Logo
Kuwait Fire Live: खाड़ी देश कुवैत के मंगफ इलाके में बुधवार को श्रमिक आवास सुविधा में आग लगने से 42 भारतीयों की मौत हो गई और 50 से अधिक लोग घायल हो गए। विदेश राज्यमंत्री कीर्तिवर्धन सिंह कुवैत गए हैं।

Kuwait Fire Live: खाड़ी देश कुवैत के मंगफ इलाके में बुधवार को एक श्रमिक आवास सुविधा में आग लगने से 42 भारतीयों की मौत हो गई और 50 से अधिक लोग घायल हो गए। विदेश राज्यमंत्री कीर्तिवर्धन सिंह गुरुवार को कुवैत पहुंच गए। अग्निकांड में जान गंवाने वाले भारतीयों के शव वापस लाने के लिए भारतीय वायुसेना का C-130J सुपर हरक्यूलिस ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट दिल्ली के पास हिंडन एयरबेस पर स्टैंड बाय पर है। हादसे में कई शव बुरी तरह जल चुके हैं, जिनकी पहचान के लिए डीएनए टेस्ट किया जाएगा।

विदेश राज्य मंत्री पहुंचे कुवैत
विदेश राज्य मंत्री कीर्ति वर्धन सिंह कुवैत पहुंचे और जाबेर अस्पताल में भर्ती छह घायल भारतीयों से मुलाकात की। भारतीय दूतावास, कुवैत ने बताया कि सभी सुरक्षित हैं। 

कीर्ति वर्धन सिंह ने कुवैत रवाना होने से पहले पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि हम कुवैत आग की घटना के पीड़ितों के साथ खड़े हैं, हम उनके प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हैं। हमने पीएम मोदी के साथ बैठक की और कल सुबह हम कुवैत जा रहे हैं। हम स्थिति और अस्पताल में भर्ती लोगों का जायजा लेंगे।"

Live Updates:

  • कीर्ति वर्धन सिंह ने कुवैत रवाना होने से पहले एयरपोर्ट पर पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि हमने कल शाम प्रधानमंत्री के साथ बैठक की। जैसे ही हम वहां पहुंचेंगे, स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। मौजूदा स्थिति यह है कि ज्यादातर पीड़ित झुलस गए हैं और कुछ शव इतने जल चुके हैं कि उनकी पहचान नहीं हो पा रही है। पीड़ितों की पहचान के लिए डीएनए टेस्ट किया जा रहा है। वायुसेना का एक विमान तैयार है। जैसे ही शवों की पहचान हो जाएगी, परिजनों को सूचित कर दिया जाएगा और हमारा वायुसेना का विमान शवों को वापस ले आएगा। कल रात हमारे पास जो नए आंकड़े आए, उनके अनुसार मृतकों की संख्या 48-49 है, इनमें से 42 या 43 भारतीय बताए जा रहे हैं।

