Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना से बचे लेकिन स्वाइन फ्लू से चपेट में भारत, दिल्ली से लेकर कर्नाटक तक हाई अलर्ट

दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के स्वाइन फ्लू को लेकर अस्पतालों में अलर्ट जारी किया है। विभाग सभी अस्पतालों को पर्याप्त दवाएं रखने के निर्देश दिए हैं। लेकिन भारत में स्वाइन फ्लू एक बहुत ही चिंता का विषय बन गया है।

कोरोना से बचे लेकिन स्वाइन फ्लू से चपेट में भारत, दिल्ली से लेकर कर्नाटक तक हाई अलर्टस्वाइन फ्लू का खतरा (फाइल फोटो)

भारत कोरोना जैसे खतरनाक से तो बच गया लेकिन स्वाइन फ्लू के मामले पूरे देश में बढ़ते जा रहे हैं। तेजी से फैलने वाली इस संक्रामक बीमारी ने फिर से अपना असर पूरे देश में दिखाना शुरू कर दिया है। अब तक 2 फरवरी से 16 फरवरी के बीच स्वाइन फ्लू अब तक 152 मरीज मिल चुके हैं। वहीं सबसे ज्यादा स्वाइन फ्लू के मामले में तमिलनाडु में देखने को मिले हैं। और दिल्ली दूसरे नंबर पर है।

इसके साथ ही दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के स्वाइन फ्लू को लेकर अस्पतालों में अलर्ट जारी किया है। विभाग सभी अस्पतालों को पर्याप्त दवाएं रखने के निर्देश दिए हैं। लेकिन भारत में स्वाइन फ्लू एक बहुत ही चिंता का विषय बन गया है। क्योंकि स्वाइन फ्लू के फैलने की खबरों के साथ यह भी खबर सामने आ रही है कि इसके इलाज के लिए जिस दवा की जरूरत होती है। वे दवा एक लिमिटिड मात्रा मे उपलब्ध है। बताया जा रहा है कि इस दवा का उत्पादन केवल भारत में ही होता है। यह दवा हर जगह नहीं मिलती है।

क्या है स्वाइन फ्लू

स्वाइन इन्फ्लूएंजा एक संक्रामक सांस की रोग है। जो कि सामान्य रूप से केवल सूअरों को प्रभावित करती है। यह आमतौर पर स्वाइन इन्फ्लूएंजा ए वायरस के H1N1 स्ट्रेंस के कारण होता है।

स्वाइन फ्लू के लक्षण

  • -बुखार आना।
  • -थकावट महसूस होना।
  • -भूख की कमी।
  • -खांसी और गले में खराश होना।
  • -उल्टी आना।
  • -दस्त होना।

स्वाइन फ्लू में अपनाएं घरेलू उपचार

  • -अधिकतर समय आराम करें और पूरी नींद लें।
  • -ज़्यादा पदार्थ का इस्तेमाल करें।
  • -रोजाना 2 से 3 तुलसी पत्ता का सेवन करें।
  • -अदरक की चाय और लहसुन का रस भी पी सकते है।
  • -हल्दी पाउडर (एक चम्मच), कालीमिर्च (तीन दाने), तुलसी के पत्ते (दो), थोड़ा जीरा, अदरक, थोड़ी चीनी को उबाल कर काढ़ा बना लें। इसे दिन में 2-3 बार लिया जा सकता है।
  • -कपूर, इलायची, लौंग पाउडर को रूमाल में बांधकर सूंघते रहें, ताकि संक्रमण का खतरा कम हो।

स्वाइन फ्लू के बचाव

  • -स्वाइन प्लू से ग्रस्त रोगियों से दूर रहें खाना खाने से पहले एंटीसेप्टिक द्रव से साफ करें।
  • -खांसते, छींकते समय मुंह पर कपड़ा रखें, ताकि वायरस दूसरे तक न फैलें।
  • -स्टार्च (आलू, चावल आदि) और मीठे पदार्थों का सेवन कम करें। ताकि बीमारियों से लड़ने वाली कोशिकाओं की सक्रियता बनी रहें।
  • -दही की जगह छाछ का सेवन करें पानी को उबाल कर पीएं और ज्यादा से ज्यादा लिक्विड पीएं।


Shagufta Khanam

Shagufta Khanam

Jr. Sub Editor


Next Story
Top