Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Punjab Crisis: नवजोत सिंह सिद्धू बनेंगे पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष, कैप्टन तो हैं ही सीएम, जानें क्या है नया Formula

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि दोनों के आपसी मदभेद को खत्म करने के लिए बीच का रास्ता निकाल लिया गया है। दोनों नेता अपनी अपनी जगह पर अलग हैं।

Punjab Crisis: नवजोत सिंह सिद्धू बनेंगे पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष, कैप्टन तो हैं ही सीएम, जानें क्या है नया Formula
X

पंजाब कांग्रेस में अंदरूनी कलह को खत्म करने के लिए अब नया फॉर्मूला निकाला गया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि दोनों के आपसी मदभेद को खत्म करने के लिए बीच का रास्ता निकाल लिया गया है। अगले साल पंजाब में विधानसभा चुनाव भी हैं और साथ ही सिद्धू के आम आदमी पार्टी को लेकर दिए जा रहे बयान कहीं न कहीं नुकसान पहुंचा सकते हैं।

हरीश रावत ने फॉर्मूला बताते हुए कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह (captain amrinder singh) पंजाब के सीएम बने रहेंगे यानी चुनाव में उम्मीदवार भी बनाए जाएंगे। तो वहीं नवजोत सिंह सिद्धू (navjot singh sidhu) को पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया जाएगा। यहीं फॉर्मूला विधानसभा चुनाव के लिए जीत का फॉर्मूला होगा।

कांग्रेस आलाकमान से हुई दोनों नेताओं की मुलाकात

अभी हाल ही में कांग्रेस आलाकमान से मुलाकात हुई थी। सिद्धू ने राहुल और प्रियंका तो वहीं कैप्टन ने सोनिया गांधी से बीते दिनों दिल्ली में मुलाकात की थी। इसके बाद चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और के.सी वेणुगोपाल से मुलाकात की थी। संभावना है कि इन मुलाकातों के दौरान ही पंजाब में पार्टी ने अंदरूनी कलह को खत्म करने का फॉर्मूला निकाल लिया था।

पीके ने बताई पंजाब चुनाव पर धुरंधरों की अहमियत

बता दें कि पीके ने मुलाकात के दौरान दोनों धुरंधरों की पार्टी को अहमियत बताई और साथ ही राहुल गांधी को इससे अवगत करवाया। सूत्रों के अनुसार, दोनों के बीच सुलह का ये रास्ता सोनिया गांधी की प्रशांत किशोर से हुई मुलाकात के बाद लिया गया। प्रशांत ने पंजाब की जमीनी स्थिति के बारे में कांग्रेस आलाकमान को अवगत करवाया। ऐसे में पार्टी अगर दोनों में से किसी नेता को नराज करती है, तो इसका खामियाजा कांग्रेस को भुगतना होगा।

Next Story