Breaking News
Top

झूलन गोस्वामी: मां को नहीं पसंद था इनका क्रिकेट खेलना, आज पूरे देश को है नाज

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jul 24 2017 3:43AM IST
झूलन गोस्वामी: मां को नहीं पसंद था इनका क्रिकेट खेलना, आज पूरे देश को है नाज

इंडिया ने महिला विश्व कप फाइनल तक का सफर तय किया इस सफर में खास कर झूलन गोस्वामी ने अपने बेहतरीन गेंदबाजी की बदौलत यादगार सफर बना दिया। झूलन ने विश्व कप के फाइनल में 10 ओवर के स्पैल में महज 23 रन देकर 3 विकेट झटक कर इंग्लैंड की कमर ही तोड़ दी थी।

झूलन को हर तरफ से तारीफ मिल रही है जिसकी वह हकदार है। झूलन ने अपनी आतिशी गेंदबाजी से हर उस इंसान का दिल जीत लिया है जिसे क्रिकेट से लगाव है।झूलन के घरवाले उन्हें बाबुल के नाम से बुलाते हैं।

इसे भी पढ़े:- वर्ल्ड कप जीत से पहले 'प्रभु' ने महिला क्रिकेटरों को दिया बड़ा तोहफा

झूलन की गेंदबाजी के मुरीद 'क्रिकेट के भगवान' का दर्जा हासिल कर चुके सचिन तेंदुलकर भी हुए और ट्वीट कर उनकी तारीफ की। वहीं, अपने ट्वीट को लेकर हमेशा चर्चित रहने वाले विरेंद्र सहवाग ने भी झूलन गोस्वामी की तारीफ

सचिन ने ट्वीट किया, 'झूलन आप ऐसे ही मजबूती से आगे बढ़ो। एक अच्छी पार्टनरशिप के बाद वाकई शानदार गेंदबाजी। अच्छी सोच। बता दें कि पर यह सफर इतना आसान नहीं था।

झूलन की बहन झुम्पा गोस्वामी ने बचपन के दिनों को याद करते हुए कहा, “झूलन को स्कूल जाना बिल्कुल नहीं पसंद था। क्रिकेट उसका जुनून था। कभी-कभी उसे क्रिकेट खेलने से रोकने के लिए मां उसे घर में बंद कर देती थी। लेकिन इससे वह रुकी नहीं। वह चुपचाप घर से निकलती और क्रिकेट खेलने फ्रेंड्स क्लब पहुंच जाती।

झूलन निशित गोस्वामी पश्चिम बंगाल के नादिया की रहने वाली है। उनका जन्म 25 नवम्बर 1982 को हुआ था। झूलन गोस्वामी का घर चकदाह रेलवे स्टेशन के करीब ही है, जिसे लालपुर के नाम से जानते है।

उनकी मां का नाम झरना तथा पिता का नाम निशित गोस्वामी है । उनके पिता इंडियन एयरलाइंस में कार्यरत हैं । झूलन के घरवाले उन्हें बाबुल के नाम से बुलाते हैं। झूलन को बचपन से ही क्रिकेट खेलना पसंद था।

 
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
interesting know about jhulan goswami

-Tags:#Women Cricket news#Jhulan Goswami
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo