Breaking News
Top

'ठुमरी क्वीन' गिरिजा देवी का निधन, संगीत जगत में शोक की लहर

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Oct 25 2017 3:53AM IST
'ठुमरी क्वीन' गिरिजा देवी का निधन, संगीत जगत में शोक की लहर

जानीमानी भारतीय शास्त्रीय गायिका गिरिजा देवी का 88 वर्ष की उम्र में दिल का दौरा पड़ने से कोलकाता में निधन हो गया। सेनिया और बनारस घराने से संबंध रखने वाली गिरिजा देवी 'ठुमरी क्वीन' के नाम से मशहूर थीं। 

बता दें कि लंबे समय से गिरिजा देवी बीमार चल रही थी जिस कारण उन्हें कोलकाता के बीएम बिड़ला नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया था। मंगलवार रात को करीब नौ बजे दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया। 

संगीत और कला जगत से जुड़ी कई जानीमानी हस्तियों ने गिरिजा देवी के निधन पर शोक जताते हुए भारतीय शास्त्रीय संगीत के लिए इसे एक बड़ी क्षति बताया है।  

जावेद अख्तर ने ट्वीट कर कहा, गिरिजा देवी के निधन के साथ एक युग का अंत हुआ है। अब ऐसे लोग नहीं होंगे। गिरिजा जी, मेरा आपको सलाम।

जावेद अख्तर के अलावा पीएम मोदी ने गिरिजा देवी के निधन पर दुख जताते हुए ट्वीट किया, गिरिजा देवी का संगीत हर पीढ़ी को आकर्षित करता था। भारतीय शास्त्रीय संगीत को लोकप्रिय बनाने के लिए उनकी कोशिशें हमेशा हमारी यादों में रहेंगी। 

8 मई 1929 को बनारस में जन्मी गिरिजा देवी ने ख़्याल और टप्पा गायकी में अपनी एक अलग पहचान बहुत कम उम्र में ही बना ली थी। भारत सरकार ने उन्हें पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया था।

गिरिजा देवी को 1972 में पद्मश्री, 1977 में संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार, 1989 में पद्मभूषण, 2010 में संगीत नाटक अकादमी फेलोशिप, 2012 में महा संगीत सम्मान, 2012 में GIMA पुरस्कार (लाइफटाइम अचीवमेंट) और 2016 में पद्म विभूषण अवार्ड मिल चुके हैं।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
thumri queen girija devi is no more

-Tags:#Girija Devi#Classical Music#Girija Devi Is No More
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo