Logo
Pune Porsche Accident: पुणे हिट एंड रन केस में रोज़ नई जानकारियाँ सामने आ रही हैं। नाबालिग आरोपी वर्तमान में बाल सुधार गृह में है और उसके पिता पुणे पुलिस की कस्टडी में हैं। इस बीच, शिवसेना के एक नेता ने नाबालिग के दादा को लेकर बड़ा खुलासा किया है।

Pune Porsche Accident:पुणे हिट एंड रन केस में रोज़ नई जानकारियां सामने आ रही हैं। नाबालिग आरोपी वर्तमान में बाल सुधार गृह में है और उसके पिता पुणे पुलिस की कस्टडी में हैं। इस बीच, शिवसेना के एक नेता ने नाबालिग के दादा को लेकर बड़ा खुलासा किया है। नाबालिग आरोपी के दादा का नाम सुरेंद्र अग्रवाल है। पूर्व पार्षद ने आरोप लगाया है कि नाबालिग के दादा के अंडरवर्ल्ड से संबंध थे। उन्होंने दावा किया कि 15 साल पहले नाबालिग के दादा ने एक अंडरवर्ल्ड गैंगस्टर की हत्या की सुपारी दी थी। इस बीच नाबालिग आरोपी को 5 जून तक सुधार गृह भेज दिया गया।

नाबालिग आरोपी को 5 जून तक सुधार गृह भेजा गया
 नाबालिग आरोपी के वकील प्रशांत पाटिल ने गुरुवार को बताया कि  (चाइल्ड इन कॉनफ्लिक्ट ऑफ लॉ(CCL)) को जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड के सामने पेश किया गया। जांच एजेंसी ने इस मामले में रिव्यू पीटिशन फाइल की थी। इस याचिका को आरोपी की जमानत याचिका खारिज करने की मांग की गई थी। इस याचिका पर दोनों पक्षों ने अपनी दलील दी। अभी सीसीएल को 5 जून तक रिहैबिलेशन होम में रखने का भेजा गया है। इसके साथ ही इन 15 दिनों में क्या करना है कि इसका पैरामीटर सेट किया गया है। अभी ऑर्डर हमारे हाथ में नहीं आया है। 

नाबालिग आरोपी के दादा सुरेंद्र अग्रवाल से भी हुई पूछताछ
नाबालिग आरोपी के दादा का नाम सुरेंद्र अग्रवाल है। पुलिस ने गुरुवार को सुरेंद्र अग्रवाल से 2008 में हुई एक फायरिंग के मामले में पूछताछ की। दरअसल, यह मामला बिल्कुल एक्सिडेंट केस  से अलग है। हालांकि, एक्सीडेंट केस के बाद जब पुलिस ने गुत्थियां सुलझानी शुरू की तो पता चला कि नाबालिग आरोपी के दादा पर भी एक मामला दर्ज है। 

19 मई के तड़के हुआ था हादसा
पुणे के कल्याणी नगर में रविवार 19 मई के तड़के नाबालिक आरोपी ने पोर्शे कार से मोटरसाइकिल पर जा रहे दो सॉफ्टवेयर इंजीनियरों को कुचल दिया। हादसे में दोनों इंजीनियर्स की मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस के मुताबिक, नाबालिग नशे की हालत में कार चला रहा था। नाबालिग आरोपी के पिता का नाम विशाल अग्रवाल (50) है, जो कि एक रियल एस्टेट डेवलपर है। नाबालिग आरोपी के दादा भी इसी उद्योग में हैं। 

नाबालिग आरोपी के दादा पर लगे आरोप
2009 में वडगांव शेरी विधानसभा क्षेत्र से शिवसेना के उम्मीदवार अजय भोसले ने गुरुवार को दावा किया कि नाबालिग के दादा ने उन पर अंडरवर्ल्ड के गैंगस्टर छोटा राजन के जरिए हमला करवाने की कोशिश की थी। भोसले पर हमले के दौरान उनके कार चालक शकील सैय्यद को गोली लगी थी। जिस समय उन पर हमला हुआ वचह चुनाव प्रचार करके घर लाैट रहे थे। 

छोटा राजन से हैं नाबालिग आरोपी के दादा के संबंध
इस मामले की जांच फिलहाल सीबीआई कर रही है। सीबीआई ने पोर्शे हिट एंड रन केस के नाबालिग आरोपी के दादा को इस मामले में आरोपी संख्या छह के रूप में नामित किया है। जबकि छोटा राजन को आरोपी संख्या तीन बनाया गया है। अदालत के आदेशों के अनुसार, आरोपी संख्या छह और उसके भाई के बीच संपत्ति विवाद था। आरोपी ने अपने भाई को मनाने के लिए छोटा राजन के गुर्गे विजय सालवी की मदद मांगी थी।

नाबालिग आरोपी के दादा ने दी थी मेरी हत्या की 'सुपारी'
भोसले ने एक मराठी टेलीविजन चैनल से बातचीत में दावा किया कि नाबालिग के दादा ने छोटा राजन को फोन करके उन्हें खत्म करने की सुपारी दी थी। भोसले ने कहा, "मुझ पर हुए हमले का प्रमुख आरोपी पोर्शे हिट एंड रन केस के नाबालिग आरोपी का दादा ही है। उसके दादा ने ही छोटा राजन को मेरी हत्या करने की सुपारी दी थी।उसे गिरफ्तार किया जाना चाहिए था, लेकिन अभी तक उसे अरेस्ट नहीं किया गया है।

क्राइम ब्रांच की कार्रवाई
पुणे क्राइम ब्रांच ने पोर्शे कार दुर्घटना मामले में नाबालिग के दादा से गुरुवार को पूछताछ की। पुलिस के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। मामले की जांच जारी है और नई जानकारियों के सामने आने की उम्मीद है। फिलहाल नाबालिग को बालिग मानकर मामला चलाने की अपील की गई है। कोर्ट ने इस पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है। अगली सुनवाई में इस पर फैसला लिया जाएगा। 

jindal steel Ad
5379487