Logo
election banner
Bengaluru Rameshwaram Cafe blast: बेंगलुरु के ब्रुकफील्ड इलाके स्थित रामेश्वरम कैफे में शुक्रवार को धमाके में नौ लोग घायल हो गए। कर्नाटक के सीएम सिद्धरामैया ने शुक्रवार को बताया कि एक अनजान शख्स कैफे में बैग छोड़ गया था जिसमें IED था। इसी बैग में धमाका हुआ।

Bengaluru Rameshwaram Cafe blast: बेंगलुरु के ब्रुकफील्ड इलाके में एक कैफे में शुक्रवार दोपहर हुए बम विस्फोट में नौ लोग घायल हो गए। कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा है कि सीसीटीवी फुटेज में एक व्यक्ति कैफे के अंदर बैग रखते हुए नजर आया है। कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया के बयान के अनुसार,  विस्फोट एक इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) के कारण हुआ। यह विस्फोट एक अनजान शख्स एक बैग में लेकर कैफे पहुंचा था और बाद में उसे वहीं छोड़कर बाहर निकल गया। 

मुख्यमंत्री सिद्धारामैया ने X पर दी जानकारी
सिद्धारमैया ने कहा है कि सीसीटीवी फुटेज में एक व्यक्ति को रामेश्वरम कैफे परिसर के अंदर एक बैग रखते हुए देखा गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह कोई भारी विस्फोटक नहीं था, बल्कि इसे सुधारा गया था। सिद्धारमैया ने X पर कहा, "यह बताया गया है कि जिस व्यक्ति ने कैशियर से टोकन लिया था और वहां नाश्ता किया था, उसने बैग छोड़ दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि  घटना के बारे में में कैशियर से जांच की जा रही है।

घायलों में दो कर्मचारी और सात ग्राहक शामिल
प्रारंभिक रिपोर्टों के अनुसार, विस्फोट दोपहर करीब 1 बजे हुआ, जिससे कैफे परिसर के भीतर और आसपास काला धुआं फैल गया। पुलिस महानिदेशक ने कहा कि वे बैग में मौजूद सामग्री का पता लगाने के लिए फोरेंसिक टीम के विश्लेषण का इंतजार किया जा रहा है। विस्फोट में कम से कम नौ लोग घायल हो गए, जिन्हें इलाज के लिए विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। अफसरों के मुताबिक, घायलों में दो कर्मचारी और सात ग्राहक शामिल हैं। 

ब्रुकफील्ड अस्पताल के डॉ. प्रदीप कुमार ने क्या कहा
गंभीर रूप से घायल लोगों में वह महिला भी शामिल है जो बैग के पास बैठी थी। कर्नाटक फायर एवं इमरजेंसी डिपार्टमेंट के निदेशक ने  बताया कि अस्पताल में सभी घायलों का इलाज किया जा रहा है। ब्रुकफील्ड अस्पताल के डॉ. प्रदीप कुमार ने बताया कि तीन घायल लोगों को यहां लाया गया है। इनमें एक महिला की उम्र 40-45 साल के बीच है, जबकि बाकी दो की उम्र 25 साल है। महिला फिलहाल आईसीयू में है और उसकी हालत गंभीर है, जबकि अन्य की हालत स्थिर है। तीनों के कान के पर्दे को नुकसान पहुंचा है, लेकिन जान को खतरा नहीं है।

पुलिस ने की इलाके की घेराबंदी
भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या ने कहा कि कैफे के मालिक ने उन्हें बताया कि विस्फोट एक ग्राहक द्वारा छोड़े गए बैग के कारण हुआ। तेजस्वी सूर्या ने कहा, "यह बम विस्फोट का स्पष्ट मामला लगता है। विस्फोट का सटीक कारण पता करने के लिए बम निरोधक इकाइयां और फोरेंसिक टीमें फिलहाल मौके पर हैं। पुलिस द्वारा विस्फोट की जांच के चलते इलाके की घेराबंदी कर दी गई है।

प्रत्यक्षदर्शी ने बताई पूरी कहानी
शुरुआत में यह संदेह जताया गया कि विस्फोट गैस रिसाव के कारण हुआ। हालांकि, घटनास्थल पर एक छोटा बैग मिलने के बाद अग्निशमन विभाग ने इस संभावना से इनकार कर दिया। एक अफसर ने बताया कि  बैग एक महिला के पीछे रखा था जो 6 दूसरे ग्राहकों के साथ कैफे के अंदर बैठी थी। एक प्रत्यक्षदर्शी एडिसन ने मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि, "मैं कैफे के बाहर अपनी बारी का इंतजार कर रहा था, तभी अचानक एक जोरदार आवाज सुनाई दी। हम डर गए, न जाने यह क्या था। जिस समय कैफे में धमाका हुआ वहां  लगभग 35-40 लोग बैठे थे। 

