logo
Breaking

शान मानते हैं इंपॉर्टेंट रोल निभा रहे हैं रियालिटी शोज

शान एक परफेक्ट सिंगर माने जाते हैं।

शान मानते हैं इंपॉर्टेंट रोल निभा रहे हैं रियालिटी शोज
आज के दौर में बॉलीवुड में रोमांटिक और मेलोडियस सॉन्ग्स गाने वाले सिंगर्स में शान एक परफेक्ट सिंगर माने जाते हैं। वे कम गाने गाते हैं लेकिन उनके गाए अधिकांश गाने हिट होते हैं। एज ए सिंगर लंबा एक्सपीरियंस बटोर चुके शान, इन दिनों एंड टीवी के सिंगिंग रियालिटी शो ‘द वॉयस इंडिया’ में सुनिधि चौहान, हिमेश रेशमिया और मीका सिंह के साथ नए सिंगिंग टैलेंट्स को जज करते हुए दिख रहे हैं।
ऐसे में सबसे पहले यही सवाल उठता है कि नए सिंगर्स में वे किस खूबी को पसंद करते हैं? शान बताते हैं, ‘मुझे ऐसी आवाज पसंद आती है, जो एफर्टलेस हो, यानी जो बगैर किसी कोशिश के सिंगर के भीतर से निकले। उसमें कोई बनावटीपन नहीं होना चाहिए।
किसी एक जॉनर या मूड के ही गाने में परफेक्शन के बजाय हर तरह के गाने में एक्सपर्ट हो यानी, उसकी आवाज वर्सेटाइल और मल्टीडायमेंशनल होनी चाहिए। किसी फेमस सिंगर की कॉपी न लगे, उसकी अपनी ओरिजिनल वॉयस और स्टाइल होनी चाहिए।’
इन दिनों टीवी चैनल्स पर रियालिटी शोज का ट्रेंड चल पड़ा है। काफी संख्या में नए सिंगर्स और डांसर्स सामने आ रहे हैं। हालांकि उनमें से कुछ ही अपनी पहचान बना पाते हैं, बाकी भीड़ में कहीं गुम हो जाते हैं। जबकि पहले के दौर में इस तरह के शोज नहीं होते थे, लेकिन उस दौर के सिंगर्स अपने टैलेंट के बल पर सामने आते थे, उनका कोई सानी नहीं होता था।
तो नए टैलेंट को सामने लाने में क्या सिंगिंग रियालिटी शोज इंपॉर्टेंट रोल निभाते हैं? इस सवाल पर शान तुरंत जवाब देते हैं, ‘निश्चित रूप से नए सिंगर्स को सामने लाने में ऐसे रियालिटी शोज इंपॉर्टेंट रोल निभाते हैं।
इनके जरिए कई तरह की आवाजें सामने आई हैं। छोटे इलाकों के गुमनाम लोगों को एक्सपोजर मिलता है, उन्हें नेशनल फिगर बनाने में इन शोज की बड़ी भूमिका होती है।’
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, पूरा इंटरव्यू -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top