Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली मेट्रो स्टेशन खुलने के बाद अब सिनेमाघरों को खोलने की मांग तेज, बोले- लाखों लोगों के पेट का सवाल

दिल्ली मेट्रो स्टेशन खुलने के बाद अब सिनेमाघरों को खोलने की मांग तेज हो गई है। लोगों का कहना है कि सिनेमाघर के कारण लाखों लोगों के पेट भरता है, इसलिए अब सरकार को इस बारे में फैसला लेना चाहिए।

उत्तरप्रदेश में 15 अक्टूबर से सिनेमा हॉल खोलने के लिए एडवाइजरी जारी
X
सिनेमाघर

दिल्ली मेट्रो की सर्विस अब 7 सितंबर से शुरू हो जाएंगी। इस खबर के बाद से महामारी कोरोना वायरस के कारण कई महीनों से बंद सिनेमाघरों को खोलने की मांग तेज हो गई है। सिनेमाघरों के मालिक, एंटरटेनमेंट कंपनियां और इससे जुड़ी तमाम कंपनी केंद्र सरकार से सिनेमाघरों को खोलने की मांग कर रही है। गौरतलब है कि कोरोना वायरस से लड़ने के लिए देशभर में 25 मार्च से लॉकडाउन का ऐलान किया गया। ये लॉकडाउन जून महीने से धीरे-धीरे तक खोला जा रहा है और एक के बाद एक चीजों को खोलने की मंजूरी दी जा रही है।

घरेलू हवाई यात्रा, मार्किट, शॉपिंग कॉम्प्लेक्स को खोलने की अनुमति दी थी। अब 'अनलॉक-4' में जारी दिशा-निर्देशों में मेट्रो को खोलने की मंजूरी दे दी गई है, लेकिन सिनेमाघरों को अभी भी बंद रखने के लिए कहा गया है। इसको लेकर लोगों का कहना है कि सिनेमाघर अर्थव्यवस्था के लिए बेहद जरूरी है। इससे लाखों लोगों का घर खर्च चलता है। अपनी मांग रखते हुए लोगों ने कहा कि ज्यादातर देशों में सिनेमाघरों को लगी पाबंदी हट गए है। ऐसे में केंद्र सरकार भी सिनेमाघरों को खोलने के बारे में विचार करें।


इस मांग को लेकर फिल्म निर्माता बोनी कपूर, प्रवीण डबास और शिबाशीष सरकार जैसे जाने-माने लोग भी सपोर्ट कर रहे है। आपको बता दें कि 25 मार्च से सिनेमाघर के द्वार अब तक बंद है। जिसके चलते फिल्म डायरेक्ट्स को ओटीटी प्लेटफॉर्म का सहारा लेना पड़ रहा है। लॉकडाउन के बाद ओटीटी प्लेटफॉर्म पर 'गुलाबो सिताबो', 'शकुंतला देवी', 'गुंजन सक्सेनाः द कारगिल गर्ल', 'सड़क 2' जैसी कई बड़ी फिल्में रिलीज की जा चुकी है। अगर अब भी सिनेमाघर नहीं खुले, तो आने वाले समय में अक्षय कुमार की फिल्म 'सूर्यवंशी' और रणवीर सिंह की फिल्म '83' भी ओटीटी पर स्ट्रीम की जाएगी।

Next Story