Logo
Bengaluru Rameshwaram Cafe Blast: पुलिस को एक सीसीटीवी फुटेज मिला था, जिसमें कैफे के भीतर एक बैग रखते हुए एक संदिग्ध दिखा था। अब तक की पुलिस जांच से सामने आया है कि टाइमर के साथ एक आईईडी डिवाइस का इस्तेमाल विस्फोट में किया गया था।

Bengaluru Rameshwaram Cafe Blast: गृह मंत्रालय ने बेंगलुरु के रामेश्वरम कैफे विस्फोट की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) को सौंप दी है। एनआईए ने मोर्चा संभाल लिया है। मामले को फिर से दर्ज किया है और जांच शुरू कर दी है। विस्फोट के बाद एनआईए ने घटनास्थल का दौरा किया था। 

एक मार्च को हुआ था विस्फोट
बेंगलुरु के व्हाइटफील्ड इलाके में स्थित फेमस द रामेश्वरम कैफे में 1 मार्च को विस्फोट हुआ था। यह धमाका उस वक्त किया गया, जब दोपहर के वक्त भीड़ ज्यादा थी। दो कर्मियों समेत 9 लोग घायल हुए थे। बेंगलुरु पुलिस ने कैफे में विस्फोट के संबंध में कड़े गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम और विस्फोटक पदार्थ अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया था।

पुलिस को एक सीसीटीवी फुटेज मिला था, जिसमें कैफे के भीतर एक बैग रखते हुए एक संदिग्ध दिखा था। अब तक की पुलिस जांच से सामने आया है कि टाइमर के साथ एक आईईडी डिवाइस का इस्तेमाल विस्फोट में किया गया था।

Bengaluru Rameshwaram Cafe Blast:
Bengaluru Rameshwaram Cafe Blast

गृह मंत्री का दावा- आरोपी को जल्द गिरफ्तार कर लेंगे 
कर्नाटक के गृह मंत्री जी परमेश्वर ने आश्वासन दिया था कि संदिग्ध को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा था कि हम अपनी जांच जारी रख रहे हैं। 8 टीमों का गठन किया गया है और सभी अलग-अलग दिशाओं में काम कर रहे हैं और विभिन्न पहलुओं को देख रहे हैं। हमने कई सीसीटीवी फुटेज एकत्र किए हैं। उन्होंने विपक्ष से जांच में सहयोग की अपील की थी। कहा था कि हमारा सहयोग करे और इसे राजनीतिक मुद्दा न बनाए। हमें नहीं पता कि मंगलुरु विस्फोट से इसका कोई संबंध है या नहीं। हालांकि दोनों मामलों में तरीका एक ही है। 

डिप्टी सीएम डीके शिवकुमार ने कहा कि एक युवक कैफे में आया और एक छोटा बैग रखकर चला गया। वह एक घंटे बाद फट गया। घटना की जांच के लिए 7-8 टीमें गठित की गईं। 

CH Govt jindal steel Haryana Ad hbm ad
5379487