Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जया बच्चन के सपोर्ट में शिवसेना ने सामना में लिखा लंबा-चौड़ा लेख, कहा- 'सिनेजगत पवित्र गंगा की तरह निर्मल...'

जया बच्चन के सपोर्ट में शिवसेना सामने आई है। शिवसेना ने सामना में एक लंबा-चौड़ा लेख लिखा है। शिवसेना ने कहा- 'सिनेजगत पवित्र गंगा की तरह निर्मल...'

जया बच्चन के सपोर्ट में शिवसेना ने सामना में लिखा लंबा-चौड़ा लेख, कहा- सिनेजगत पवित्र गंगा की तरह निर्मल...
X
जया बच्चन

संसद के मानसून सत्र में के बीजेपी सांसद रवि किशन ने बॉलीवुड में बढ़ते ड्रग्स के इस्तेमाल का मुद्दा उठाया था। रवि किशन के बात पर ऐतराज जताते हुए अगले दिन जया बच्चन ने उनका नाम लिए बिना कहा कि कुछ लोग जिस थाली में खाते हैं, उसी थाली में छेद करते है। वहीं कंगना रनौत के बयानों की निंदा की और कहा- 'एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के लोगों को परेशान किया जा रहा है। जिन लोगों को इंडस्ट्री ने नाम दिया वही इसे गटर कह रहे हैं। मैं इससे असहमत हूं। सरकार को इन लोगों से कहना चाहिए कि ऐसी भाषा का इस्तेमाल न करें।'

जया बच्चन के इस बयान पर शिवसेना ने उनका सपोर्ट किया और मुखपत्र सामना में लिखा है- 'हिंदुस्तान का सिनेजगत पवित्र गंगा की तरह निर्मल है, ऐसा दावा कोई नहीं करेगा, लेकिन जैसा कुछ कलाकार दावा करते हैं कि सिनेजगत 'गटर' है, ऐसा भी नहीं कहा जा सकता। जया बच्चन ने संसद में इस बात को उठाया। जया बच्चन ने कहा कि जिन लोगों ने सिनेमा जगत से नाम-पैसा सब कुछ कमाया, वे अब इसको गटर की उपमा दे रहे है। मैं इससे इससे सहमत हूं। जया बच्चन के ये विचार जितने महत्वपूर्ण हैं, उतने ही बेबाक हैं। ये लोग जिस थाली में खाते हैं उसी में छेद करते है। ऐसे लोगों पर जया बच्चन ने हमला किया है।'

आपको बता दें कि जया बच्चन (Jaya Bachchan) के इस वार पर कंगना रनौत ने भी पलटवार किया था। कंगना ने अपने ट्वीटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए कहा- 'जया जी क्‍या आप तब भी यही कहतीं अगर मेरी जगह पर आपकी बेटी श्‍वेता को टीनएज में पीटा गया होता, ड्रग्‍स दिए गए होते और शोषण होता। क्‍या आप तब भी यही कहतीं अगर अभिषेक लगातार बुलीइंग और शोषण की बात करते और एक दिन फांसी से झूलते पाए जाते? थोड़ी हमदर्दी हमसे भी दिखाइए।' कंगना रनौत का ये ट्वीट सोशल मीडिया पर जबरदस्त वायरल हुआ।

Next Story
Top