भारत

अब गर्भवती महिलाओं को मिलेगी 26 हफ्ते की छुट्टी, राज्यसभा में पास हुआ 'मातृत्व लाभ विधेयक'

By haribhoomi.com | Mar 20, 2017 |
maternity
नई दिल्ली. राज्यसभा ने सोमवार को मातृत्व लाभ (मैटरनिटी लीव) (संशोधन) विधेयक, 2016 पारित कर दिया। इस विधेयक के तहत मातृत्व अवकाश अब 12 सप्ताह से बढ़ाकर 26 सप्ताह किए जाने को प्रस्तावित करता है। विधेयक पिछले साल 11 अगस्त को भी राज्यसभा से पारित किया गया था। 
 
उपसभापति पीजे कुरियन ने कहा कि विधेयक संसद के दोनों सदनों से पहले ही पारित हो चुका था। केवल एक 'तकनीकी संशोधन' की वजह से इसे दोबारा उच्च सदन में लाया गया। इसके बाद विधेयक को ध्वनिमत से पारित कर दिया गया। 
 
मातृत्व लाभ (संशोधन) विधेयक, 2016 उन महिलाओं को भी 12 सप्ताह का अवकाश प्रदान करता है, जो तीन माह से कम उम्र के बच्चों को गोद लेती हैं या सरोगेसी से जन्म लेने वाले बच्चों का लालन-पालन करती हैं। 
 
ऐसे मामलों में मातृत्व अवकाश की अवधि उस दिन से जोड़ी जाएगी, जिस दिन बच्चे को गोद लेने वाली मां को सौंपा जाएगा। यह विधेयक अंतरार्ष्ट्रीय श्रम संगठन के कन्वेंशन 183 के अनुमोदन का मार्ग प्रशस्त करता है, जो महिलाओं के लिए 14 सप्ताह के मातृत्व अवकाश का प्रावधान करता है। 
 
यह बच्चों का लालन-पालन करने वाली मांओं के लिए 'घर से काम' की सुविधा भी प्रदान करता है। साथ ही उन प्रतिष्ठानों में शिशु-सदन (क्रेच) सुविधा की व्यवस्था किए जाने को भी आवश्यक बनाता है। 
 
मातृत्व लाभ (संशोधन) विधेयक, 2016 उन महिलाओं को भी 12 सप्ताह का अवकाश प्रदान करता है, जो तीन माह से कम उम्र के बच्चों को गोद लेती हैं या सरोगेसी से जन्म लेने वाले बच्चों का लालन-पालन करती हैं।
 
बनाने होंगे शिशुगृह
यह कानून अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन के मानकों का भी पालन कर पाएगा, जिसमें एक मां के लिए 14 हफ्ते का मातृत्व अवकाश जरूरी बताया गया है। जिन स्थानों में 50 या इससे ज्यादा महिलाएं काम करती हैं वहां शिशुगृह (बच्चों की देखभाल के लिए बनाया गया स्थान) भी अनिवार्य किए जाएंगे।
 
घर से कर सकेंगी गाम
संशोधित कानून में यह प्रावधान भी रखा गया है कि मातृत्व अवकाश खत्म होने के बाद भी विशेष परिस्थितियों में कामकाजी माताओं को घर से काम करने की सुविधा दी जाएगी।
 
 
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • RGLFC
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें, bharat defence kavach ek upyogi portal hai. हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।
    Haribhoomi
    Haribhoomi on Social Media
    ऐसा झटका, कहीं अपना मानसिक संतुलन न खो दें गोविंदा

    ऐसा झटका, कहीं अपना मानसिक संतुलन न खो ...

    फिल्म का बजट 22 करोड़ था लेकिन फिल्म ने दो दिनों में 50 लाख का कलेक्शन किया है।

    सिंगर अभिजीत ने कहा- तीनों खान हैं देशद्रोही, फिल्मों में बजावा रहे हैं मौला-मौला

    सिंगर अभिजीत ने कहा- तीनों खान हैं ...

    अभिजीत ने आगे कहा कि शिरीष जान बूझकर सिर्फ हिन्दुओं को ही टार्गेट करते हैं।

    अनुष्का शर्मा की फिल्म 'फिल्लौरी' सिनेमाघरों में हुई सुस्त, जानिए कितने कमाए

    अनुष्का शर्मा की फिल्म 'फिल्लौरी' ...

    फिल्लौरी एक रोमांटिक कॉमेडी फिल्म है जिसमें अनुष्का एक फ्रेंडली भूत बनी हैं।