Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारत ने सबसे खतरनाक ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का किया सफल परीक्षण, जानें इसकी क्या हैं खासियतें

भारत ने आज अंडमान और निकोबार द्वीप समूह क्षेत्र से ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज़ मिसाइल के भूमि हमले वर्जन का सफल परीक्षण किया। यह परीक्षण भारतीय सेना द्वारा आयोजित किया गया था जिसमें डीआरडीओ के विकसित मिसाइल प्रणाली के कई रेजिमेंट मौजूद थे।

भारत ने सबसे खतरनाक ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज़ मिसाइल का किया सफल परीक्षण, 300-800 KM की दूरी पर हमला करने की क्षमता
X
ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल

भारत ने अपनी सबसे खतरनाक ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज़ मिसाइल के भूमि हमले वर्जन का सफल परीक्षण किया। सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का परीक्षण आज सुबह 10 बजे किया गया और इसने सफलतापूर्वक अपने लक्ष्य को हासिल किया। इस मिसाइल का परीक्षण अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के एक अन्य द्वीप कर किया गया।

यह परीक्षण भारतीय सेना द्वारा आयोजित किया गया था जिसमें डीआरडीओ द्वारा विकसित मिसाइल प्रणाली के कई रेजिमेंट मौजूद थे। मिसाइल अपने तय समय में इस द्वीप समूह के एक अन्य वीरान द्वीप पर लगाए गए टारगेट को ध्वस्त किया। भारतीय रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) की इस सफलता के लिए कई वैज्ञानिकों ने बधाई दिए हैं।

डीआरडीओ ने बताया कि ब्रह्मोस मिसाइल की स्ट्राइक रेंज बढ़ाकर 400 किलोमीटर कर दिया गया है। इस मिसाइल का लक्ष्य जमीन से जमीन पर मार करने वाली है। ब्रह्मोस मिसाइल 28 फीट लंबी है। इसका वजन 3000 किलोग्राम की है। इसमें 200 किलोग्राम के पारंपरिक और परमाणु हथियार लगाए जा सकते हैं।

यह 300 किलोमीटर से 800 किलोमीटर तक की दूरी पर बैठे दुश्मनों का खात्मा कर सकती है। इस मिसाइल की क्षमता 4300 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से हमला करने की है। यानी 1.20 किलोमीटर प्रति सेकेंड में अपने दुश्मनों को ढेर कर सकती है।

बता दें कि चीन से बढ़ते विवाद को देखते हुए भारत ने कई मिसाइलों, टॉरपीडो, एंटी-मिसाइल सिस्टम आदि का सफल परीक्षण किया है।

Priyanka Kumari

Priyanka Kumari

Jr. Sub Editor


Next Story