Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Pearl V Puri Interview : पर्ल वी पुरी ने बताया सक्सेस का राज

पर्ल वी पुरी बहुत कम ही समय में टीवी वर्ल्ड में अपनी जगह बनाने में कामयाब रहे। जल्द ही वह एक नए सीरियल ‘बेपनाह प्यार’ में एक डार्क शेड कैरेक्टर निभाते हुए नजर आएंगे। अब तक पर्ल ने पॉजिटिव रोल किए हैं, ऐसे में डार्क कैरेक्टर एक्सेप्ट करने की क्या वजह रही? किसी को बेपनाह प्यार करने में पर्ल वी पुरी कितना यकीन करते हैं? क्या टीवी के बाद वह फिल्मों में भी किस्मत आजमाना चाहेंगे?

Pearl V Puri Interview : पर्ल वी पुरी ने बताया सक्सेस का राज

पर्ल वी पुरी मॉडलिंग से एक्टिंग की फील्ड में आए। उन्होंने अपने पहले सीरियल 'दिल की नजर से खूबसूरत' में सपोर्टिंग रोल किया था, लेकिन इस सीरियल में पर्ल वी पुरी की एक्टिंग को सराहा गया। इसके बाद वह शो 'बदतमीज दिल' में लीड रोल में नजर आए, इस सीरियल का हिस्सा बनने के बाद उनके करियर को पंख लग गए, वह सफलता की सीढ़ी चढ़ते गए। 'मेरी सासू मां', 'नागार्जुन-एक योद्धा' और 'नागिन-3' में पर्ल दमदार किरदारों में नजर आए। जल्द ही वह कलर्स के नए सीरियल 'बेपनाह प्यार' में नजर आएंगे। हाल ही में अपकमिंग सीरियल से जुड़ी लंबी बातचीत पर्ल वी पुरी से हुई। पेश है, बातचीत के चुनिंदा अंश-

सीरियल 'बेपनाह प्यार' के बारे में बताएं, इसमें आपका किरदार किस तरह का है?

सीरियल 'बेपनाह प्यार' में बहुत सारा प्यार है। इसमें दिखाया गया है कि जब प्यार नहीं मिलता तब किस तरह के इमोशंस इंसान फील करता है। मेरे किरदार का नाम रघुबीर है, वह एक आम इंसान है। बहुत शांत लड़का है। लेकिन अगर हम किसी इंसान से उसकी जिंदगी की सबसे अहम चीज छीन लें तो वह थोड़ा अजीब-सा हो जाएगा। वही रघुबीर का हाल है। रघुबीर एक लड़की से बहुत प्यार करता है, वह लड़की किसी वजह से इस दुनिया से चली जाती है। इस घटना के बाद रघुबीर अपना आपा खो देता है। वह वैसा नहीं रह जाता, जैसा वह था। वह एक ऐसी स्थिति में चला जाता है, जहां उसे यह फर्क नहीं पता चलता कि क्या सच है, क्या झूठ है? आप इसे एक डार्क शेड का किरदार कह सकते हैं।

रघुबीर का किरदार आपके अब तक के करियर में निभाए गए किरदारों से कितना अलग है?

एक एक्टर के नाते मेरे लिए यह बहुत अच्छा है कि मुझे कुछ अलग तरह के किरदार करने को मिल रहे हैं। एक और बात है कि 'बेपनाह प्यार' मेल सेंट्रिक सीरियल है, जोकि टीवी पर कम ही देखने को मिलता है। मेल सेंट्रिक सीरियल में एक लड़के के पार्ट से जब स्टोरी दिखाई जाएगी तो लड़के भी इस सीरियल को जरूर देखेंगे। मैं पूरी कोशिश करूंगा कि लड़कों को यह सीरियल देखने में पूरा मजा आए। वे भी सीरियल से कनेक्ट कर पाएं क्योंकि हर किसी की जिंदगी में एक ऐसा समय आता है जब उसका दिल टूटता है।

रघुबीर के किरदार को चुनने की मुख्य वजह क्या रही?

