Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Anushka Sharma Interview: वरुण की खातिर विराट से बड़ी दूरियां

अनुष्का शर्मा ने क्रिकेटर विराट कोहली के साथ शादी होने के बाद अपने एक्टिंग करियर से ब्रेक नहीं लिया है। इस साल उनकी एक फिल्म ‘परी’ रिलीज हुई लेकिन फ्लॉप रही। इसके बाद अनुष्का फिल्म ‘संजू’ में एक छोटा सा किरदार निभाती नजर आईं।

Anushka Sharma Interview: वरुण की खातिर विराट से बड़ी दूरियां

अनुष्का शर्मा ने क्रिकेटर विराट कोहली के साथ शादी होने के बाद अपने एक्टिंग करियर से ब्रेक नहीं लिया है। इस साल उनकी एक फिल्म ‘परी’ रिलीज हुई लेकिन फ्लॉप रही। इसके बाद अनुष्का फिल्म ‘संजू’ में एक छोटा सा किरदार निभाती नजर आईं।

हाल ही में उनकी अपकमिंग फिल्म ‘सुई धागा’ का ट्रेलर लॉन्च हुआ। इसके बाद वह फिल्म में अपने रोल को लेकर चर्चा में हैं। इस फिल्म को शरत कटारिया ने डायरेक्ट किया है। फिल्म के प्रोड्यूसर मनीष शर्मा और आदित्य चोपड़ा हैं।

फिल्म ‘सुई धागा’ के ट्रेलर को दर्शकों का अच्छा रेस्पॉन्स मिला है। सोशल मीडिया पर भी इसकी चर्चा हो रही है। आप इस फिल्म के बारे में क्या कहेंगी?

कहने की जरूरत नहीं कि मेरे लिए यशराज का बैनर, प्रोडक्शन हाउस घर जैसा है। ‘बैंड बाजा बारात’, ‘जब तक है जान’, ‘रब ने बना दी जोड़ी’ और ‘सुल्तान’ जैसी सफल फिल्मों के बाद फिल्म ‘सुई-धागा’ करना खुशी की बात है।

मैं इस फिल्म में ममता नाम की महिला का किरदार निभा रही हूं। वह एक गृहिणी है, जिसका पति बहुत सीधा-साधा है। ममता के पति मौजी के रोल में वरुण धवन हैं। फिल्म में मेरे श्वसुर का रोल रघुवीर यादव जैसे मंझे हुए अभिनेता ने किया है।

इसमें आपका लुक डी-ग्लैम है। आप तो ग्लैमरस रोल में खूब नजर आई हैं, फिल्म ‘सुई धागा’ के रोल के लिए क्या तैयारियां कीं?

देखिए, अब बॉलीवुड में एक्ट्रेसेस सिर्फ ग्लैमरस रोल तक ही सीमित नहीं हैं। अब एक्ट्रेसेस अपने रोल के लिए खुद को किसी भी फ्रेम में ढाल लेती हैं। मैं पहली बार डी-ग्लैम लुक या रोल नहीं कर रही हूं। मेरे प्रोडक्शन की फिल्म ‘एन एच-10’ और ‘परी’ में मेरे किरदार डी-ग्लैम ही थे। ऐसे में ‘सुई धागा’ में डी-ग्लैम रोल के लिए ज्यादा प्राब्लम नहीं आई।

सुना है कि आपने पहले इस फिल्म के लिए मना कर दिया था?

हां, फिल्म ‘सुई-धागा’ का प्रपोजल मनीष शर्मा ने जब मुझे दिया था तो समझ नहीं पा रही थी कि ममता का किरदार निभा भी पाऊंगी या नहीं। लेकिन बहुत सोचने के बाद मैंने मनीष को हामी भर दी।

आपने अपने रोल को रियल बनाने के लिए कढ़ाई, बुनाई की ट्रेनिंग भी ली है?

मेरी मां कढ़ाई, बुनाई और सिलाई में एक्सपर्ट हैं। लेकिन मुझे यह सब कुछ नहीं आता है। फिल्म ‘सुई धागा’ के लिए सिलाई, एंब्रॉयडरी सीखी। इसमें भी परफेक्शन हासिल करने के चक्कर में एंब्रॉयडरी करते-करते मेरा हाथ नीला पड़ गया।

फिल्म में वरुण धवन और सीनियर एक्टर रघुवीर यादव के साथ पहली बार एक्टिंग कर रही हैं। दोनों कलाकारों के साथ कैसा एक्सपीरियंस रहा?

वरुण धवन से किसी न किसी इवेंट में मुलाकात होती रही है। वह बहुत टैलेंटेड है, अपने रोल में पूरी तरह डूब जाता है। लेकिन रघुवीर यादव जी से मिलना, इस फिल्म की शूटिंग के दौरान हुआ। वह बेहतरीन एक्टर हैं। रघुवीर जी स्ट्रॉ से बने फ्लूट बजाना जानते हैं, सेट पर उन्होंने हमें अपना यह टैलेंट भी दिखाया।

इस फिल्म में आपने एक गृहिणी की तरह सारे काम किए, इस एक्सपीरियंस को कैसे देखती हैं?

मेरी शादी हुई और मैं ‘सुई-धागा’ की शूटिंग के लिए चंदेरी आ गई। शादी-शुदा जीवन ठीक से शुरू भी नहीं हो पाया, विराट को भी वक्त नहीं दे पाई। लेकिन ‘सुई धागा’ की शूटिंग के दौरान एक गृहिणी की तरह मैंने सारे काम किए। यह एक्सपीरियंस भी यूनीक रहा।

इस फिल्म में मेड इन इंडिया के आइडिया पर फोकस किया गया है, क्या इससे कोई बदलाव आएगा?

मेरे पापा आर्मी बैकग्राउंड से हैं। उनकी पोस्टिंग देश की अलग-अलग जगहों पर होती थी। हम जहां भी जाते थे, वहां का क्रॉफ्ट वर्क जरूर खरीदते थे। आज दुनिया को मेड इन चाइना या यूएस का लेबल लुभाता है। जबकि इंडियन हैंडीक्राफ्ट्स, एंब्रॉयडरी किसी से कम नहीं है।

चंदेरी की साड़ियां सबसे खूबसूरत होती हैं, इन्हें बनने में पचीस दिन लगते हैं, ऐसे में साड़ियां महंगी हो सकती हैं, लेकिन इनकी बराबरी कोई दूसरा मैटीरियल नहीं कर सकता है। हम फिल्म के जरिए अपने देश की आर्ट को लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं। मुझे लगता है कि इस फिल्म को देखने के बाद लोगों का नजरिया जरूर बदलेगा।

शाहरुख के साथ आप फिल्म ‘जीरो’ भी कर रही हैं, इसके बारे में कुछ बताइए?

फिल्म ‘जीरो’ की शूटिंग पूरी कर ली है, अब पोस्ट प्रोडक्शन का काम हो रहा है। इस साल के आखिर में यह फिल्म रिलीज हो जाएगी। शाहरुख के साथ फिल्म करना हमेशा ही यादगार रहा है।

Next Story
Top