Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लड़कियां भी अपनी जरूरत पूरा करने के लिए लेती हैं Friends With Benefit का सहारा, जानें इस रिश्ते के बारे में

जब दो दोस्त अपने रिश्ते का इस्तेमाल सेक्सुअल रिलेशन के तौर पर करें तो वो फ्रेंडशिप 'फ्रेंड्स विद बेनिफिट्स' कहलाया जाता है। यानी जब दोस्ती के अलावा कई और फायदे लिए जाने लगे तो यह फ्रेंड्स विद बेनिफिट्स वाला रिश्ता बन जाता है। तो इसी बीच आज हम इसी कॉन्सेप्ट से जुड़ी बातें बताने जा रहे हैं। जिससे आप इस कॉन्सेप्ट को समझ सकत हैं।

Jyotish Shastra : R नाम वाली लड़कियों में कौन सी खूबियां और कमजोरियां होती है, जानें इनके सीक्रेट
X

Jyotish Shastra : R नाम वाली लड़कियों में कौन सी खूबियां और कमजोरियां होती है, जानें इनके सीक्रेट 

Friend With Benefit: वेस्टर्न देशों से आया ये फ्रेंड्स विद बेनिफिट्स का चलन देश में बढ़ता ही जा रहा है। वहीं जब दो दोस्त अपने रिश्ते का इस्तेमाल सेक्सुअल रिलेशन के तौर पर करें तो वो फ्रेंडशिप 'फ्रेंड्स विद बेनिफिट्स' कहलाया जाता है। यानी जब दोस्ती के अलावा कई और फायदे लिए जाने लगे तो यह फ्रेंड्स विद बेनिफिट्स वाला रिश्ता बन जाता है। तो इसी बीच आज हम इसी कॉन्सेप्ट से जुड़ी बातें बताने जा रहे हैं। जिससे आप इस कॉन्सेप्ट को समझ सकत हैं।

करीब आने के लिए बढ़ाते हैं दोस्ती

हाल ही में हुई एक रिसर्च से पता चला है कि लड़का और लड़की के बीच दोस्ती में अगर पहले फिज‌िकल होने की फीलिंग्स आती है। तो ज्यादातर वे लड़के की तरफ से होता है। ऐसे में कई बार लड़कियों को सही और गलत में पता ही नहीं चल पाता है। वे जिसे सच्ची दोस्ती समझ रही होती हैं। एक्चुअल में वो दोस्त अपना मतलब ढूंढ़ रहा होता है। जिसके लिए वो आपकी बहुत केयर करने का ढोंग करते हैं और दोस्ती बढ़ाने की कोशिश करते हैं।

लड़कियां भी निकालती हैं मतलब

ऐसा नहीं है कि इस तरह के रिलेशनशिप का सिर्फ लड़के ही करते हैं। लड़कियां भी भी फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स की आड़ में अपनी सेक्सुअल फ्रीडम ढूंढ लेती हैं। इनमें अक्सर वो महिलाएं होती हैं जो या तो बिखरती शादी का शिकार होती हैं या तलाक के दौर से गुजर रही होती हैं। कुछ विडोज भी ही सकती हैं। दोस्ती-प्यार के बीच वाला सेक्स अक्सर 'फ्रेंड्स विद बेनिफिट्स' का चलन सबसे ज्यादा सिंगल कॉलेज गोइंग युवा में देखा जाता है। जब तक पढ़ाई की, कैम्पस में रहे, दोस्त के साथ फिज‌िकल हुए, बाद में करियर के लिए मूव औन कर गए। यह एक तरह से दोस्ती से ज्यादा और प्यार से कम वाला रिश्ता बन जाता है।

कौम्प्लीकेटेड हो सकता है

जैसा कि इस रिश्ते में कोई कमिटमेंट नहीं होता है। लेकिन अपनी मन मरजी से दोनों एक दूसरे के क्लोज आते हैं। वहीं अगर किसी एक के मन में प्यार जैसी फीलिंग आ जाए। तो यह आपके लिए काफी खतरनाक हो सकता है। मनमुटाव से दोस्ती खत्म भी हो सकती है और रिश्ता बहुत ही कड़वाहट के साथ खत्म हो सकता है। ऐसे में आप बहुत ही सोच समझ कर इस रिश्ते में उतरें। कई बार लड़का लड़की की फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स वाली दोस्ती को प्यार में बदलते हुए भी देखा है। लेकिन यह जरूरी नहीं कि ऐसा हमेशा हो और सबके साथ हो।

Also Read: पत्नी को हर रोज किस करने से बढ़ती है सैलरी और उम्र होती है लंबी : स्टडी

ऐसा अकसर कहा भी जाता है कि एक लड़का और लड़की कभी दोस्त नहीं हो सकते। लेकिन फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स का मामला दोस्ती और प्यार का नहीं बल्कि सीधे तौर पर फिज‌िकल नीड का है। इसलिए बेहतर होगा कि इस रिश्ते में न जाएं। तो ही आप खुश रहेंगें।

Next Story