Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ऑफिस भी होता है परिवार, पीठ पीछे ना करें बुराई- रखें इन 5 बातों का ध्यान

ऑफिस में काम के बारे में कुलीग्स से बातचीत करनी ही पड़ती है। लेकिन कुछ महिलाएं अपने कुलीग्स से खूब बातें करती हैं। कई बार बातचीत, गॉसिप में भी बदल जाती है। ऐसा करने से ऑफिस में इमेज खराब होती ही है, साथ ही कई कुलीग्स इस आदत का गलत फायदा भी उठाते हैं।

ऑफिस भी होता है परिवार, पीठ पीछे ना करें बुराई- रखें इन 5 बातों का ध्यान
X

करियर में सफलता पाने के लिए आपका वर्कप्लेस बिहेवियर भी बहुत मायने रखता है। अगर आपके बिहेवियर में कुछ नेगेटिविटी मौजूद है तो उसमें जरूरी बदलाव करके अपनी सक्सेस की राह को आसान बना सकती हैं। आज महिलाएं मेहनत और लगन से हर क्षेत्र में अपनी उपस्थिति दर्ज करवा रही हैं, सफलता के नए मुकाम हासिल कर रही हैं। लेकिन लंबे समय तक वर्क फील्ड में एक्टिव रहने के बाद भी कुछ महिलाएं करियर में सफलता हासिल नहीं कर पातीं। दरअसल, इसके पीछे उनकी कुछ आदतें जिम्मेदार होती हैं। जिसकी वजह से प्रोफेशनल लाइफ पर नेगेटिव इफेक्ट पड़ता है। अगर आप चाहें तो करियर में बाधा बनने वाली इन आदतों को आसानी से बदला जा सकता है।

गॉसिप करना

ऑफिस में काम के बारे में कुलीग्स से बातचीत करनी ही पड़ती है। लेकिन कुछ महिलाएं अपने कुलीग्स से खूब बातें करती हैं। कई बार बातचीत, गॉसिप में भी बदल जाती है। ऐसा करने से ऑफिस में इमेज खराब होती ही है, साथ ही कई कुलीग्स इस आदत का गलत फायदा भी उठाते हैं। कहने का मतलब है कि गॉसिप करने की आदत करियर को आगे बढ़ाने में बाधा बनती है। ऐसे में इस आदत को दूर करें और अपने काम पर फोकस करें।

काम को इग्नोर करना

ऑफिस में काम को ही प्रॉयोरिटी देने से ही सफलता मिलती है। लेकिन कुछ महिलाएं ऑफिस में काम करने के बजाय फोन, मैसेज या सोशल मीडिया पर ज्यादा एक्टिव रहती हैं। यह सभी आदतें करियर में बाधा बनती हैं। हर वक्त सोशल मीडिया या फोन पर बिजी रहने की वजह से सीनियर ऐसे एंप्लॉइज को काम को लेकर सीरियस नहीं पाते हैं। जिसके कारण उनका करियर ग्राफ नीचे गिरता चला जाता है। इसलिए ऑफिस में अपना टाइम सोशल मीडिया पर बर्बाद न करें, सिर्फ बेहद जरूरी कॉल्स या मैसेज का ही जवाब दें।

गलती न स्वीकारना

अगर आप ऑफिस के किसी प्रोजेक्ट में शामिल हैं लेकिन उम्मीद के हिसाब से उतनी सफलता नहीं मिलती है तो ऐसे में गलती स्वीकार करने में हिचकिचाएं नहीं। साथ ही कोशिश करें कि प्रोजेक्ट में आपसे जो गल्तियां हुई हैं, वो दोबारा न हों। लेकिन कुछ महिलाएं गलती होने पर भी उसे दूसरों पर डालने की कोशिश करती हैं, ऐसा करने से सीनियर उन्हें जिम्मेदार नहीं समझते। लेकिन दोबारा मौका पाने के लिए, आगे बढ़ने के लिए अपनी गलती दूसरों पर डालने की बजाय बेहद शालीनता के साथ बॉस के सामने उसे एक्सेप्ट करें। इससे उनका विश्वास आप पर बना रहेगा। इन सभी आदतों को बदलकर, आप अपने अंदर पॉजिटिव चेंज ला सकती हैं, काम पर फोकस कर सकती हैं और करियर में आगे बढ़ सकती हैं।

ओवर ड्रेसिंग

ऑफिस में काम के साथ-साथ आपके लुक को भी नोटिस किया जाता है, इससे आपका प्रोफेशनलिज्म नजर आता है। लेकिन ड्रेसिंग, ओवर ड्रेसिंग के बीच का डिफरेंस समझना जरूरी है। ऑफिस जाते समय उसके डेकोरम पर पूरा ध्यान दें। अगर ऑफिस में ड्रेस कोड है तो उसे फॉलो करें। अगर ड्रेस कोड नहीं है तो भी रिप्ड जींस या बेहद शॉर्ट ड्रेसेस न पहनें। साथ ही एसेसरीज, मेकअप या परफ्यूम का जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल भी न करें।

बहस करना

ऑफिस प्लेस में आकर किसी न किसी बात को लेकर कलीग के साथ या बॉस के साथ कुछ अनबन हो जाती है लेकिन उनसे हमें बहस नहीं करनी चाहिए बल्कि स्मार्टली उन चीजों को हेंडल करना चाहिए।

(सीनियर करियर काउंसलर डॉ. संजीब कुमार आचार्य से बातचीत पर आधारित)

लेखिका- सुषमा

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story