ़ जाती है, इससे उनका वजन बढ़ जाता है।
गर्भावस्था
गर्भावस्था भी विवाहित महिलाओं में वजन बढ़ने के सबसे प्रमुख कारणों में से एक है। अधिकतर दंपति शादी के बाद 1-2 वर्षों में फैमिली प्लानिंग करने लगते हैं। इस दौरान महिलाओं का शरीर कई बदलावों से गुजरता है, इस दौरान महिलाओं का वजन भी काफी बढ़ जाता है, बच्चे के जन्म के बाद भी अधिकतर महिलाएं वजन कम करने की कोशिश भी नहीं करती हैं।
तब नहीं बढ़ेगा वजन
शादी का मतलब यह कतई नहीं है कि आप अपने पति और परिवार के साथ इतनी व्यस्त हो जाएं कि खुद को नजरअंदाज करने लगें। आपको यह समझना होगा कि जब आप स्वस्थ और प्रसन्न रहेंगी, तभी अपने प्रियजनों का भी ख्याल रख पाएंगी। इसके लिए इन बातों पर अमल करें।
  • -अपने भोजन में फाइबर की मात्रा बढ़ा दें। फाइबर शरीर के मेटाबॉलिज्म को दुरुस्त रखता है, भूख को कम करता है।
  • -पानी और दूसरे तरल पदार्थों जैसे सूप, हर्बल चाय, फलों और सब्जियों के जूस का सेवन बढ़ा दें।
  • -इमोशनल ईटिंग से बचें। भावनात्मक समस्याओं से उबरने के दूसरे तरीके अपनाएं।
  • -तभी खाएं जब आपको भूख लगे और भूख से थोड़ा कम खाएं।
  • -खाने से पहले एक कटोरी सलाद या सूप ले लें, इससे कैलोरी का इनटेक कम होगा।
  • -एक ही बार में ज्यादा खाने की बजाय थोड़ा-थोड़ा करके खाएं।
  • -जिस दिन आपको रात में डिनर के लिए बाहर जाना है, उस दिन नाश्ता और लंच हल्का करें।
  • -शारीरिक रूप से सक्रिय रहें, नियमित रूर से वर्कआउट करें या वॉक करें।
Share it
Top