  • गुरुवार को कुवैत के विदेश मंत्री अब्दुल्ला अली अल-याह्या ने विदेशी कर्मचारियों के आवास वाले अपार्टमेंट में लगी भीषण आग से प्रभावित भारतीयों को पूर्ण सहायता का आश्वासन दिया। इस त्रासदी में 49 लोगों की मौत हो गई, जिनमें लगभग 40 भारतीय शामिल हैं। मंत्री ने घटना की शीघ्र जांच का वादा किया। यह आश्वासन भारत के विदेश राज्य मंत्री कीर्ति वर्धन सिंह के साथ बैठक के दौरान दिया गया, जो राहत प्रयासों की निगरानी करने और घायलों से मिलने के लिए कुवैत में हैं।
  • कुवैत में भारतीय दूतावास ने कहा, “विदेश राज्य मंत्री कुवैत के विदेश मंत्री महामहिम अब्दुल्ला अली अल-याह्या से मुलाकात की। विदेश मंत्री याह्या ने दुखद घटना पर अपनी संवेदना व्यक्त की। उन्होंने चिकित्सा देखभाल, पार्थिव शरीर को शीघ्र वापस लाने और घटना की जांच करने के साथ ही पूरी मदद का आश्वासन दिया।”
  •  
  • केरल का एक व्यक्ति कुवैत में आग लगने की त्रासदी से बचकर निकल गया। उत्तरी केरल के त्रिक्कारिपुर के रहने वाले नलिनाक्षन आग लगने के समय तीसरी मंजिल के अपार्टमेंट में फंस गए थे। बचने के लिए वे पास की एक पानी की टंकी पर कूद गए। हालांकि उनकी पसलियां टूट गईं और वे घायल हो गए, लेकिन वे बच गए। आस-पास के रिश्तेदारों ने उन्हें ढूंढ़ लिया और उन्हें इलाज के लिए कुवैत के एक अस्पताल में ले गए। नलिनाक्षन के चाचा बालकृष्णन ने एक समाचार चैनल को बताया, "हमें बुधवार सुबह 11 बजे के आसपास यह चौंकाने वाली खबर मिली। वह पानी की टंकी पर कूद गया था, लेकिन हिल नहीं पा रहा था। हमारे रिश्तेदारों ने उसे ढूंढ़ लिया और तुरंत अस्पताल ले गए।" उन्होंने कहा कि परिवार नलिनाक्षन से फोन पर ज़्यादा बात नहीं कर पाया क्योंकि उसके मुँह से खून बह रहा था।
  •  तमिलनाडु के पांच लोगों की मौत तमिलनाडु के अल्पसंख्यक कल्याण और अनिवासी तमिल कल्याण मंत्री केएस मस्तान ने गुरुवार को कहा कि कुवैत अग्निकांड में तमिलनाडु के पांच लोगों की मौत हो गई है। मस्तान ने विदेश स्थित तमिल संघों से मिली जानकारी का हवाला देते हुए कहा कि मृतकों की पहचान करने में समय लगेगा।
  • कुवैत में भारतीय दूतावास ने कहा है कि 'सभी 6 घायल भारतीय सुरक्षित हैं। गुरुवार को राज्य मंत्री केवी सिंह द्वारा अस्पताल में घायल भारतीय से मुलाकात करने के बाद, कुवैत में भारतीय दूतावास ने कहा कि सभी घायल भारतीय खतरे से बाहर हैं और सुरक्षित हैं।
  • कांग्रेस ने कहा ने कहा कि मृतकों के परिवारों को 25 लाख रुपए दिए जाने चाहिए। उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रमुख अजय राय ने कहा, "यह बहुत दुखद घटना है। मैं अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं। भारतीय वहां काम करने गए थे और उनके साथ यह घटना घटी। शोक संतप्त परिवारों को कम से कम 25 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाना चाहिए। महंगाई के इस दौर में 2 लाख रुपए का कोई महत्व नहीं है। प्रत्येक परिवार के एक सदस्य को नौकरी दी जानी चाहिए ताकि वे अपने परिवार का भरण-पोषण कर सकें। अगर परिवार का कमाने वाला व्यक्ति मर जाता है, तो ऐसी दुखद घटना में पूरा परिवार टूट जाता है। 2 लाख रुपए का मुआवजा बहुत कम है..."
  • कुवैत में एम.टेक ग्रेजुएट और केमिकल इंजीनियर साजन जॉर्ज का परिवार चिंतित है, क्योंकि जॉर्ज से आग लगने के बाद से संपर्क नहीं हो पाया है। हालांकि उसके परिवार के लोग आधिकारिक पुष्टि का इंतजार कर रहे हैं।
  • कुवैती अधिकारी दक्षिणी कुवैत के मंगाफ में लगी भीषण आग में मारे गए लोगों के शवों का डीएनए परीक्षण कर रहे हैं। अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि भारतीय वायु सेना (IAF) का एक विमान मारे गए भारतीयों के शवों को वापस लाने के लिए तैयार है।
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश पर विदेश राज्य मंत्री कीर्ति वर्धन सिंह घायल भारतीयों की मदद करने और मारे गए लोगों के शवों की शीघ्र वापसी सुनिश्चित करने के लिए कुवैत गए हैं।अधिकारियों ने बताया कि अल-मंगाफ इमारत में 49 लोग मारे गए, जिनमें से 42 भारतीय थे। अन्य पाकिस्तान, फिलीपींस, मिस्र और नेपाल के थे। 

