Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अभी भी खुद को कामयाब नहीं मानते मुदस्सर खान

मुदस्सर खान ने कोरियोग्राफर के रूप में बॉलीवुड में अच्छी पहचान बना ली है।

अभी भी खुद को कामयाब नहीं मानते मुदस्सर खान
आज से जीटीवी पर ‘डांस इंडिया डांस’ सीजन 5 शुरू हो रहा है। यह भारत का ऐसा डांस शो है, जिसने कई डांसर्स को केवल मंच ही नहीं दिया बल्कि अलग पहचान भी दी है। कई कोरियोग्राफर और डांसर्स इस मंच की देन हैं, जिसमें सलमान, शक्ति, प्रिंस, धर्मेश और राघव जैसे उम्दा डांसर्स आज अपना अलग मुकाम पा चुके हैं।
बहुत कम उम्र में मुदस्सर खान ने कोरियोग्राफर के रूप में बॉलीवुड में अच्छी पहचान बना ली है। वह बड़े स्टार्स के कोरियोग्राफर रहे हैं, इनके डांस पॉपुलर हुए हैं। ‘डीआईडी’ सीजन 5 से भी दर्शकों को बहुत उम्मीद हैं। मुदस्सर खान पिछले सीजन में भी इस शो के जज थे, इस बार भी वे जज की भूमिका में हैं। शो से जुड़े सवाल मुदस्सर खान से।
जज की भूमिका निभाना आपके लिए कितना मुश्किल होता है?
जज की भूमिका सच में बहुत जिम्मेदारी भरी है। मैं पूरी कोशिश करता हूं कि बहुत सच्चाई और ईमानदारी से अपना पक्ष रखूं। हमारे लिए सबसे मुश्किल भरा पल होता है किसी को ‘ना’ बोलना। क्योंकि हम देखते हैं कि इस मंच पर जो भी आता है, वह एक अच्छा डांसर होता है। हर कोई अपने एक्ट के लिए बहुत ज्यादा मेहनत करता है।
कई बार बच्चों ने बहुत प्रैक्टिस भी की होती है, लेकिन शुरू में वे मंच पर आकर थोड़े नर्वस हो जाते हैं। यहां हमारी भूमिका बहुत महत्वपूर्ण हो जाती है। इसलिए मैं मंच पर बहुत कूल रहता हूं। सबके साथ मस्ती-मजाक करता हूं। जो भी मंच पर आता है, उसे कूल करने के लिए पहले हंसाता हूं ताकि उनके अंदर का डर बाहर निकल जाए और वह खुलकर डांस कर सके। और जिसे ना बोलना हो, उसे भी पहले अच्छे से इस बात को समझाता हूं कि जिंदगी में हार-जीत लगी रहती है। भविष्य में और अच्छा करने के लिए उसे प्रेरित करता हूं।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, पूरा इंटरव्यू -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top