Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

'रॉकेट फोर्स' करेगी मिसाइलों का सामना, पाक-चीन की चाल रह जाएगी धरी: सीडीएस बिपिन रावत

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत (Chief of Defense Staff Bipin Rawat) ने एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पाकिस्तान (Pakistan) को चीन (China) का प्रॉक्सी करार दिया है।

रॉकेट फोर्स करेगी मिसाइलों का सामना, पाक-चीन की चाल रह जाएगी धरी: सीडीएस बिपिन रावत
X

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS- सीडीएस) बिपिन रावत ने बीते बुधवार को कहा है कि भारत ने वायु क्षेत्र में अपनी शक्ति मजबूत करना शुरू कर दिया है। इसके तहत भारत (India) 'रॉकेट फोर्स' (Rocket Force) तैयार करने पर विचार कर रहा है। इसी के साथ पाकिस्तान और चीन (Pakistan and China) की चाल धरी की धरी रह जाएगी। 'रॉकेट फोर्स' मिसाइलों का सामना करेगी।

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत (Chief of Defense Staff Bipin Rawat) ने एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पाकिस्तान (Pakistan) को चीन (China) का प्रॉक्सी करार दिया है। साथ ही कहा है कि पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर में प्रॉक्सी वॉर (proxy war) जारी रखेगा और यह पंजाब (Punjab) और देश के अन्य हिस्सों में भी दिक्कतें पैदा करने का प्रयास कर रहा है।

उत्तरी सीमाओं पर चीन के आक्रामक रुख को रेखांकित करते उन्होंने कहा कि चाहे वह प्रत्यक्ष आक्रामकता हो या तकनीक (technology) के जरिए आक्रामकता हो, हमें हर स्थिति के लिए तैयार रहना होगा। हां ये तैयारी तभी संभव हो सकती है जब हम साथ काम करेंगे। आगे कहा कि कूटनीति (diplomacy), सूचना (information), सैन्य और आर्थिक कौशल (economic prowess) के बाद टेक्नोलॉजी को राष्ट्रीय शक्ति का 5वां स्तंभ माना जाना चाहिए।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि उन्होंने कहा हम रॉकेट फोर्स (rocket force) तैयार करने की तरफ देख रहे हैं। हालांकि अभी सीडीएस (CDS) ने इस योजना के बारे में विस्तृत जानकारी नहीं दी है। वहीं उन्होंने अफगानिस्तान (Afghanistan) की स्थिति को लेकर कहा कि किसी ने कभी ऐसा नहीं सोचा था कि तालिबान (Taliban) इतनी तेजी से अफगानिस्तान पर कब्जा कर लेगा। यह तो वक्त ही बताएगा कि आगे क्या होगा?

खबरों से मिली जानकारी के मुताबिक, इस मौके पर पूर्व रक्षा सचिव एनएन वोहरा (Former Defense Secretary NN Vohra) ने चीन (China) के साथ 1962 के युद्ध (1962 War) से संबंधित हेंडरसन ब्रुक्स रिपोर्ट (Henderson Brooks Report) को सार्वजनिक करने की अनुमति दिए जाने का आह्वान किया है।

Next Story