Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Coronavirus: कोरोना वायरस की फैली दहशत, तय कीमत से 6 गुना महंगे दामों पर मिल रहे मास्क

Coronavirus : कोरोना वायरस का कहर चीन के साथ बाकी कई देश भी इसकी चपेट में आ गए हैं। वहीं भारत में भी इसके तकरीबन 28 मामले सामने आ चुके हैं। जिसकी वजह से मास्क की डिमांड काफी बढ़ गई है और इस कारण मास्क के दाम 6 गुना बढ़ दए हैं।

Coronavirus: कोरोना वायरस की फैली दहशत
X
मास्क

Coronavirus : चीन के बाद और भी कई देशों में कोरोना वायरस का कहर देखने को मिल रहा है। पूरी दुनिया में लगभग 86 हजार लोग इस वायरस का शिकार हो चुके हैं। वहीं लगभग 3000 लोगों की कोरोना वायरस के चलते मौत हो चुकी है। इतना ही नहीं ये वायरल भारत में भी अपनी दस्तक दे चुका है। तकरीबन 28 लोगों में कोरोना वायरस के लक्षण पाए गए गए हैं। वहीं इस वायरस के कारण लोगों में दहशत सी हो गई है। जिसके लिए लोग अपने स्तर पर इससे बचने की हर कोशिश में लगे हुए हैं। जिस वजह से मास्क की काफी डिमांड बढ़ जाने की वजह से मास्क की काफी कमी हो गई है। वहीं लोग मास्क को 6 गुना ज्यादा कीमत में मास्क में बेचने में लगे हुए हैं।

6 गुना ज्यादा कीमत में मिल रहे मास्क

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जो मास्क 1 रूपये का मिलता था उसकी कीमत 25 रुपये हो गई है। वहीं 10 रुपये में मिलने वाला सर्जिकल मास्क इस समय 40 रुपये से भी ज्यादा में बेचा जा रहा है। वहीं 150 रुपये में मिलने वाला N95 मास्क की कीमत 500 रुपये हो गई है। इन सभी मास्क की कीमतों के बढ़ने की वजह मास्क की खरीद में आई बढ़ोतरी बताई जा रही है।

क्यों हो रही है मास्क की कमी

रिटेल ऐंड डिस्पेंसिंग केमिस्ट्स असोसिएशन के अध्यक्ष प्रसाद दर्वे का कहना है कि चीन में मास्क बनाने की कंपनियां बंद हो गई हैं। जिस वजह से बाकी देशों में भारत से ही मास्क सप्लाई किए जाते हैं। वहीं भारत से बड़ी संख्या में मास्क एक्सपोर्ट किए जा रहे हैं। जिस वजह से मास्क के दाम बढ़ना लाजमी है।

कितने तरह के होते हैं मास्क और कैसे करते हैं काम

सिंगल लेयर

यह मास्क नान वूवन से तैयार किया जाता है। इसका इस्तेमाल सबसे ज्यादा किया जाता है। वहीं यह सिर्फ धूल के बड़े कण को रोकने में मदद करता है।

टिपल लेयर

यह मास्क दो लेयर नान वूवन की होती है और एक फिल्टर का होता है।यह प्रदूषण के असर को 20 से 30 फीसदी तक रोकता है।

Also Read: Coronavirus: लोगों को सता रहा कोरोना वायरस का डर, बचने के लिए अस्पताल से चोरी किए 2000 मास्क

सिक्स लेयर

मास्क के जरिए प्रदुषण से 80 फीसद तक बचाव किया जा सकता है। यह काफी हद तक पीएम 10 के अलावा पीएम 2.5 से भी बचाता है।

एन95 मास्क

इस मास्क को सबसे ज्यादा सुरक्षित माना जाता है। इसमें फिल्टर की लेयर होती है। काफी टाइट होने के कारण इसे ज्यादा समय तक लगाना मुश्किल होता है। लेकिन यह वायरस से पूरी तरह से बचाने में मदद करता है।





Shagufta Khanam

Shagufta Khanam

Jr. Sub Editor


Next Story