Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, गृह मंत्री अमित शाह के दौरे के दो दिन बाद बढ़ा तनाव

असम और मिजोर बॉर्डर पर सीमा विवाद को लेकर पुलिस और स्थानीय नागरिक आपस में भीड़ गए। जिसके बाद दोनों राज्यों के मुख्यमनंत्रियों ने ट्विटर पर एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाए।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, गृह मंत्री अमित शाह के दौरे के दो दिन बाद बढ़ा तनाव
X

असम और मिजोरम के बॉर्डरी (Assam-Mizoram border) इलाके पर सोमवार को जोरदार हिंसा भड़की। सीमा पर पुलिस और स्थानीय लोगों के बीच पत्थरबाजी भी हुई। दोनों राज्यों में बढ़ते मामले को देखते हुए गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) दोनों मुख्यमंत्रियों से इस विवाद का हल निकालने के लिए कहा गया है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, असम और मिजोर बॉर्डर पर सीमा विवाद को लेकर पुलिस और स्थानीय नागरिक आपस में भीड़ गए। जिसके बाद दोनों राज्यों के मुख्यमनंत्रियों ने ट्विटर पर एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाए। असम पुलिस ने कहा कि सीआरपीएफ की तरफ से कार्रवाई की गई। दोनों राज्यों से पुलिस को पीचे हटाने के बाद मामला शांत हुआ है। दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने इस मामले को लेकर अमित शाह को ट्वीट किया। मिजोरम के सीएम जोरामथांगा ने गृह मंत्री से मदद मांगी और इस हिंसा को तुरंत रोकने की अपील भी की। कांग्रेस ने निशाना भी साधा।

हाल ही में शिलांग में पूर्वोत्‍तर राज्‍यों के सभी मुख्‍यमंत्रियों के साथ केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मुलाकात की थी। मुलाकात के दो दिन बाद यह हिंसा की खबरे सामने आई हैं। मिजोरम के सीएम ने ट्वीट कर लिखा कि कृपया अमित शाह जी, इस मामले को देखें। इसे अभी रोके जाने की जरूरत है। इस ट्वीट के कुछ देर बाद ही असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने जवाब दिया कि मिजोरम में कोलासिब के एसपी हमें अपनी पोस्ट से हटने के लिए कह रहे हैं। ऐसी परिस्थितियों में हम सरकार कैसे चला सकते हैं।


जानकारी के लिए बता दें कि असम के कछार और हैलाकांडी जिले की सीमा पर दोनों राज्यों के स्थानीय लोग और पुलिस के बीच सीमा विवाद लेकर उपद्रवियों द्वारा कथित रूप से अतिक्रमण की गई भूमि को खाली कराने के असम पुलिस के अभियान के बीच हिंसा हुई। बीती 10 जुलाई और 11 जुलाई को भी इन्हें इलाकों में आईईजी फेंकने और दो विस्फोटों की आवाज को सुना गया था।

Next Story