पहली बात तो मैं अपने हर किरदार को एक चैलेंज के रूप में लेता हूं। इससे पहले जो सीरियल मैंने किए, वे इससे बिल्कुल अलग थे। मैंने रॉकस्टार का किरदार प्ले किया। मैंने सास-बहू ड्रामा भी किया। 'नागार्जुन' में मैंने सुपरहीरो का रोल प्ले किया। इस तरह अब तक अलग-अलग तरह के किरदार किए। अब रघुबीर का किरदार कर रहा हूं। यह एक डार्क कैरेक्टर है। रघुबीर अगर कॉमेडी भी करता है तो डार्क कॉमेडी करता है। कई बार वो बहुत हंस रहा होता है फिर अचानक उसकी हंसी गायब हो जाती है। फिर थोड़ी देर में हंसने लगता है। ऐसी कई स्थितियां आएंगी, जहां आप सोचेंगे कि अरे यह ऐसा क्यों कर रहा है। दरअसल, उसे खुद ही नहीं पता कि वह क्या कर रहा है? रघुबीर को पता ही नहीं है कि वह जिंदगी जीना चाहता है या नहीं। इसलिए यह किरदार करने में मुझे बहुत मजा आ रहा है।

बेपनाह प्यार में आपका खुद कितना विश्वास है?

देखिए, प्यार अगर बेपनाह नहीं तो वह प्यार ही नहीं। यह बात हर किसी पर लागू होती है। चाहे पर्सनल लाइफ हो, लव लाइफ हो या प्रोफेशनल लाइफ। जो काम करो, वो अच्छे से करो। याद रखिए, प्यार हमारी जिंदगी के लिए बहुत जरूरी है। हर इंसान को प्यार की जरूरत है, प्यार हमारी जिंदगी को आगे बढ़ाता है। वैसे अभी मेरी लाइफ में ऐसा कोई नहीं है, जिससे मैं बेपनाह प्यार करूं।

लगभग आठ-नौ साल आपको काम करते हुए हो चुके हैं। कैसी जर्नी रही आपकी?

मैं अपनी जर्नी से बहुत खुश हूं। भगवान की मेरे ऊपर कृपा रही है। लोगों ने मेरे काम को देखा, पसंद किया। मुझे बेपनाह प्यार दिया, इसके लिए मैं हमेशा अपने फैंस का शुक्रगुजार रहूंगा।

एकता कपूर के 'नागिन-3' के बाद अब उनका दूसरा सीरियल 'बेपनाह प्यार' कर रहे हैं। आप उनके प्रोडक्शन के आप फेवरेट बन गए हैं?

अगर ऐसा है तो मैं बहुत खुशनसीब हूं। मैं उनका फेवरेट हूं या नहीं, यह पता नहीं लेकिन वह मेरी फेवरेट हैं। मुझे उनका काम बहुत पसंद है। जब मैं उनसे पहली बार मिला था तब मैंने उन्हें कहा था कि मैं आपकी बहुत इज्जत करता हूं। आज उन्होंने बालाजी को जिस मुकाम पर पहुंचा दिया है, वह तारीफ-ए-काबिल है। वह एक समय में न जाने कितने ही काम कर रही होती हैं और यह सब आसानी से कर लेती हैं। उनके सारे प्रोजेक्ट सफल रहते हैं। मैं उनसे बहुत कुछ सीखता हूं।

आगे और क्या चल रहा है?

इस समय मेरे दो सीरियल चल रहे हैं, ऐसे में मैं 20 से 21 घंटे काम करता हूं। हर इंसान का ख्वाब होता है, जिंदगी में आगे बढ़ना। मैं भी फिल्म करना चाहता हूं लेकिन अच्छी फिल्में। उम्मीद है कि मेरे पास कोई अच्छी-सी स्क्रिप्ट आएगी और मैं फिल्म भी करूंगा।

लेखक- आर.के

Next Story
Top