Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

प्रिया प्रकाश के वायरल गाने पर मचे विवाद पर डायरेक्टर ने दी सफाई, कहा- वीडियो इस्लाम विरोधी नहीं

एक वायरल वीडियो से रातोंरात स्टार बन चुकी मलयाली एक्ट्रेस प्रिया प्रकाश अपने इसी वीडियो की वजह मुसीबत में फंसती नजर आ रही हैं। दरअसल इस वायरल वीडियो को लेकर मुस्लिम समुदाय की तरफ से प्रिया के ऊपर एफआईआर दर्ज कराई गई है।

प्रिया प्रकाश के वायरल गाने पर मचे विवाद पर डायरेक्टर ने दी सफाई, कहा- वीडियो इस्लाम विरोधी नहीं

एक वायरल वीडियो से रातोंरात स्टार बन चुकी एक्ट्रेस प्रिया प्रकाश वारियर के इस गाने पर मचे विवाद के बाद अब सियासत भी तेज हो गई है। इस गानें को लेकर मचे विवाद के बीच अब इस फिल्म के डायरेक्टर उमर लुलु ने अपनी सफाई पेश की है। उन्होंने कहा है कि इस वीडियों में ऐसा कुछ भी आपत्तिजनक नहीं हैं जिसकों लेकर विरोध किया जाए।

प्रिया प्रकाश और डायरेक्टर के खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर-

अपने कजरारे नैनों से लाखों लोगों को अपना दीवाना बना चुकी मलयाली एक्ट्रेस प्रिया प्रकाश को शोहरत के बाद अब मुश्किलों का भी सामना करना पड़ रहा है। आपको बता दें कि हैदाराबाद के कुछ युवाओं ने प्रिया के इस गाने को मुसमलमान विरोधी बताते हुए प्रिया और डायरेक्टर के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी है।

डायरेक्टर ने दी विवाद पर सफाई-

फिल्म के निर्देशक ओमर लूलू ने कहा कि यह गाना इस्लाम विरोधी नहीं है बल्कि यह मोहम्मद साहब की तारीफ करता है। 'यह रोमांटिक गाना नहीं है बल्कि एक पारंपरिक मुस्लिम गाना है। यह कुछ अवसरों पर गाया जाता है। विडियो के कुछ दृश्यों के कारण यह रोमांटिक जैसा दिख रहा है।

उमर ने आगे कहा कि मैं साफ कर दूं कि यह गाना किसी भावनाओं को आहत नहीं कर रहा है। इसमें इस्लाम और मुसलमानों के खिलाफ कुछ भी नहीं है। यह बहुत ही पुराना गाना है, जिसे सभी समुदायों द्वारा गाया जाता है।

प्रिया ने भी गाने को लेकर दिया बयान-

प्रिया ने कहा, 'इस गाने को देश-विदेश में खूब पसंद किया जा रहा है। हालांकि कुछ मुस्लिमों द्वारा इसका विरोध भी किया जा रहा है। उन्हें लगता है कि यह गाना मोहम्मद साहब और उनकी पत्नी के बारे में है और इससे इस्लाम का अपमान हो रहा है, लेकिन ऐसा मानने वाले लोग केवल मुट्ठीभर हैं। मुझे लगता है कि अब यह गाना अब ज्यादा लोगों के पास पहुंच रहा है।'

यह भी पढ़ेंः शिल्पा शिंदे ने अपनी शादी को लेकर किया बड़ा खुलासा, बताया- इस वजह से दो बार टूटी शादी

गाने के बोल पर है ऐतराज-

माणिक्य मलराया पूवी का मतलब मोतियों का फूल है जो बेशकीमती होता है। दरअसल मालाबार क्षेत्र में मुस्लिमों द्वारा धार्मिक आयोजनों में यह गीत गाया जाता है। यह गीत पैगंबर मोहम्मद और उनकी पत्नी खदीजा की प्रेम कहानी के बारे में है। यही वजह है कि इस गाने को पैगंबर मोहम्मद का अपमान बताया जा रहा है।

Next Story
Top