Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

घर पहुंचने पर प्रवासी मजदूरों ने महानायक अमिताभ को दी दुआएं, पहली बार प्लेन में बैठने पर जताई खुशी

अमिताभ ने मुंबई में फंसे मजदूरों को उनके गंतव्य तक पहुंचाया। हवाई अड्डे से बाहर निलकने से पहले सभी मजदूरों की जांच की गई तब उन्हें बाहर जाने दिया गया।

घर पहुंचने पर प्रवासी मजदूरों ने महानायक अमिताभ को दी दुआएं, पहली बार प्लेन में बैठने पर जताई खुशी
X

बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन ने प्रवासी मजदूरों को उनके घर भेजने के लिए बुधवार को 6 चार्टर्ड प्लेन का इंतजाम किया था। जिनमें उन्होंने मुंबई में फंसे मजदूरों को उनके गंतव्य तक पहुंचाया। हवाई अड्डे से बाहर निलकने से पहले सभी मजदूरों की जांच की गई तब उन्हें बाहर जाने दिया गया।

बृहस्पतिवार को सुबह प्लेन 180 यात्रियों को लेकर लखनऊ पंहुचा। पहली दफा पलाइन का सफर करने वाले प्रवासी मजदूरों ने लखनऊ के चौधरी चरण सिंह अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरने के बाद सुकून की सांस ली। मुंबई से आए इन प्रवासियों में अधिकतर गोंडा, अंबेडकर नगर, उन्नाव के रहने वाले हैं। सभी मजदूरों और उनके परिवार वालों ने सदी के महानायक अमिताभ को दिल से शुक्रिया कहते हुए उनके खुशहाल जीवन की कामना की और खूब उन्हें आशीर्वाद दिया।

मुंबई से लखनऊ पहुंचे एक मस्जिद के इमाम अब्दुल जलील खान ने घर पहुंचने पर अपनी प्रतिकिया व्यक्त करते हुए कहा कि लॉकडाउन के बाद से ही हम परिवार समेत वहां फंसे थे। ट्रेन से के लिए रजिस्ट्रेशन भी कराया लेकिन कभी नंबर ही नही आया। जब उसे पता चला कि माहिम ट्रस्ट और हाजी अली दरगाह की तरफ से अमिताभ बच्चन साहब लोगों को घर भेजने का इंतजाम कर रहे हैं तो उन्होंने भी वहां फॉर्म भरा और अब मैं परिवार सहित अपने घर पहुंच गया हूं। मैं अमिताभ का बहुत आभारी हूं। हर नमाज में अमिताभ जी की लंबी सेहत के लिये खुदा से दुआ करूंगा।

मुंबई में ही फंसे एक दर्ज़ी इलियास ने बताया कि मुंबई में इस लॉकडाउन में खाने के इतने लाले पड़ गए थे कि जीना मुश्किल हो रहा था। ना तो खाना था ना ही ट्रेन से आने को जगह मिल रही थी। इलियास ने बताया की तब दोस्त से पता चला अमिताभ साहब के इस इंतजाम के बारे में और पहली बार हवाई जहाज में बैठ कर अपने घर पहुंचे। इलियास ने अमिताभ बच्चन को लाखों दुआएं दी और कहा कि उनकी वजह से ही मैं अपने परिवार से मिल पाया हूं। इसी तरह से कई प्रवासी मजदूरों ने अमिताभ बच्चन को तहे दिल से शक्रिया कहा और उनके लंबी उम्र की प्रार्थना की। इनमें गोंडा के तारिक सलमानी, उन्नाव के मोहम्मद जाफर, गोंडा के मोहम्मद अच्छन, गोंडा ही के आरिफ सलमानी, मौलाना इजलास आदि ने भी सुनाई। पहली बार प्लेन का सफर करके सब प्रवासी मजदूर बहुत खुश नजर आए।

आपको बता दें कि बृहस्पतिवार से पहले बुधवार को भी प्लेन मजदूरों को लेकर मुंबई से गोरखपुर और प्रयागराज के लिए निकल चुका था। आज एक और प्लेन मजदूरों को लेकर प्रयागराज पहुंच सकता है। अमिताभ बच्चन ने इससे पहले भी बस के द्वारा काफी सारे मजदूरों को उनके अपनों के पास पहुंचाया है।

Next Story
Top