Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Pulwama Attack: लता मंगेशकर ने देशभक्ति गाने से दी जवानों को श्रद्धांजलि, बोलीं- जो समर में हो गए अमर

Pulwama Attack: पुलवामा हमले की पहली बरसी पर लता मंगेशकर ने शहीद हुए 40 सीआरपीएफ जवानों को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक पुराना देशभक्ति सांग शेयर किया, जो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

Pulwama Attack: लता मंगेशकर ने देशभक्ति गाना शेयर कर दी जवानों को श्रद्धांजलि, ट्वीट में लिखा येलता मंगेशकर

Pulwama Attack: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा आतंकी हमले की आज पहली बरसी है। बीते साल यानी साल 2019 में 14 फरवरी को आतंकी हमले में करीब 40 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे। इस दिन को याद करते हुए आज पूरा देश उन बहादुर जवानों को श्रद्धांजलि दे रहा है। इस कड़ी में सिंगर लता मंगेशकर ने भी जवानों को अपनी श्रद्धांजलि दी। लता मंगेशकर ने अपने ट्विटर अकाउंट पर देशभक्ति गीत का वीडियो शेयर किया और कैप्शन में लिखा- 'पिछले साल पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद हमारे सीआरपीएफ के वीर जवानों को मेरी विनम्र श्रद्धांजलि', लता मंगेशकर द्वारा शेयर किया गया गाना अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस गाने को लोग काफी पसंद कर रहे है।

वायरल हो रहे इस गाने का नाम है- 'जो समर में हो गए अमर'... इस गाने को खुद लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) ने अपनी सुरीली आवाज में गाया है। पुलवामा की पहले बरसी पर ये गाना लोग खूब सुन रहे है और जवानों को याद कर रहे है। आज के इस दिन को याद कर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने भी ट्वीट कर जवानों को श्रद्धांजलि दी। पीएम मोदी ने कहा कि 'पिछले साल भीषण पुलवामा हमले में जान गंवाने वाले बहादुर शहीदों को श्रद्धांजलि। वे असाधारण व्यक्ति थे जिन्होंने हमारे राष्ट्र की सेवा और रक्षा के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया। भारत उनकी शहादत को कभी नहीं भूलेगा।'

Pulwama Attack: पुलवामा हमले की बरसीं पर वायरल हो रहे ये पांच गाने, सुनकर पाकिस्तान के खिलाफ खौल उठेगा खून

आपको बता दें कि 14 फरवरी 2019 (Pulwama Attack Anniversary) को लगभग दोपहर तीन बजे 70 वाहनों के सीआरपीएफ के काफिले को विस्फोटक से लदी एसयूवी से निशाना बनाया था। विस्फोटक से भरी एसयूवी से जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकी ने सीआरपीएफ के वाहन को टक्कर मार दी थी। जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गये थे। बाद में हमलावर की पहचान आदिल अहमद डार के रूप में हुई थी। आदिल अहमद के तार आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े थे। हमले (Pulwama Attack) की जिम्मेदारी भी जैश-ए-मोहम्मद ने ही ली थी।

Next Story
Top