Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Fathers Day 2019 In India : ये बेस्ट टीवी कलाकार फादर्स डे पर अपने पिता के लिए कर रहे हैं ये प्लानिंग

फादर्स डे हर साल जून महिने के तीसरे संडे को मनाया जाता है। इस दिन पुत्र अपने पिता को हर तरह से खुश करने की कोशिश करता है।

Fathers Day 2019 In India : ये बेस्ट टीवी कलाकार फादर्स डे पर अपने पिता के लिए कर रहे हैं ये प्लानिंग

फादर्स डे हर साल जून महिने के तीसरे संडे को मनाया जाता है। इस दिन पुत्र अपने पिता को हर तरह से खुश करने की कोशिश करता है। कोई उन्हें मैसेज भेज कर खुश करता है तो कोई गिफ्ट देकर, कोई उन्हें फिल्म दिखाने ले जाता है तो कोई घुमाने ले जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपके फेरवेट टीवी कलाकार फादर्स डे को कैसे सेलिब्रेट करते हैं। आइए हम आपको इसके बारे में बताते हैं।

अक्षय केलकर ('भाखरवड़ी' में अभिषेक की भूमिका में)

अपने डैड के लिये सिर्फ एक दिन सेलिब्रेट करना सुकून नहीं देता, मेरे लिये तो हर दिन ही फादर्स डे है। अपने डैड को लंच या डिनर के लिये बाहर ले जाकर और उनके लिये कुछ सरप्राइज गिफ्ट लेकर उनके हर दिन को खास बनाना पसंद है। मैंने अपने डैड से जीवन के बारे में बहुत ही अच्छी बातें सीखी हैं और इस फादर्स डे पर मैं इसे दिखाना चाहूंगा।

मेरे विचार से यह दिन परिपक्वरता के बारे में ज्याछदा है। कई बार हम इस बात को समझ भी नहीं पाते कि हमारे पिता हमारे लिये क्या करते हैं, आइये हम सिर्फ उनकी तारीफ करें। इसलिये मैं चाहूंगा कि हर कोई अपने डैड के साथ क्वारलिटी टाइम बिताये और उनसे जितना हो सके, अच्छी। बातें सीखें।

कृष्णाव भारद्वाज ('तेनाली रामा' में तेनाली की भूमिका में)

लड़कों की जिंदगी में पिता वाकई बहुत अहम भूमिका निभाते हैं। मैं थोड़ी बहुत जो एक्टिंग जानता हूं वह अपने डैड की वजह से क्योंंकि वह खुद भी एक एक्ट र, राइटर डायरेक्टंर हैं। वह रांची में रहते हैं। मेरे डैड के हिन्दीा भाषा में पीएचडी होने के कारण बचपन से ही मेरी विशुद्ध हिन्दीम की ट्रेनिंग शुरू हो गयी थी।

यही वजह है कि मैं तेनाली रामा जैसे किरदार को निभा पाया, क्योंकि मुझे बहुत ही अच्छीव हिन्दी बोलनी थी। मेरे पिता ने मुझे एक्टिं ग के बारे में सारी बातें सिखायी, जिससे मुझे अपनी पूरी जिंदगी एक्टिंचग करियर में मदद मिलेगी।इस फादर्स डे काम की वजह से मैं अपने डैड से दूर रहूंगा, लेकिन मैं उन्हें खूब सारे सरप्राइज गिफ्ट जरूर भेजने वाला हूं।

अक्षिता मुद्गल ('भाखरवड़ी' में गायत्री के किरदार में)

पिता घर के स्तंजभ होते हैं। वही होते हैं जोकि हमारी ख्वांहिशें पूरी करने के लिये अपनी ख्वाजहिश छोड़ देते हैं। मेरे पिता कम बोलने वाले लोगों में हैं और उन्हेंव फादर्स डे मनाना पसंद नहीं और वे किसी चीज की मांग भी नहीं करते हैं। वह कभी खुद के लिये शॉपिंग करने नहीं गये और इसलिये इस फादर्स डे मैं और मेरी बहन उनके लिये शॉपिंग करेंगे।

उन्हें केक और तोहफों से सरप्राइज देंगे। जब हम ये छोटी-छोटी चीजें करते हैं तो वह बहुत खुश होते हैं, जिनके बारे में उन्होंहने सोचा भी नहीं होता है। उनकी खुशी से हमारा दिन भी बन जाता है।मेरे और मेरी बहन के लिये हमारे डैड हमारा पहला प्यासर हैं, इसलिये यह दिन हमारे लिये बहुत मायने रखता है। मैं सबसे यह कहना चाहूंगी कि इस फादर्स डे अपने पिता के प्रति प्या,र जाहिर करें, क्योंनकि हम अक्स़र ऐसा नहीं करते हैं

Share it
Top