Logo
election banner
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जेल में इंसुलिन मुहैया कराने के लिए दिल्ली राउज एवेन्यू कोर्ट में याचिका दायर की। कोर्ट ने इस मामले में सुनवाई करते हुए आदेश सुरक्षित रख लिया है।

Arvind Kejriwal: तिहाड़ जेल में बंद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की सेहत को लेकर दिल्ली में सियासी घमासान मचा हुआ है। ईडी ने गुरुवार को दावा किया था कि अरविंद केजरीवाल अपना ब्लड शुगर लेवल बढ़ाने के लिए जानबूझकर आम, मिठाइयां खा रहे हैं और चाय के साथ चीनी ले रहे हैं। इसको लेकर ही आज शुक्रवार को सीएम केजरीवाल ने दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में एक याचिका दाखिल की। कोर्ट ने याचिका पर सुनवाई करते हुए अपना आदेश 22 अप्रैल तक सुरक्षित रख लिया है।

जेल में दी जाए इंसुलिन- केजरीवाल

दिल्ली के राउज एवेन्यू कोर्ट में दी अपनी याचिका में सीएम केजरीवाल ने जेल में इंसुलिन मुहैया कराने का अनुरोध किया है। केजरीवाल ने शुगर लेवल के लगातार ऊपर-नीचे होने का हवाला लेकर कोर्ट से नियमित रूप से अपने डॉक्टर से वर्चुअल परामर्श की अनुमति मांगी है। इस मामले में कोर्ट शुक्रवार दोपहर दो बजे सुनवाई हुई।

बता दें कि ईडी ने गुरुवार को राउज एवेन्यू कोर्ट को बताया था कि केजरीवाल टाइप-2 शुगर के मरीज हैं। इसके बावजूद वह जेल में हाई शुगर वाली चीजें खा रहे हैं। ईडी ने कोर्ट में दावा किया था कि केजरीवाल ब्लड शुगर लेवल में उतार-चढ़ाव का हवाला देकर जमानत के लिए आधार बनाना चाहते हैं।

कोर्ट ने जेल प्रशासन से मांगी रिपोर्ट

ईडी के आरोप के बाद कोर्ट ने तिहाड़ जेल से रिपोर्ट मांगी। कोर्ट ने जेल प्रशासन से केजरीवाल का डाइट चार्ट मांगा। जिसके बाद आज यह याचिका दाखिल की गई थी। 

ईडी के इन दावा के बाद बीजेपी और आप सामने-सामने आ गई। जहां बीजेपी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री को तिहाड़ जेल से हटाकर उत्तर प्रदेश के डासना जेल में शिफ्ट करने की मांग उठाई थी। वहीं, दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी ने ईडी के दावों को झूठा करार दिया।

आतिशी ने ईडी के दावों का बताया झूठा

वहीं, दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि भाजपा और पीएम मोदी अरविंद केजरीवाल के खिलाफ बड़ा षड्यंत्र रच रहे हैं। आतिशी ने कहा कि अरविंद केजरीवाल को 30 साल से शुगर की बीमारी है। रोज 54 यूनिट इंसुलिन लेते हैं। कोर्ट ने भी घर का खाना खाने की अनुमति दी है। ED और भाजपा उनका घर का खाना रोकना चाहती है। कोर्ट में ED ने मीठी चाय और मिठाई खाने की बात कही, जो सरासर झूठ है। ED का दूसरा झूठ कि वजन बढ़ाने के लिए केला खा रहे हैं। शुगर मरीजों को हमेशा टॉफी और केला अपने पास रखने को बोला जाता है। कोर्ट आर्डर में भी लिखा हुआ है।

jindal steel Ad
5379487