Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अकाली दल और BSP के बीच हुआ गठबंधन, सुखबीर बादल बोले- पंजाब की राजनीति में नया दिन

एसएडी और बीएसपी साल 2022 में बोने वाला पंजाब विधानसभा चुनाव और भविष्य के चुनाव एकसाथ मिलकर लड़ेंगे। 

अकाली दल और BSP के बीच हुआ गठबंधन, सुखबीर बादल बोले- पंजाब की राजनीति में नया दिन
X

देश के कई राज्यों में अगले साल यानी 2022 में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। इन चुनावों को लेकर सियासी सरगर्मियां अभी से महसूस की जा सकती हैं। एक तरफ जहां सत्ता में होने के बावजूद कांग्रेस पार्टी में संग्राम चल रहा है, वहीं दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) से अलग होने के बाद शिरोमणि अकाली दल ने पंजाब में अपना नया साथी ढूंढ लिया है। अब शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) आने वाला विधानसभा चुनाव एकसाथ मिलकर लड़ेंगे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर बादल का कहना है कि यह पंजाब की राजनीति में एक नया दिन है। एसएडी और बीएसपी साल 2022 में बोने वाला पंजाब विधानसभा चुनाव और भविष्य के चुनाव एकसाथ मिलकर लड़ेंगे।

बसपा सांसद सतीश मिश्रा ने कहा है कि हम कांग्रेस के नेतृत्व में भ्रष्टाचार और घोटालों को खत्म करने के लिए काम करेंगे। वर्तमान सरकार दलित और किसान विरोधी है, जबकि हम सबके कल्याण और विकास के लिए काम करेंगे। आगे कहा कि यह एक ऐतिहासिक दिन है क्योंकि शिरोमणि अकाली दल के साथ गठबंधन किया गया है, जो पंजाब की सबसे बड़ी पार्टी है। 1996 में बसपा और एसएडी दोनों ने संयुक्त रूप से लोकसभा चुनाव लड़ा और 13 में से 11 सीटों पर जीत हासिल की। इस बार नहीं टूटेगा गठबंधन। शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने बताया कि 117 सीटों में से बहुजन समाज पार्टी (बसपा) 20 सीटों पर और शिरोमणि अकाली दल शेष 97 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि इन दिनों पंजाब की राजनीति में जबरदस्त हलचल मची हुई है। ऐसा लग रहा है कि पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह चौतरफा घिर गए हैं। एक तरफ नवजोत सिंह सिद्धू ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल रखा है तो दूसरी तरफ शिरोमणि अकाली दल के चीफ सुखबीर सिंह बादल उन्हें चकमा देने के फिराक में लगे हुए हैं। दरअसल एसएडी और बीएसपी के बीच पंजाब में एक साथ चुनाव लड़ने को लेकर बात बन गई है। अब राज्य में कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

Next Story