Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

गुड हॉबी बढ़ाती है बच्चों में कॉन्फिडेंस, गलत आदतों से रखती है दूर

जिन बच्चों की कोई हॉबी नहीं होती, वे अकसर किशोर अवस्था में गलत आदतों के शिकार हो जाते हैं

गुड हॉबी बढ़ाती है बच्चों में कॉन्फिडेंस, गलत आदतों से रखती है दूर
नई दिल्ली. हॉबी बच्चों के मेंटल डेवलपमेंट और उनकी पर्सनालिटी को आकार देने में इंपॉर्टेंट रोल निभाती है। जिन बच्चों की कोई हॉबी नहीं होती, वे अकसर किशोर अवस्था में गलत आदतों के शिकार हो जाते हैं। हर बच्चे की कम से कम एक हॉबी होना बहुत जरूरी है। अगर आपके बच्चे की कोई हॉबी नहीं है तो आप उसे हॉबी चुनने और उसे सीखने में सहायता करें। आप अपने बच्चे को डांस, सिंगिंग, म्यूजिकल इंस्ट्रमेंट्स बजाना, पेंटिंग करना या राइटिंग में से किसी हॉबी अपनाने के लिए इंस्पायर कर सकती हैं। कौन-सी हॉबी से, किस तरह के फायदे बच्चो को हो सकते हैं, जानिए-
डांस
डांस बच्चों के लिए एक अच्छी हॉबी है। डांस करने से बच्चों में पॉजिटिविटी बढ़ती है। उनमें कॉन्फिडेंस , डिसिप्लीन की फीलिंग डेवलप होती है। जिन बच्चों की डांस में रुचि है, उन्हें चार-पांच साल की उम्र में डांस क्लास ज्वाइन करा देना चाहिए, क्योंकि इस उम्र में शरीर बहुत लचीला होता है, इससे डांस सीखने में आसानी होती है। अगर आपके बच्चे को डांस में रुचि है, लेकिन अभी तक उसने इसे हॉबी के तौर पर नहीं अपनाया है तो आप उसे जल्दी से जल्दी अपने घर के पास स्थित किसी डांस क्लास में भेजना शुरू करें।
फायदे
आजकल बच्चों में मोटापा बहुत बढ़ रहा है, डांस उन्हें शारीरिक रूप से फिट रखता है। डांस शरीर और मस्तिष्क को सक्रिय रखता है। इससे हड्डियां और मांसपेशियां मजबूत बनती हैं। बड़े होकर कोरियोग्राफर, एक्टर, डांसर के रूप में करियर बनाने में मदद मिलती सकती है।
सिंगिंग
सिंगिंग के लिए सुर और ताल की समझ होना जरूरी है। इसके लिए रोज रियाज करना पड़ता है। यह रियाज किसी गुरु की देख-रेख में करना बहुत जरूरी है। अगर आपके बच्चे को सिंगिंग में रुचि है तो आप उसके लिए अच्छे गुरु की तलाश शुरू कर दें। जब आपका बच्चा सुर-ताल को समझने लगे तब आप उसे स्कूल और फैमिली के फंक्शंस में परफॉर्म करने के लिए इंस्पायर करें, इससे उसका कॉन्फिडेंस बढ़ेगा और आगे चलकर उसे बड़े प्लेटफॉर्म पर भी परफॉर्म करने में आसानी होगी।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, - कौन सी आदतें बच्चों को रखेंगी क्राइम से दूर

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Top