logo
Breaking

Mother's Day Special Films : माँ बेटी के रिश्तों को नई परिभाषा देती बॉलीवुड की टॉप 10 फिल्में

Mother's Day Special Films : माँ-बेटी का रिश्ता एक ऐसा रिश्ता है, जिसमें प्यार, बंधन और चिंता अक्सर इतने हावी हो जाते हैं कि इसको पूरी तरह से समझ पाना संभव नही रहता। आपको पता है कि आप कहां हैं और आप कौन हैं, लेकिन आपकी मां के लिए आप हमेशा छोटे ही रहते हैं। माँ का अथाह प्रेम ये समझ नहीं पाता कि उसके बच्चे बड़े हो चुके हैं। आज की बदलती दुनिया में माँ बेटी की रिश्तों में भी काफी बदलाव आये हैं और इन बदलावों को बॉलीवुड (bollywood) ने समय-समय पर अपनी फिल्मों (movie) में दिखाने की कोशिश की है।

Mother

Mother's Day Special Films : माँ-बेटी का रिश्ता एक ऐसा रिश्ता है, जिसमें प्यार, बंधन और चिंता अक्सर इतने हावी हो जाते हैं कि इसको पूरी तरह से समझ पाना संभव नही रहता। आपको पता है कि आप कहां हैं और आप कौन हैं, लेकिन आपकी मां के लिए आप हमेशा छोटे ही रहते हैं। माँ का अथाह प्रेम ये समझ नहीं पाता कि उसके बच्चे बड़े हो चुके हैं। आज की बदलती दुनिया में माँ बेटी की रिश्तों में भी काफी बदलाव आये हैं और इन बदलावों को बॉलीवुड (bollywood) ने समय-समय पर अपनी फिल्मों (movie) में दिखाने की कोशिश की है। 12 मई (12 may) को 'मदर्स डे' (mothers day) है, और इस बेहद (mothers day special) खास मौके पर हम आपके लिए लाये हैं कुछ ऐसी चुनिंदा फिल्मों की लिस्ट जिन्होंने माँ और बेटी के रिश्तों की एक नई परिभाषा समाज के सामने रखी।

bollywood mothers day movie

इंग्लिश विंग्लिश

फिल्म इंग्लिश विंग्लिश में श्रीदेवी ने एक बिंदास मां शशि गोडबोले का किरदार निभाया है। वह अपने पति सतीश (आदिल हुसैन) और बेटी सपना (नविका कोटिया) की आंखों में आत्म-सम्मान हासिल करने के लिए अमेरिका में एक अंग्रेजी सिखाने वाले स्कुल में चुपके से दाखिला लेती है। शशि का परिवार हमेशा उसे अंग्रेजी न आने के लिए उसका मजाक उड़ाता हैं।

सपना हर छोटी बात के लिए अपनी माँ को टोक देती थी। जबकि शशि अपने घरेलु कर्तव्यों की परवाह किए बिना, अपनी बेटी पर बिना शर्त प्यार बरसाती रहती है। फिल्म इंग्लिश विंग्लिश एक माँ और उसके आत्म सम्मान हासिल करने की लड़ाई पर बेस्ड एक शानदार फिल्म है।


Top 10 mother day movie

खुबसूरत

फिल्म खुबसूरत में मंजू (किर्रन खेर) और मिली (सोनम कपूर) का ऐसा मजेदार किरदार है जिसे भुला पाना दर्शकों के लिए असंभव है। पंजाबी फिजियोथेरेपिस्ट मिली ने अपनी मां मंजू के साथ ऐसा खुला रिश्ता शेयर करती है जैसे वे माँ बेटी नहीं बल्कि सहेलियां हो। दोनों एक दुसरे को नाम से बुलाती है। मुद्दा चाहे कोई भी हो नौकरी की समस्या या प्यार से संबंधित दोनों का बेबाक रिश्ता फिल्म में देखने लायक है।



Share it
Top