Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डायरेक्टर व्यूः अमर कौशिक ने राजकुमार-श्रद्धा के लिए कही ये बात, कहा- सेट का माहौल पिकनिक बना दिया

राजकुमार राव और श्रद्धा कपूर स्टारर फिल्म ‘स्त्री’ ने बॉक्स ऑफिस पर 200 करोड़ का कलेक्शन कर लिया है। बेहतरीन कहानी की वजह से यह फिल्म दर्शकों को खूब भा रही है।

डायरेक्टर व्यूः अमर कौशिक ने राजकुमार-श्रद्धा के लिए कही ये बात, कहा- सेट का माहौल पिकनिक बना दिया

राजकुमार राव और श्रद्धा कपूर स्टारर फिल्म ‘स्त्री’ ने बॉक्स ऑफिस पर 200 करोड़ का कलेक्शन कर लिया है। बेहतरीन कहानी की वजह से यह फिल्म दर्शकों को खूब भा रही है। इस फिल्म को अच्छा रेस्पॉन्स मिलेगा, यह तो प्रोड्यूसर दिनेश विजन और डायरेक्टर अमर कौशिक को पता था।

लेकिन ‘स्त्री’ का जादू दर्शकों के सिर चढ़कर बोलेगा, इसका अंदाजा उनको भी नहीं था। फिल्म ‘स्त्री’ की सफलता और अपनी जर्नी से जुड़ी बातें शेयर कर रहे हैं डायरेक्टर अमर कौशिक।

सोचा नहीं था इतनी सफलता मिलेगी

फिल्म ‘स्त्री’ बतौर डायरेक्टर मेरी डेब्यू फिल्म है। पहली फिल्म की सफलता ही एक डायरेक्टर के लिए आगे के रास्ते खोलती है। मुझे और प्रोड्यूसर दिनेश विजन जी को भरोसा था कि फिल्म ‘स्त्री’ की कहानी दर्शकों को पसंद आएगी।

लेकिन यह फिल्म 200 करोड़ क्लब में शामिल होगी, यह किसी ने नहीं सोचा था। इस फिल्म की सफलता से मेरा उत्साह बढ़ गया है। अभी तो मैं इस सफलता को एंज्वॉय कर रहा हूं। आगे की प्लानिंग कुछ समय बाद करूंगा।

ऐसे आया था फिल्म का आइडिया

बचपन से हम सभी ने भूत-प्रेतों की कहानियां सुनी हैं। उन्हें सुनकर डर भी लगता था और मनोरंजन भी होता था। कई प्रेत कथाएं भी गांवों में सुनने को मिलती हैं। इनमें मिस्ट्री एलीमेंट होता है।

हमने भी एक जगह के बारे में सुना था कि वहां मर्द, सुरक्षित नहीं हैं, कुछ तो अजीब होता है, उस जगह पर। इसके बाद हमने अपनी टीम के साथ मिलकर एक फिक्शनल स्टोरी तैयार की। लेकिन हमने किसी भी व्यक्ति या किसी के विश्वासों का फिल्म में मजाक नहीं उड़ाया है।

अंधविश्वास को बढ़ावा नहीं दिया

कुछ लोग कह रहे हैं कि फिल्म के जरिए अंधविश्वास और भूत-प्रेत जैसी बातों को बढ़ावा मिलेगा। लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है। हमारी फिल्म का सब्जेक्ट हॉरर, रॉम-कॉम है। इसे देखकर दर्शकों ने खूब एंज्वॉय किया।

हॉरर कॉमेडी दुनिया भर में मनोरंजन का बड़ा जरिया है। हमने भी एंटरटेनमेंट के मकसद से फिल्म बनाई। ऐसे में हमने ‘स्त्री’ के जरिए किसी अंधविश्वास को बढ़ावा नहीं दिया है, ऐसा कभी करेंगे भी नहीं।

श्रद्धा कपूर-राजकुमार राव का हमेशा थैंकफुल रहूंगा

मैं थैंकफुल हूं कि श्रद्धा कपूर, राजकुमार राव जैसे बड़े एक्टर्स ने मुझे बहुत सपोर्ट किया। उन्होंने चंदेरी (मध्य प्रदेश) गांव में शूटिंग के दौरान बहुत एडजस्ट किया। वहां इतनी आसानी से शूटिंग हुई, ऐसा लगा कि हम पिकनिक मना रहे हैं। श्र

द्धा लोगों को सीरियस दिखती हैं, लेकिन वह वैसी हैं नहीं। मेरी मुलाकात श्रद्धा से एक फ्लाइट में हुई थी। उसी समय मैंने फिल्म ‘स्त्री’ की कहानी सुनाई। श्रद्धा ने कहानी सुनने के बाद कहा कि वह अपनी डेट्स इस फिल्म के लिए एडजस्ट कर लेंगी।

राजकुमार राव को भी मैंने कई फिल्म फेस्टिवल्स में देखा था, वह बहुत विनम्र एक्टर हैं। उनसे फिल्म के बारे में बात की तो वह मान गए। मेरा मानना है कि श्रद्धा और राजकुमार राव की वजह से ‘स्त्री’ फिल्म में चार चांद लगे।

ऐसे बना डायरेक्टर

मेरे पिताजी अरुणाचल प्रदेश में फॉरेस्ट डिपार्टमेंट में काम करते थे, उनकी वहां अपनी अलग पहचान थी। पिताजी और मां चाहते थे कि मैं भी जिंदगी में कुछ अच्छा करूं। डॉक्टर, इंजीनियर या वकील बन जाऊं।

लेकिन मैं यह सब नहीं करना चाहता था। पहले सोचा था कि एयरफोर्स में जाना है, लेकिन वहां भी बात नहीं बनी। फिल्म जर्नलिज्म की फील्ड में आ गया। चूंकि फिल्मों का भी शौक था तो मुंबई आ गया।

सागर फिल्म वाले फिल्म ‘आमिर’ बना रहे थे, मैंने इस फिल्म में एक्टिंग की थी, बाद में इस प्रोडक्शन हाउस में बतौर असिस्टेंट डायरेक्टर काम किया। जब ‘स्त्री’ के डायरेक्शन की जिम्मेदारी मिली तो लगा कि खुद को साबित करना है और ऐसा मैंने करके भी दिखाया।’

Next Story
Top