Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भुवनेश्वर में अमित शाह ने सीएए को लेकर कांग्रेस, ममता, सपा और बसपा पर साधा निशाना, दिया बड़ा बयान

अमित शाह ने कहा कि मैं लोकसभा चुनाव के बाद पहली बार ओडिशा आया हूं। मैं भाजपा की तरफ से आपको धन्यवाद देता हूं कि आपने 8 सीटों पर विजय देकर 21 प्रतिशत जो पहले वोट मिला था इसकी जगह 38.4 प्रतिशत वोट देकर हमारे नेता मोदी जी का आपने समर्थन किया है।

भुवनेश्वर में अमित शाह ने सीएए को लेकर कांग्रेस, ममता, सपा और बसपा पर साधा निशाना, दिया बड़ा बयानअमित शाह

केंद्रीय गृहमंत्री ने शुक्रवार को ओडिशा के भुवनेश्वर में एक पब्लिक मीटिंग को संबोधित किया। इस दौरान अमित शाह ने कहा कि मैं आज सभी ओडिशा वासियों को बताना चाहता हूं कि मैं 5 साल तक पार्टी अध्यक्ष रहा हूं, अनेक बार ओडिशा आया हूं और यहां के अनेक नगरों में घुमा हूं और कार्यकर्ताओं से मिला हूं। कभी भी ओड़िशा मुझे गुजरात से अलग नहीं लगा, मुझे अपना दूसरा घर लगा।

अमित शाह ने कहा कि मैं लोकसभा चुनाव के बाद पहली बार ओडिशा आया हूं। मैं भाजपा की तरफ से आपको धन्यवाद देता हूं कि आपने 8 सीटों पर विजय देकर 21 प्रतिशत जो पहले वोट मिला था इसकी जगह 38.4 प्रतिशत वोट देकर हमारे नेता मोदी जी का आपने समर्थन किया है।

विधानसभा में बैठकर ओडिशा की जनता की आवाज बना

इतने वर्षों की यात्रा में यहां कांग्रेस पार्टी पहली बार मुख्य विपक्षी दल से नीचे उतरी और भाजपा का हमारा कार्यकर्ता आज विपक्ष के नेता के रूप में विधानसभा में बैठकर ओडिशा की जनता की आवाज बना है।

मैं आपको मोदी जी के प्रतिनिधि के नाते विश्वास दिलाने आया हूं कि पूर्व का पिछड़ा क्षेत्र और विशेषकर ये उत्कल राज्य सबसे अच्छा राज्य बने, इस दिशा में हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

सीएए नागरिकता देने का कानून

अमित शाह ने आगे कहा कि मोदी जी ने अपने दूसरे कार्यकाल में एक बहुत बड़ी योजना लाए हैं। 2024 तक देश के हर घर में नल से स्वच्छ पीने का

पानी पहुंचाना है। इस योजना का सबसे बड़ा फायदा अगर किसी राज्य हो हाने वाला है तो वो ओडिशा है।

कांग्रेस, ममता दीदी, सपा, बसपा ये सारे लोग सीएए का विरोध कर रहे हैं। ये कह रहे हैं कि इससे अल्पसंख्यकों के नागरिक अधिकार चले जाएंगे। अरे

इतना झूठ क्यों बोलते हो।

मैं आज फिर से यहां कहना चाहता हूं कि सीएए से देश के एक भी मुसलमान, एक भी अल्पसंख्यक का नागरिकता अधिकार नहीं जाने वाला है। सीएए

नागरिकता लेने का कानून है ही नहीं, बल्कि नागरिकता देने का कानून है।

Next Story
Top