विदेश मंत्री जयशंकर ने कुवैत के विदेश मंत्री से बात की
विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कुवैत के विदेश मंत्री अब्दुल्ला अली अल-याह्या से बातचीत की और घटना में मारे गए लोगों के पार्थिव शरीर को जल्द से जल्द भारत भेजने का आग्रह किया। जयशंकर ने कहा कि उन्हें आश्वासन दिया गया है कि घटना की पूरी जांच की जाएगी। विदेश मंत्री ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर लिखा, "कुवैती विदेश मंत्री अब्दुल्ला अली अल-याह्या से कुवैत में आग लगने की घटना के बारे में बात की। इस संबंध में कुवैती अधिकारियों द्वारा की गई कोशिश से अवगत कराया। आश्वासन दिया गया कि घटना की पूरी जांच की जाएगी और जिम्मेदारी तय की जाएगी।" घटना में जान गंवाने वालों के पार्थिव शरीर को जल्द से जल्द भारत भेजने का आग्रह किया। उन्होंने (कुवैती विदेश मंत्री) इस बात पर जोर दिया कि घायलों को जरूरी इलाज की सुविधा मिल रही है।"

इन पांच अस्पतालों में भर्ती कराए गए हैं घायल
विदेश मंत्रालय के मुताबिक घायलों को कुवैत के पांच सरकारी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है और उनका इलाज जारी है। जिन अस्पतालों में घायलों को भर्ती कराया गया है उनके नाम अदन, जाबेर, फरवानिया, मुबारक अल कबीर और जाहरा अस्पताल। अस्पताल अधिकारियों के अनुसार, भर्ती किए गए अधिकांश लोगों की हालत स्थिर हैं।

विदेश मंत्रालय ने बुधवार रात एक बयान जारी कर बताया कि  " कुवैत स्थित भारतीय दूतावास संबंधित कुवैती अधिकारियों और कंपनी से पूरी जानकारी प्राप्त कर रहा है। हम शोक संतप्त परिवारों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं।"

भारतीय राजदूत ने किया अस्पताल का दौरा
कुवैत में भारत के राजदूत आदर्श स्वैका ने आग लगने की घटना के तुरंत बाद घटनास्थल और अस्पतालों का दौरा किया। विदेश मंत्रालय ने कहा, "दूतावास इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना में घायल हुए भारतीय नागरिकों की सहायता करने तथा उन्हें हर संभव सहायता प्रदान करने के लिए स्थानीय अधिकारियों के साथ समन्वय करना जारी रखेगा।" कुवैती अधिकारियों से दूतावास को पूरा सहयोग मिल रहा है।

भारतीय दूतावास ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश पर, विदेश राज्यमंत्री कीर्तिवर्धन सिंह इस अग्निकांड में मारे गए लोगों का शव जल्द भारत लाने और घायलों को इलाज की सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए स्थानीय अधिकारियों से बातचीत करेंगे। भारतीय दूतावास ने प्रभावित लोगों तक राहत पहुंचाने के लिए स्थानीय अधिकारियों के साथ संपर्क मे है। दूतावास ने परिवार के सदस्यों से संपर्क करने के लिए +965-65505246 (व्हाट्सएप और नियमित कॉल) हेल्पलाइन स्थापित की है, जिसके माध्यम से नियमित तौर पर अपडेट जारी किए जा रहे हैं।

पीएम मोदी ने बुलाई समीक्षा बैठक
कुवैत में आग की घटना की खबर आने के तुरंत बाद, प्रधानमंत्री मोदी ने एक समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की और मृतक भारतीय नागरिकों के परिवारों को प्रधानमंत्री राहत कोष से 2 लाख रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की। प्रधानमंत्री ने इस घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया और मृतकों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की। उन्होंने घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की और भारत सरकार की ओर से हर संभव सहायता का आश्वासन दिया।

बैठक में कौन कौन रहे मौजूद
प्रधानमंत्री कार्यालय के बयान के अनुसार, बैठक में विदेश मंत्री एस जयशंकर, विदेश राज्य मंत्री कीर्तिवर्धन सिंह, प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव प्रमोद कुमार मिश्रा, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, विदेश सचिव विनय क्वात्रा और अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

jindal steel Haryana Ad hbm ad
5379487