Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Home Remedies: दस्त की समस्या से हैं परेशान तो इन प्रभावी घरेलू नुस्खों का करें इस्तेमाल, जल्द दिखेगा असर

दस्त (Diarrhea) एक आम समस्या है, जिसकी शुरुआत पानी की कमी के कारण होती है। ऐंठन, ढीला मल, पतला मल, पानी जैसा मल, मतली, बुखार, उल्टी और बार-बार मल त्याग दस्त के लक्षण हैं।

Home Remedies: दस्त की समस्या से हैं परेशान तो इन प्रभावी घरेलू नुस्खों का करें इस्तेमाल, जल्द दिखेगा असर
X

दस्त (Diarrhea) एक आम समस्या है, जिसकी शुरुआत पानी की कमी के कारण होती है। ऐंठन, ढीला मल, पतला मल, पानी जैसा मल, मतली, बुखार, उल्टी और बार-बार मल त्याग दस्त के सभी संभावित लक्षण हैं। डायरिया सामान्य बैक्टीरिया और वायरस के कारण भी हो सकता है। हालांकि यह अस्थायी समस्या है जो केवल कुछ दिनों तक रहती है। अगर यह समस्या कुछ दिनों से अधिक समय तक बनी रहती है, तो आपके शरीर के साथ कुछ बड़ा और गंभीर हो रहा है। जिसके लिए आपको डॉक्टर से बात करने की जरूरत है। हालांकि, एंटीबायोटिक्स और अन्य दवाएं इस समस्या से छुटकारा पाने में आपकी मदद करती है। लेकिन कुछ सरल घरेलू उपचार (Home Remedies For Diarrhea) हैं, जो इस समस्या में प्रभावी और उपयोगी साबित होंगे।

दस्त के इलाज के लिए प्रभावी घरेलू उपचार:

अदरक की चाय: कई वैज्ञानिक अध्ययनों से पता चलता है कि अदरक दस्त के लिए सबसे प्रभावी प्राकृतिक उपचारों में से एक है। इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी और पाचन गुण भी होते हैं, जो पेट की अन्य समस्याओं जैसे अपच और सूजन को कम करने में मदद करते हैं।

कैमोमाइल चाय: जब बहुत अधिक दस्त लगे हो उस वकत कैमोमाइल पाचन प्रक्रियाओं को शांत करने में मदद करता है। हालांकि यह विशेष रूप से दस्त को नहीं रोकता है, कैमोमाइल चाय पाचन संबंधी समस्या होने पर राहत देती है।

एप्पल साइडर विनेगर: जब इसका कम मात्रा में सेवन किया जाता है, तो यह डायरिया को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है। हालांकि, आपको बहुत सावधानी बरतनी चाहिए क्योंकि विनेगर के ज्यादा सेवन से उल्टा असर पड़ सकता है। एप्पल साइडर विनेगर दस्त का कारण बनने वाले कुछ जीवाणु संक्रमण के उपचार में सहायता करता है।

मेथी के बीज और गाजर: मेथी के बीज दस्त के लिए सबसे प्रभावी प्राकृतिक उपचारों में से एक हैं। इन बीजों में म्यूसिलेज होता है, जो दस्त से लड़ने में काफी कारगर होता है। वहीं गाजर में एंटीसेप्टिक गुण होते हैं और गाजर का सूप दस्त के इलाज में विशेष रूप से प्रभावी होता है।

और पढ़ें
Next Story