Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

इन 10 फिल्मों के बाद ओम पूरी बन गए थे हिंदी सिनेमा के दिग्गज

ओम पुरी का जीवन बेहद ही आर्थिक तंगी से गुजरा है।

इन 10 फिल्मों के बाद ओम पूरी बन गए थे हिंदी सिनेमा के दिग्गज

200 से ज्‍यादा फिल्‍मों में काम कर चुके ओम पुरी ने 1976 में मराठी फिल्‍म घासीराम कोतवाल के साथ सिनेमा जगत में कदम रखा था।

बॉलीवुड में वर्ष 1980 में रिलीज फिल्म “आक्रोश” ओम पुरी के सिनेमा करियर की पहली हिट फिल्म साबित हुई। इस फिल्म के लिए उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिला।

ओम पुरी ने बॉलीवुड के अलावा 20 से ज्यादा हॉलीवुड फिल्मों में भी काम किया। आज उनके जन्मदिन पर जानिए उनकी 10 बेहतरीन फिल्मों के बारे में, जिसने समाज को बदलने में निभाई बड़ी भूमिका...

1. भूमिका (1977) इस फिल्म का निर्देशन श्याम बेनेगल ने किया था।

2. आक्रोश (1980) इस फिल्म का निर्देशन गोविन्द निहलानी ने किया था।

इसे भी पढ़ें: स्मिता पाटिल के लिए इस दिग्गज अभिनेता ने सीने पर खाई थी गोली

3. गाँधी (1982) इस फिल्म का निर्देशन रिचर्ड एटनबरो ने किया था।

4.विजेता (1982) इस फिल्म का निर्देशन गोविंद निहलानी ने किया था।

5. आरोहण (1982) इस फिल्म का निर्देशन श्याम बेनेगल ने किया था।

इसे भी पढ़ें: #MeToo 'उसका हाथ मेरी स्कर्ट के अंदर था और मैं...'

6.घायल (1990) इस फिल्म का निर्देशन राजकुमार संतोषी ने किया था।

7. माचिस (1996) इस फिल्म का निर्देशन गुलज़ार ने किया था।

8. चाची 420 (1997) इस फिल्म का निर्देशन कमल हसन ने किया था।

इसे भी पढ़ें: हेमा मालिनी के लिए जिंदगी भर कुंवारा रहा 'हिंदी सिनेमा' का ये दिग्गज

9.मृत्युदंड (1997) इस फिल्म का निर्देशन प्रकाश झा ने किया था।

10. हे राम (2000) इस फिल्म का निर्देशन कमल हसन ने किया था।

गौरतलब है कि ओम पुरी का जीवन बेहद ही आर्थिक तंगी से गुजरा है। ओम पुरी के घर की आर्थिक स्थिति इतनी खराब थी कि वो कोयला बीनकर अपना पेट भरते थे।

इतना ही नहीं ओम पुरी ने परिवार की जरूरतों को पूरा करने के लिए 7 साल की उम्र में एक ढाबे पर भी काम किया। यहां वो बर्तन धोने का काम करते थे।

Next Story
Top