Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Republic Day 2020: इन 10 डायलॉग्स में छिपी है भारत की ताकत, जुनून और जज्बा है देश की खातिर

Republic Day 2020: 26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस.. इस दिन भारत में संविधान लागू हुआ था। इस मौके पर लोग आपस में एक दूसरे को गणतंत्र दिवस पर शायरी (Republic Day Shayari), कविता (Republic Day Poems) भेजकर बधाई देते हैं, लेकिन अब शायरी और कविता को पीछे छोड़ लोग देशभक्ति डायलॉग्स के जरिए लोगों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं भेज रहे है।

Republic Day 2020: इन 10 डायलॉग्स में छिपी है भारत की ताकत, जुनून और जज्बा है देश की खातिरगणतंत्र दिवस

भारत में हर साल 26 जनवरी (26 January) को गणतंत्र दिवस (Republic Day 2020) मनाया जाता है। इस दिन हमारा भारत का संविधान (Constitution Of India) लागू हुआ था। भारत को संविधान 26 जनवरी 1950 को मिला था, इसीलिए इस दिन गणतंत्र दिवस (Republic Day) मनाया जाता है। देशभक्ति का ये पर्व पूरा देश मिलकर मनाता है। देशभक्ति पर भारत में बहुत सी फिल्में बनी हैं। इन्हीं फिल्मों के कई सारे डायलॉग्स (Dialogues) हैं जो हमें प्रेरित करते हैं। गणतंत्र दिवस के इस मौके पर हम आपको ऐसे ही डायलॉग्स बता रहे हैं जो आप में जोश भर देंगे।


'उरी: द सर्जिकल स्ट्राइक' (Uri: The Surgical Strike)- 'ये नए जमाने का हिंदुस्तान है, ये घर मे घुसेगा भी और मारेगा भी'


'बेबी' (Baby)- 'रिलीजन वाला जो कॉलम होता है, उसमें हम बोल्ड और कैपिटल में इंडियन लिखते है'


'बॉर्डर' (Border) - 'अगर वे कहते हैं कि वे नाश्ता जैसलमेर में करेंगे और डिनर दिल्ली में तो मैं हम कहते हैं कि हम नाश्ता भी कराची में करेंगे और लंच भी'


'गदर एक प्रेम कथा' (Gader Ek Prem Katha)- 'हमारा हिंदुस्तान जिंदाबाद था, जिंदाबाद है और जिंदाबाद रहेगा'


'लक्ष्य' (Lakshya)- 'ये इंडियन आर्मी है, हम दुशमी में भी एक शराफत रखते है'


'रंग दे बसंती' (Rang De Basanti)- 'अब भी जिसका खून ना खौला, खून नहीं वो पानी है... जो देश के काम ना आए वो बेकार जवानी है'


'चक दे इंडिया' (Chak De! India) - 'आई कान्ट हियर नोर सी नेम आफ द स्टेट्स... आई कैन ओनली हियर वन कंट्री नेम इंडिया'


'इंडियन' (Indian)- 'चाहे हमें एक वक्त की रोटी न मिले, बदन पे कपडे़ न हो, सर पे छत न हो... लेकिन जब देश की आन की बात आती है तब हम जान की बाजी लगा देते हैं'


'मां तुझे सलाम' (Maa Tujhe Salaam) - 'तुम दूध मांगोगे हम खीर देगें... तुम कश्मीर मांगोगे हम चीर देगें'


'गर्व' (Garv)- 'मैं मौत को तकिया और कफन को चादर बनाकर ओढ़ता हूं'

Next Story
Top