सीसीटीवी फुटेज भी आया सामने
बेंगलुरु के रामेश्वरम कैफे के एसीसीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है। इसमें देखा जा सकता है कि विस्फोट ने पूरे परिसर को दहला दिया। विस्फोट से पहले काउंटर के चारों ओर लगे सर्वरों के कैमरे की स्क्रीन धुएं के गुबार के कारण सफेद हो गई।  घायल व्यक्तियों में 19 वर्षीय होटल स्टाफ सदस्य फारूक, अमेजन कंपनी के 23 वर्षीय कर्मचारी दीपांशु; 41 वर्षीय मोहन, 35 वर्षीया नागाश्री, 30 वर्षीया मोमी, 31 वर्षीय बलराम कृष्णन, 25 वर्षीया नव्या, 67 वर्षीय श्रीनिवास और 49 वर्ष की स्वर्णम्बा है  जो  कि 40 प्रतिशत जल गई है। 

मौके से संदिग्ध आईडी कार्ड भी मिले
कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में व्हाइटफील्ड स्थित फेमस द रामेश्वरम कैफे में शुक्रवार दोपहर अचानक विस्फोट हुआ। यह विस्फोट उस वक्त हुआ, जब होटल में काफी भीड़ थी। इस घटना में एक महिला समेत 9 लोग घायल हो गए। घायलों को अस्पताल भेजा गया है। धमाके की सूचना पाकर पुलिस, एफएसएल और फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंची । सूचना के मुताबिक, विस्फोट कैफे की रसोई में हुआ। इससे कैफे को काफी नुकसान पहुंचा है। मौके से कुछ संदिग्ध आईडी कार्ड भी बरामद हुए हैं। 

शुरुआत में सिलेंडर विस्फोट पुलिस ने माना
व्हाइटफील्ड फायर स्टेशन के अधिकारियों ने शुरुआत में कहा कि हमें फोन आया था कि रमेश्वरम कैफे में सिलेंडर विस्फोट हुआ है। हालांकि विस्फोट के सटीक कारण की पुष्टि नहीं हो पाई है। ऐसे में इस रहस्यमयी विस्फोट की घटना की जांच पहले से ही तेज कर दी गई है। घायलों का इलाज बेंगलुरु शहर के विभिन्न अस्पतालों में किया जा रहा है। 

धमाके से सहम उठे आसपास के लोग
धमाका इतना तेज था कि होटल का सारा सामान बिखर गया। धमाके की आवाज दूर तक सुनी गई। पड़ोसी दुकानों, फ्रंट ऑफिस और कार्यालयों के लोग मौके पर दौड़े। विस्फोट के कारण आग लगने पर फायर ब्रिगेड मौके पर पहुंची और आग बुझाने में जुट गई। स्थानीय पुलिस भी मौके पर पहुंची और घायलों को बचाने और भीड़ को तितर-बितर करने में जुट गई। वहीं, होटल के पास भीड़ जमा होने से रोकने के लिए पुलिस ने बैरिकेडिंग की है। धमाका सुनकर प्रत्यक्षदर्शी सहम गए। विस्फोट का कारण अभी तक पता नहीं चल पाया है। पुलिस घटनास्थल पर कानून-व्यवस्था बनाए रखने के साथ-साथ विस्फोट के कारणों की जांच में भी जुटी हुई है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे हैं।

आईडी कार्ड की पहचान की जा रही
पुलिस अधिकारियों ने इस विस्फोट के कारणों का पता लगाने के लिए कई एंगल से जांच करने का निर्णय लिया है। फोरेंसिक विशेषज्ञों की एक टीम मौके पर पहुंची। वहीं, पुलिस स्थानीय लोगों से जानकारी जुटा रही है। व्हाइट फील्ड, इंदिरा नगर और एचएलएल थाने की पुलिस भी मौके पर है। धमाके वाली जगह पर कुछ आईडी कार्ड भी मिले हैं। आईडी कार्ड की पहचान की जा रही है। 

भाजपा सांसद ने विस्फोट को रहस्यमी बताया
बेंगलुरु सेंट्रल से भाजपा सांसद पीसी मोहन ने विस्फोट को रहस्यमी बताया है। उन्होंने सोशल मीडिया पोस्ट में लिखा कि रामेश्वरम कैफे में रहस्यमय विस्फोट के बारे में सुनकर चिंतित हूं। मेरी संवेदनाएं प्रभावित व्यक्तियों और उनके परिवारों के साथ हैं। अधिकारियों से जांच करने और सभी नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का आग्रह है। 

5379487