Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Gujarat News: हीरा कारोबारी के ठिकानों पर आयकर विभाग ने मारा छापा, 500 करोड़ की खरीद फरोख्त का नहीं मिला रिकॉर्ड

Gujarat News: इस दौरान 500 करोड़ से ज्यादा के खरीद फरोख्त का रिकॉर्ड नहीं मिला है। इस मामले में आयकर विभाग की कार्रवाई जारी है। इस छापेमारी में 1.95 करोड़ रुपये की नकदी और गहने बरामद किए गए है। इसके साथ ही 8900 कैरेट के हीरों का भंडार भी बरामद किया गया है। इसकी कीमत 10.98 करोड़ रुपये है।

Gujarat News: हीरा कारोबारी के ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी, 500 करोड़ की खरीद फरोख्त का नहीं मिला रिकॉर्ड
X

 हीरा कारोबारी के ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी

Gujarat News गुजरात में आज आयकर विभाग (Income Tax) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए अग्रणी हीरा निर्माता एवं निर्यातक (Diamond Businessman) के कई ठिकानों पर छापेमारी (Raid) की है। इस दौरान 500 करोड़ से ज्यादा के खरीद फरोख्त का रिकॉर्ड नहीं मिला है। इस मामले में आयकर विभाग की कार्रवाई जारी है। इस छापेमारी में 1.95 करोड़ रुपये की नकदी और गहने बरामद किए गए है। इसके साथ ही 8900 कैरेट के हीरों का भंडार भी बरामद किया गया है। इसकी कीमत 10.98 करोड़ रुपये है।

इस संबंध में सीबीडीटी (CBDT) ने कहा कि आंकड़ों के शुरुआती आकलन से यह पता चला कि समूह ने 518 करोड़ रुपये के छोटे व पॉलिश वाले हीरों की खरीद और बिक्री बिना हिसाब-किताब के की है। मालूम हो कि इस समूह का महाराष्ट्र के मुंबई और गुजरात के सूरत, नवसारी, मोरबी और वांकानेर (मोरबी) में टाइल उत्पादन का व्यवसाय भी है। मामले में बरामद की गई इन वस्तुओं का कोई लेखा जोखा नहीं है।

इतना ही नहीं, बड़ी संख्या में समूह के लॉकरों का भी पता लगाया गया है। आंकड़ों के मुताबिक, पिछले दो साल में इस कंपनी के माध्यम से 189 करोड़ रुपये की खरीद और 1040 करोड़ रुपये की बिक्री की गई है। आयकर विभाग ने कहा कि समूह बड़ी मात्रा में कच्चे डायमंड का आयात कर रहा था और हांगकांग में रजिस्टर्ड कंपनी के जरिए हीरों का निर्यात कर रहा था, जिसे प्रभावी रूप से भारत से ही नियंत्रित और प्रबंधित किया जाता है। उन्होंने बताया कि कारोबारी की एक डायरी भी मिली है। इस डायरी में 2,742 करोड़ रुपये के छोटे हीरों की बिक्री का हिसाब लिखा है। जिसे खरीदने में कैश का ज्यादा इस्तेमाल हुआ।

Next Story